Home फ़िल्मी दुनिया भास्कर इंटरव्यू: दिवंगत भाई को याद कर इमोशनल हुए साजिद खान, बोले-...

भास्कर इंटरव्यू: दिवंगत भाई को याद कर इमोशनल हुए साजिद खान, बोले- अकेले पड़ गए हैं, सलमान कभी-कभी वाजिद की कमी पूरी कर देते हैं।

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 मिनट पहलेलेखक: किरण जैन

म्यूजिक कंपोजर साजिद खान रियलिटी शो ‘इंडियन प्रो म्यूजिक लीग’ में बतौर कप्तान नजर आ रहे हैं। दैनिक भास्कर से बातचीत में साजिद ने शो से जुड़ी कुछ खास बातें शेयर की। इस दौरान उन्होंने अपने दिव्यांग भाई वाजिद खान को भी याद किया। इस दौरान इमोशनल हुए साजिद ने बताया कि पिता और भाई को चुनने के बाद वे एकदम अकेले पड़ गए हैं। लेकिन सुपरस्टार सलमान खान कभी-कभी वाजिद की कमी पूरी कर देते हैं।

‘सलमान खान मेरे लिए कभी-कभी वाजिद बन जाते हैं’

सलमान खान हमारी सबसे बड़ी प्रेरणा-स्रोत है। उनके साथ काम करने में काफी मजा आता है। उनकी बस एक डिमांड होती है कि हमारे पिछले किसी भी काम को दोहराना न किया जाए। वे खुद भी बहुत एक्सपेरिमेंटल हैं और लोगों को भी एक्सपेरिमेंट करने का हौसला देते हैं। दूसरी बात ये है कि वे कभी म्यूजिक सिलेक्ट करने में कब नहीं लगाते। कई बार ऐसा होता है कि गाने की चार लाइन भी बाहर नहीं आतीं और वे उसे हिट करार दे देते हैं। मुझे याद नहीं कि कभी मुलाकात में उन्होंने पूरा गाना सुना हो? अब जब वाजिद नहीं रहे तो वे मेरे लिए कभी-कभी वाजिद बन जाते हैं। उनकी कमी पूरी करते हैं। वाजिद के जाने के बाद सलमान मेरे लिए ज्यादा प्रोटेक्टिव हो गए हैं।

‘सलमान की राधे और अंतिम में भी हमारा ही म्यूजिक है’

सलमान खान की ‘राधे: योर मोस्टटेड भी’, ‘फाइनल: द फाइनल ट्रुथ’ में भी हमारा ही म्यूजिक है। सलमान भाई के साथ काफी सालों से काम कर रहे हैं और हम दोनों मुसलमानों की हमेशा देर से आगे चलने की कोशिश कर रहे हैं। हमने अपने सुपरहिट गाने को फिर से उसी तरह बनाने की कोशिश कभी नहीं की। मुझे डीजे कहते हैं कि वे हमारे गानों को रीमिक्स नहीं कर पाते हैं। ये अपने आप में एक अचीवमेंट है।

‘ये शो अब तक के हर रियलिटी शो से एक कदम अलग’

अब तक कई रियलिटी शो का हिस्सा रह चुका हूं। हालांकि, ये मेरे दिल के बहुत करीब हैं। मेरे भाई वाजिद के भी बहुत करीब थे। बहुत मेहनत की है। हर भावना पर ध्यान दिया गया है। फिर चाहे वह कंटेस्टेंट्स की ग्रूमिंग हो या स्टेज पर लाइटिंग। मुझे लगता है कि ये शो अब तक के हर रियलिटी शो से एक कदम अलग है। रियलिटी शो नए टैलेंट्स के लिए फायदेमंद ही साबित हुए हैं। मुझे लगता है कि ‘इंडियन प्रो म्यूजिक लीग’ एक एडवांस्ड शो है, जो लोगों को जरूर पसंद करेगा।

‘पिता और भाई के जाने के बाद अकेले पड़ गए’

शो में मेरा बहुत छोटा है, लेकिन इम्पोर्टेन्ट रोल है। कई सारे प्रोफेशनल सिंगर्स के साथ मिलकर गाने में बहुत डर भी लग रहा है। करियर में मैंने अब तक कई गानों पर बतौर म्यूजिक डायरेक्टर काम किया है। उस दौरान वाजिद बतौर सिंगर शामिल थे। हालाँकि, अब मुझे गाना है। उम्मीद करता हूं कि आडियंस को ठीक तरह से सुनाई दूं। मेरे पिता उस्ताद शराफत अली खान साहब और भाई वाजिद हमेशा कहते थे कि हर उम्र में हमें सीखना है। ये मेरी अलग किस्म की पढ़ाई शुरू हो गई हैं, जहां मेरे पिता और भाई दोनों साथ ही नहीं हैं। अकेला पड़ गया।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments