Home देश की ख़बरें भास्कर एक्सप्लेनर: सोमवार से शुरू होगा वैक्सीनेशन का नया फेज; जानिए...

भास्कर एक्सप्लेनर: सोमवार से शुरू होगा वैक्सीनेशन का नया फेज; जानिए कैसे होगा रजिस्ट्रेशन, क्या करेगा ऑप्शन


  • हिंदी समाचार
  • डीबी मूल
  • व्याख्याता
  • भारत में कोविद 19 टीकाकरण का दूसरा चरण; भारत में वैक्सीन अपडेट; कोवाक्सिन; कोविशिल्ड; आप सभी को भारत में कोविद 19 टीकाकरण के दूसरे चरण के बारे में जानना चाहिए

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 घंटे पहलेलेखक: रवीन्द्र भजनी

  • कॉपी लिस्ट

भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज सोमवार से शुरू होगा। यानी 1 मार्च से। इसी दिन से पंजीकरण भी शुरू होगा। इस फेज के साथ वैक्सीनेशन प्रोग्राम सप्लाई-ड्रिवन नहीं रहेंगे बल्कि डिमांड-ड्रिवन हो जाएंगे। आम नागरिकों को केंद्र में रखकर इस योजना को अंतिम रूप दिया गया है।

ट्राई के पूर्व शेफ और सरकार की को विभाजित -19 से लड़ने के लिए बनाए एमॉवर्ड ग्रुप ऑन टेक्नोलॉजीज और डेटा मैनेजमेंट के चेयरमैन राम सेवक शर्मा का कहना है कि यह फेज रेलवे की तर्ज पर काम करेगा। जिस तरह से रेलवे टाइमटेबल बनाता है, उसी तरह अस्पताल तय करेगा कि कब और कितने लोगों को वैक्सीन लगानी है। रेलवे में रिजर्वेशन और बिना रिजर्वेशन के भी मिलें हैं, इसी तरह अस्पतालों में शेड्यूल के अनुसार वैक्सीन लगेगी और वॉक-इन की व्यवस्था भी रहेगी। यानी बिना रिजर्वेशन के भी लोग वैक्सीन लगवा देंगे। शर्मा ही कोविड -19 वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क या कॉइन प्लेटफॉर्म के प्रमुख हैं।

आइए, जानते हैं कि तीसरे फेज में आपको वैक्सीन लगेगी और इसके लिए सरकार ने क्या इंतजाम किए हैं?

लगे लगेगी वैक्सीन
तीसरे फेज में 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगेगी। इसके साथ ही 45 से 60 वर्ष की उम्र के ऐसे लोगों को भी वैक्सीन लगेगी, जो गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। केंद्र सरकार का आकलन है कि लगभग 27 करोड़ लोग इस परियोजना में आते हैं।

कितना पैसा चुकाना होगा?
लगभग 12 हजार सरकारी अस्पताल और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में टीका मुफ्त लगेगा। वहीं, प्राथमिक अस्पतालों में वैक्सीनेशन के लिए 250 रुपए का भुगतान करना होगा।

क्या वैक्सीन का चुनाव कर सकते हैं?
नहीं है। इस समय टीकाकरण अभियान में भारत बायोटेक की स्वदेशी वैक्सीन- कोवैक्सिन और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड का इस्तेमाल हो रहा है। वैक्सीन का चुनाव करने की अनुमति नहीं रहेगी। जो उपलब्ध रहेगा, वही वैक्सीन लगाई जाएगी।

किस तिथि को वैक्सीन लगवानी है, क्या यह चुन सकते हैं?
हाँ। लोग यह चुन सकते हैं कि किस दिन वैक्सीन लगवानी है और किस केंद्र पर। इसका विकल्प उन्हें कोविन प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण के समय ही मिलेगा।

कितने केंद्र पर वैक्सीन लगेगी?
लोग अपने घर के पास के केंद्र पर अपॉइंटमेंट ले सकते हैं। वर्तमान में सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में ही वैक्सीनेशन हो रहा है। ये करीब 12 हजार हैं। आयुष्मान भारत एमैनल्ड अस्पताल या CGHS हॉस्पिटल्स भी शामिल होंगे, जो 12,000 हैं। इस तरह कुल 24 हजार लोकेशों पर वैक्सीनेशन होगा।

एक फोन पर कितना पंजीकरण हो सकता है?
वैक्सीनेशन में भाग लेने के लिए खुद का स्मार्टफोन होना जरूरी नहीं है। आप किसी और के भी स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर सकते हैं। एक मोबाइल फोन से चार अपॉइंटमेंट के लिए जा सकते हैं।

क्या पंजीकरण के लिए अलग से ऐप डाउनलोड करना होगा?
नहीं है। इसकी कोई जरूरत नहीं है। आप कोरोना वैक्सीनेशन में भाग लेने के लिए आरोग्य सेतु ऐप पर पंजीकरण कर सकते हैं। इसके लिए जल्द ही इसमें नई सुविधा जुड़ने वाली है। कोविन (CoWIN) ऐप के वेब पोर्टल (cowin.gov.in) के साथ ही IVRS और कॉल सेंटर भी पंजीकरण करेंगे। भारत के 6 लाख गांवों में स्थित लगभग 2.5 लाख कॉमन सर्विस सेंटर (सेवा केंद्र) पर भी पंजीकरण होगा।

क्या बिना पंजीकरण के वैक्सीनेशन हो सकेगा?
हाँ। जिस तरह ट्रेन में बिना रिजर्वेशन के भी सीट मिलती है, उसी तरह वैक्सीन भी सेंटर पर जाकर लगवा सकते हैं। यह तभी होगा, जब कोई वैकेंसी रहती है। यह राज्य सरकारें तय करेंगी कि किसी केंद्र की कैपेसिटी के लिहाज से असीमित और साप्ताहिक का अनुपात क्या रहेगा।

वैक्सीनेशन के समय क्या रखना होगा?
जिन लोगों की उम्र 60 वर्ष या उससे अधिक है, उन्हें अपना आईडी कार्ड साथ रखना होगा। पंजीकरण और वैक्सीनेशन के जब भी। 45 से 60 वर्ष के लोगों को सर्टिफिकेट पेश करना होगा, जो साबित करेगा कि वे गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। यह सर्टिफिकेट डॉक्टर से भरवाना करेंगे।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments