Home फ़िल्मी दुनिया भास्कर इंटरव्यू: 'रसोड़े में कौन था' फेम यशराज मुखाते बोले- एक सोशल...

भास्कर इंटरव्यू: ‘रसोड़े में कौन था’ फेम यशराज मुखाते बोले- एक सोशल मीडिया पेज से आया डायलॉग पर म्यूजिक बनाने का आइडिया

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

24 मिनट पहलेलेखक: ज्योति शर्मा

‘रसोड़े में कौन था’ फेम यशराज मुखाते एक ऐसे यूट्यूबर हैं, जो अपने अलग तरह के म्यूजिक के जरिए सोशल मीडिया पर छाए रहते हैं। खासकर उनका डायलॉग्स गाने के रूप में पेश करना यानी उनके पैरोडी बनाना ऑडियंस को खूब पसंद आता है। दैनिक भास्कर से विशेष बातचीत में उन्होंने अपने इस टैलेंट के बारे में खुलकर बात की। उसने कहा क्या? पढ़िए

एक सोशल मीडिया पेज से आइडिया आया

मैं यह दो साल से बना रहा हूं। सबसे पहला वीडियो मैंने नित्यानंद बाबा का बनाया था। इससे पहले मैंने डब शर्मा नाम के कलाकार के सोशल मीडिया पेज पर यह बात देखी थी। वे कॉमेडी के फॉर्मेट में नहीं थे, लेकिन उनके वीडियो सीरियस और मजेदार होते थे। उन्होंने एक डायलॉग को लेकर गाना भी बनाया था, जो मुझे बहुत पसंद आया। विशेष रूप से आइडिया बहुत अच्छा लगा। उसके बाद मैंने उन्हीं के आइडिया पर अपने म्यूजिक वीडियो बनाना शुरू किया, जो लोगों को पसंद आया।

पिताजी से सीखा की-बोर्ड बजाना

मैं बचपन से ही म्यूजिक में हूं। क्योंकि मेरे पिताजी इससे जुड़े हुए हैं। वे गाते हैं, कीबोर्ड बजाते हैं। मैंने की-बोर्ड बजाना उन्हीं से सीखा। इसलिए म्यूजिक बचपन से ही मेरे साथ रहा। मम्मी ने कहा कि केम्प्लीट कर लो, फिर तुनेन जो करना है, कर लेना। तीन साल पहले मेरा कंप्यूटर कंप्लीट हुआ। उसके बाद से मैं प्रोफेशनली म्यूजिक कर रहा हूं। हालाँकि, पढ़ाई करते समय भी मैंने म्यूजिक को पूरी तरह से छोड़ा नहीं था। स्कूल से वापस आकर की-बोर्ड बजाता था। सोने से पहले एक-दो घंटे म्यूजिक को देता था। अब पढ़ाई करने के बाद फुल टाइम म्यूजिक को दे रहा हूं।

शो के ऑडिशन में हुआ था

मैं एक रियलिटी शो के ऑडिशन के लिए गया था, जहां पहले ही राउंड में पहली पंक्ति के गाने से पहले ही मुझे हटा दिया गया था। मैं घर वापस आ गया। पैरोडी पहले भी बनाता था। मैंने अपने ओरिजिनल गाने भी रिलीज़ किए। मेरे पैरोडी वाले फॉर्मेट को लोगों ने बहुत पसंद किया। क्योंकि उन्हें कुछ नया देखने को मिल रहा था। इसके अलावा यह छोटा कंटेंट होता है 30-40 सेकंड का तो लोग जल्दी देखकर स्क्रोलिंग शुरू कर देते हैं। जब इन वीडियो पर मुझे रीच ज्यादा ममिली तो मैंने उन्हें ज्यादा बनाना शुरू कर दिया।

फिल्मों में काम अब तक नहीं मिला

उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए सरकार की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है।फिल्मों की बात होती है। सप्ताह में कभी-कभी एक-दो कॉल आ जाते हैं। कभी कोई मीटिंग के लिए बुला लेता है तो कभी कोई मेरा रिकमंडेशन कर देता है डायरेक्टर को। लेकिन अभी तक मुझे फिल्म का पूरी तरह काम नहीं मिला है। हां, ब्रांड का काम लगातार आता रहता है। श्रृंखला का काम मिलता रहता है। मैं एक मराठी सीरियल में पहले ही बैकग्राउंड स्कैन दे चुका था। लेकिन अब बड़े-बड़े प्रोडक्शन हाउस भी ऑफर दे रहे हैं।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments