Home उत्तर प्रदेश भगवान राम को पार लगाने वाले निषाद समाज के साथ भाजपा सरकार...

भगवान राम को पार लगाने वाले निषाद समाज के साथ भाजपा सरकार है


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* केवल ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनना

घूरपुर के बसवार में पिछले दिनों निषाद समुदाय के लोगों के साथ हुए अन्याय के बाद उनके आंसू पोछने के लिए शनिवार को योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और प्रयागराज की सांसद डाॅ। रीता बहुगुणा जोशी पहुंचीं। यहाँ उन्होंने नौमुआ को मरम्मत करने के बाद नौ दिन सौंपी। शेष सात बोयों को भी जल्द ही सौंपपे जाने की बात कही। इस दौरान सिद्धार्थ नाथ ने कहा कि भगवान राम को पार लगाने वाले निषाद समाज के साथ केंद्र की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार खड़ी है।

निषाद समस्या समाधान समारोह में पार्टी के वरिष्ठ नेता पीयूष रंजन निषाद की मौजूदगी में सिद्धार्थ नाथ ने आरोप लगाया कि पूर्व की कांग्रेस सरकार द्वारा बनाए गए एनजीटी की वजह से निषाद समाज के समक्ष रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया। आज वही कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी पिछले दिनों यहां सिर्फ ड्रामा करने को पहुंची। कहा कि निषाद समाज को न्याय दिलाने के लिए सबसे पहले एनजीटी के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटटाटाया।

उन्होंने पिछले दिनों हुई घटना के बाद सरकार द्वारा की गई कार्रवाई का ब्योरा भी दिया। कहा कि बसवार गांव के निषादों के साथ अमानवीय व्यवहार करने वाले पुलिस कर्मचारियों को तत्काल लाइन जारी किया जाए। सरकार इस पूरे प्रकरण की न्यायिक जांच भी करवा रही है। जो भी अफसर या कोई अन्य दोषी होगा उसे सरकार नहीं बख्शेगी। निषाद समाज के सभी गरीबों को सरकार स्वास्थ्य बीमा का लाभ देगी।

इस दौरान शिपिंग मंत्री निषाद समाज के लोगों को मत्स्य पालन के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में भी बताया गया। कहा कि बसवार गांव जाने वाली सड़क का निर्माण भी जल्द शुरू होगा। इस संबंध में पीडब्लूडी के अफसरों को निर्देश दे दिए गए हैं। इसके अलावा निषाद समाज के खिलाफ दर्ज हुए गैंगस्टर के मुकदमे की जांच द्वारा वापस लेने की प्रकिया शुरू हो गई है। अवैध खनन में सक्रिय बालू माफिया की सूची तैयार करके शासन को भेजा जाएगा, ताकि ऐसे लोगों के खिलाफ सरकार कड़ी कार्रवाई कर सके।

घूरपुर के बसवार में पिछले दिनों निषाद समुदाय के लोगों के साथ हुए अन्याय के बाद उनके आंसू पोछने के लिए शनिवार को योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और प्रयागराज की सांसद डाॅ। रीता बहुगुणा जोशी पहुंचीं। यहां उन्होंने नौमुआ को सौंपने के बाद मरम्मत की। शेष सात नावों को भी जल्द ही सौंपपे जाने की बात कही। इस दौरान सिद्धार्थ नाथ ने कहा कि भगवान राम को पार लगाने वाले निषाद समाज के साथ केंद्र की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार खड़ी है।

निषाद समस्या समाधान समारोह में पार्टी के वरिष्ठ नेता पीयूष रंजन निषाद की मौजूदगी में सिद्धार्थ नाथ ने आरोप लगाया कि पूर्व की कांग्रेस सरकार द्वारा बनाए गए एनजीटी की वजह से निषाद समाज के समक्ष रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया। आज वही कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी पिछले दिनों यहां सिर्फ ड्रामा करने को पहुंची। कहा कि निषाद समाज को न्याय दिलाने के लिए सबसे पहले एनजीटी के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटटाटाया।

उन्होंने पिछले दिनों हुई घटना के बाद सरकार द्वारा की गई कार्रवाई का ब्योरा भी दिया। कहा कि बसवार गांव के निषादों के साथ अमानवीय व्यवहार करने वाले पुलिस कर्मचारियों को तत्काल लाइन जारी किया जाए। सरकार इस पूरे प्रकरण की न्यायिक जांच भी करवा रही है। जो भी अफसर या कोई अन्य दोषी होगा उसे सरकार नहीं बख्शेगी। निषाद समाज के सभी गरीबों को सरकार स्वास्थ्य बीमा का लाभ देगी।

इस दौरान शिपिंग मंत्री निषाद समाज के लोगों को मत्स्य पालन के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में भी बताया गया। कहा कि बसवार गांव जाने वाली सड़क का निर्माण भी जल्द शुरू होगा। इस संबंध में पीडब्लूडी के अफसरों को निर्देश दे दिए गए हैं। इसके अलावा निषाद समाज के खिलाफ दर्ज हुए गैंगस्टर के मुकदमे की जांच द्वारा वापस लेने की प्रकिया शुरू हो गई है। अवैध खनन में सक्रिय बालू माफिया की सूची तैयार करके शासन को भेजा जाएगा, ताकि ऐसे लोगों के खिलाफ सरकार कड़ी कार्रवाई कर सके।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments