Home खेल जगत भारत की तुलना 90 की ऑस्ट्रेलियाई टीम से: पूर्व इंग्लिश तेज गेंदबाज...

भारत की तुलना 90 की ऑस्ट्रेलियाई टीम से: पूर्व इंग्लिश तेज गेंदबाज डैरेन गॉफ बोले- विराट की टीम इंडिया सिर्फ जीतना जानती है


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अहमदाबाद12 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

गॉफ ने इंग्लैंड के लिए 58 टेस्ट और 159 वनडे खेले थे। टेस्ट में उन्होंने 229 विकेट और ओवरडे में 235 विकेट लिए थे। (फाइल फोटो)

इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज डैरेन गॉफ ने टीम इंडिया की तुलना 1990 के दशक की ऑस्ट्रेलियाई टीम से की है। उन्होंने कहा कि विराट कोहली की टीम की मानसिकता मार्क टेलर और स्टीव वॉ के ऑस्ट्रेलियाई टीम जैसी है, जो सिर्फ जीतना जानती है। भारत ने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में 2-1 से कंप्यूटर था। इसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ भी घरेलू सीरीज में 2-1 की बढ़त ले ली है।

मार्क टेलर ने 1994 से लेकर 1998 तक ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी की थी। उनकी कप्तानी में टीम ने 50 में से 26 टेस्ट में जीत दर्ज की थी। वहीं, स्टीव डब्ल्यू 1998 में कप्तान बने थे। उनकी कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने 57 में से 41 टेस्ट जीते थे।

ईसीबी टेस्ट से ज्यादा लिमिटेड ओवर क्रिकेट को तरजीह दे रहा है
गॉफ ने कहा कि 2 हार के बाद इंग्लैंड टीम की स्थिति दयनीय है। उन्होंने कहा कि लगातार 2 हार से उनकी उम्मीदों को झटका लगा है। इंग्लैंड के लिए वापसी करना अब आसान नहीं होगा। कुछ इंग्लिश प्लेयर्स तो हार के बाद काफी दुखी हैं। 50 साल के गॉफ ने कहा कि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के अधिकारी टेस्ट से ज्यादा लिमिटेड ओवर क्रिकेट को तवज्जो होने वाले हैं। इसलिए उन्होंने रोटेशन पॉलिसी का इस्तेमाल किया।

बोर्ड वनडे और टी -20 सीरीज के लिए खिलाड़ियों को फिट रखा जा रहा है
गॉफ ने कहा कि जो रूट के लिए मेरी हमदर्दी है, क्योंकि वे इस टीम के लिए कुछ अच्छा करना चाहते थे। हालांकि, इयोन मॉर्गन को उनके ऊपर तरजीह दी गई। बोर्ड वनडे और टी -20 सीरीज के लिए टीम को फिट रखने की कोशिश कर रही है।

सीमित ओवर में नए खिलाड़ियों को मिलने का मौका मिलना चाहिए था
गॉफ न ने कहा कि हम निश्चित रूप से टी -20 विश्व कप की तैयारियों कर रहे हैं। पर हमारे मुख्य खिलाड़ी अब सभी फॉर्मेट में ढल चुके हैं। उन्हें सभी वनडे और टी -20 मैच खेलने की जरूरत नहीं है। टी -20 सीरीज के लिए तो हमें नए खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए था। हम यह देखते हैं कि कौन सा खिलाड़ी मेन टीम में आने को तैयार है।

बस्ट प्लेयर्स को मौका देना, तो रिजल्ट कुछ और होता है
गॉफ ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि इंग्लिश टीम 2-2 से सीरीज ड्रॉ कराने में कामयाब होगी। हमारे लिए अब यह केवल एक रिजल्ट है। हालांकि, मुझे लगता है कि हमने एक चांस मिस किया था। अगर हम अपने बाइनरी प्लेयर्स को मौका देते हैं, तो रिजल्ट कुछ और हो सकता है।

गॉफ ने 58 टेस्ट और 159 ओवर खेले
गॉफ ने इंग्लैंड के लिए 58 टेस्ट और 159 वनडे खेले थे। टेस्ट में उन्होंने 229 विकेट और ओवरडे में 235 विकेट लिए थे। वे 2 टी -20 भी खेल चुके हैं, जिसमें उन्होंने 3 विकेट लिए हैं। उन्होंने 2006 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था।

भारत ने इंग्लैंड की टेस्ट सीरीज में 2-1 की बढ़त ली
भारत और इंग्लैंड के बीच 4 टेस्ट की सीरीज में वर्तमान में 2-1 से आगे है। पहले टेस्ट में इंग्लिश टीम ने 227 रन से जीत दर्ज की थी। वहीं, दूसरे टेस्ट में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को 317 रनों से हरा दिया था। मोटेरा में खेले गए तीसरे टेस्ट में भारत ने 10 विकेट से जीत दर्ज की। यह डे-नाइट टेस्ट 2 दिन में खत्म हो गया। अंतिम टेस्ट 4 मार्च से मोटेरा में ही खेला जाएगा।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments