Home देश की ख़बरें भगवान राम को लेकर भाजपा सांसद ने भरी सभा में यह कहा...

भगवान राम को लेकर भाजपा सांसद ने भरी सभा में यह कहा कि यह बड़ी बात है, मुसलमानों ने भी शुरू कर दिया चंदा


लखनऊ। अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर (भगवान राम का मंदिर) निर्माण के लिए मुस्लिम समाज (मुस्लिम समाज) के लोग भी दान देने में किसी से पीछे नहीं हैं। दरअसल, रविवार को उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के हुजूरपुर में राम मंदिर के निधिप्रिंटन का एक कार्यक्रम था। ऐसा होना यह था कि स्थानीय लोगों ने राम मंदिर निर्माण के लिए जो चंदा एकत्र किया था, उसे राम मंदिर निर्माण में लगे लोगों को राष्ट्रपति जाना था। इसी कार्यक्रम में कैसरगंज से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लोकसभा सांसद बृजभूषण शरण सिंह (बृजभूषण शरण सिंह) भी बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने पहुंचे। जब इस कार्यक्रम को उन्होंने संबोधित करना शुरू किया तो उन्होंने कहा, ‘आज के कुछ शताब्दी पहले जब विदेशी आक्रांताओं ने हमारे देश पर और हमारे क्षेत्र पर हमले किए तो बड़ी संख्या में हमारे पूर्वजों का धर्म परिवर्तन किया। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में मुस्लिम समाज के जो लोग हैं और जो हिंदू समाज के लोग हैं, ये दोनों वर्गों के पुरखे मर्यादा पुरुषोतम भगवान राम ही थे। आज जब हमारे पूर्वज के भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है तो क्या इसमें दोनों वर्गों को अपनी भूमिका का निर्वहन दान नहीं देना चाहिए? ‘ यह कहता है कि केवल मुस्लिम समाज के 50 लोगों से ज्यादा लोगों ने दान दिया।

राम मंदिर के निर्माण में मुस्लिम समाज के लोग भी आ रहे हैं
बता दें कि इस सभा में आस-पास के क्षेत्रों से भी बड़ी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग आए थे। सातवीं बार लोकसभा सांसद बने बृजभूषण शरण सिंह ने जब कहा कि दोनों समाज के प्राचे एक ही थे। यह कहने भर की देर थी कि मुस्लिम समाज के लोग मंच पर आकर दान देना शुरू कर दें। कुछ ही मिनटों में मुस्लिम समाज के 50 से अधिक लोगों ने अपने आर्थिक सामर्थ्य के हिसाब से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में दान देने का काम किया। इस कार्यक्रम में शामिल लोगों का कहना है कि कार्यक्रम की समाप्ति होने तक ऐसे लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मुस्लिम समाज से जिन लोगों ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए दान दिया, उनमें साद मोहम्मद, नासिर खान, शकील अहमद, इलियास अहमद, मोहम्मद अली, अफजल अहमद और सलीम हैदर के साथ स्थानीय लोग भी शामिल थे। चंद मिनटों में लाखों रुपये के राम मंदिर निर्माण में जुट गए।

बीजेपी सांसद के कहने पर कई मुस्लिमों ने राम मंदिर के लिए दान दिया।

सांसद ने कही यह बड़ी बात थी

जब इस आधुनिक पहल के बारे में न्यूज 18 ने बृजभूषण शरण सिंह से बात की तो उन्होंने कहा, ‘यह तो एक तथ्य है कि अतीत में बड़े पैमाने पर धर्मांतरण हुए हैं। अयोध्या, गोंडा, बलरामपुर, बहराइच और श्रावस्ती का जो क्षेत्र है, इस क्षेत्र में भी बड़े पैमाने पर लोगों को धर्म परिवर्तन के लिए मुस्लिम आक्रांताओं ने बाध्य किया है। इस क्षेत्र के हिंदू समाज के लोग और उसमें भी क्षत्रिय समाज के लोग तो खास तौर पर खुद को भगवान राम का वंशज मानते हैं। लेकिन, जिन लोगों का धर्मांतरण हुआ, वे भी तब हिंदू ही थे और जब वे हिंदू थे तो उनके पूर्वज भी भगवान राम हुए। मैंने उसी बातों को उस कार्यक्रम में कहा था और उसके बाद खुद मुस्लिम समाज के लोग एक-एक करके आने लगे और राम मंदिर निर्माण में दान देकर अपनी भी भागीदारी सुनिश्चित करने लगे। ‘

इस इलाके में बड़े पैमाने पर धर्मांतरण हुआ-एमपी था
सिंह आगे कहते हैं, ‘इतिहास की पुस्तकों को पढ़ने से यह स्पष्ट रूप से पता चलता है कि जब विदेशी मुस्लिम शासकों का हमला होता था तो उस समय स्थानीय हिंदू समाज के लोगों के सामने तीन ही रास्ते होते थे। पहले तो ऐसा होता था कि लड़ते हुए मर जाते थे या अपने शौर्य से बच जाते थे। दूसरा होता था कि पलायन कर जाना। वहीं तीसरा रास्ता यह था कि धर्मांतरण कर लें और जहां रहें, वहां हिंदू की जगह मुस्लिम बनकर रहें। जो भी लोग तीसरे रास्ते को चुनने के लिए मजबूर किए गए थे, अगर उनके अतीत में जाएं तो वे तो मूल रूप से हिंदू ही थे। इसलिए ऐसा कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि इस क्षेत्र के हिंदू और मुस्लिम समाज के लोग एक ही पूर्वज की संताने हैं। ‘

मुस्लिम समाज, भगवान राम का भव्य मंदिर, अयोध्या, राम मंदिर, बहराइच, उत्तर प्रदेश, भारतीय जनता पार्टी, कैसरगंज, बृजभूषण शरण सिंह, यूपी समाचार, राम मंदिर समाचार, राम मंदिर ताज़ा अपडेट, राम मंदिर ताज़ा ख़बर, अयोध्या समचार, अयोध्या समाचार अयोध्या, भगवान राम का भव्य मंदिर, मुस्लिम समाज, मुसलमानों ने दान, उत्तर प्रदेश, बहराइच, राम मंदिर के निधि, राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा, कैसरगंज, भारतीय जनता पार्टी, बीजेपी, सांसद, बृजभूषण शरण सिंह, मुस्लिम समाज के 50 से ज्यादा लोगों ने दान, हिंदू और मुस्लिमों के पूर्वज एक थे, राम मंदिर लेटेस्ट न्‍यूज, यूपी न्‍यूज, अयोध्‍यालिटी, अयोध्‍या न्‍यूज,

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर हिंदू और मुस्लिम समाज के लोग एक-दूसरे के आमने-सामने हुए थे।

मुस्लिम समाज के इस पहल का क्या असर होगा?
इसके प्रभाव के बारे में पूछे जाने पर बृजभूषण शरण सिंह कहते हैं, ‘देखिए तो इतना तय है कि इससे सामाजिक समरसता बढ़ेगी। समाज में आपसी भाईचारा बढ़ेगा और कई बार जो अविश्वास का माहौल बनाने की कोशिश कुछ लोगों द्वारा होती है, उस प्रवृत्ति पर रोक लगेगी। मुझे उम्मीद है कि यह पहल सामाजिक समरसता की एक नई लकीर खींचने में कामयाब होगी। ‘

ये भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना टीकाकरण: दिल्ली में कोरोना के केक के लिए अब चुकाने के लिए इतने रुपये होंगे, इन स्थानों पर छूट मिलेगी

गौरतलब है कि वह दौर बहुत पुराना नहीं है जब अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर हिंदू और मुस्लिम समाज के लोग एक-दूसरे के आमने-सामने थे। दोनों धर्मों के लोगों के बीच इस मुद्दे पर संघर्ष सिर्फ अदालतों में नहीं हुआ बल्कि सड़कों पर और सामाजिक स्तर पर भी यह संघर्ष चला गया। कहना गलत नहीं होगा कि राम मंदिर को लेकर विवाद खत्म हो गया है। लेकिन, अब इस इलाके की पूरे देश की स्थितियां बदल रही हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments