Home मध्य प्रदेश बेरहम सूदखोर: पासबुक रखने के लिए 15 हजार रुपये दिए, चार महीने...

बेरहम सूदखोर: पासबुक रखने के लिए 15 हजार रुपये दिए, चार महीने तक दो-दो हजार वसूलता रहा, फिर 30 हजार रुपये भी मांगे गए।


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जबलपुर2 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

सूदखोरों के जाल में फंसी महिला ने खमरिया थाने में शिकायत दर्ज कराई। अब आरोपी जेल में है।

  • खमरिया थाने की घटना, पीड़िता ने दर्ज कराई शिकायत
  • आरोपी को खमरिया पुलिस ने घर से दबोचा, पासबुक दूर

उधारी में 15 हजार रुपए देने वाले सूदखोर ने एक महिला से आठ हजार रुपए वसूल लिए। इसके बाद भी वह 30 हजार रुपए और मांग रहा है। आरोपी ने पीड़िता की पासबुक भी अपने पास रख ली और अब कागजों पर अंगूठा लगाने का दबाव बना रहा है। मना करने पर आरोपी ने पीड़िता को पासबुक देने से मना कर दिया। महिला की शिकायत पर खमरिया पुलिस ने केस दर्ज कर जांच में लिया है।
जानकारी के अनुसार मनमोहन नगर रांझी निवासी शक्तिुन कोल कोल पेंशनर हैं। चार महीने पहले उन्होंने पैसों की जरूरत पर नई बस्ती रांझी निवासी विकास सोनकर से खमरिया वैस्ट लैंड बैंक ऑफ इंडिया के सामने 15 हजार रुपये पांच प्रतिशत ब्याज पर लिए थे। गिरवी के तौर पर विकास ने उनकी पासबुक रख ली थी।
30 हजार रुपए एक साथ मांगने लगा
तीन जनवरी को वह बैंक में पेंशन निकालने गई तो विकास सोनकर भी वहां पहुंच गया। उन्होंने मूलधन और ब्याज के एवज में 30 हजार रुपये की मांग की। शकुन बाई ने हालात का हवाला दिया और एक साथ कई रुपए न लौटा पाने की मजबूरी बताई, फिर भी विकास नहीं माना। उसने विवाद करते हुए शकुन बाई से कहा कि कागजों पर अंगूठा लगा दो, पैसे बाद में दे दो।
अंगूठा नहीं लगाना परिनियोजित करके चला गया
महिला ने अंगूठा लगाने से मना किया तो उसने धमकी दी कि वह पासबुक नहीं देगी। इसके बाद शकुन बाई थाने पहुंची और विकास सोनकर के खिलाफ केस दर्ज कराया गया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments