Home मध्य प्रदेश भोपाल में ओला कैब ड्राइवर हमला मामला: आरोपियों में शामिल लड़की ने...

भोपाल में ओला कैब ड्राइवर हमला मामला: आरोपियों में शामिल लड़की ने खुद को कंपनी का वेल क्वालीफाइड और प्रबंधक बताया; बोली तीनों लड़के मेरे अंडर में काम करते हैं, निकली 12 वीं पास


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भोपाल10 मिनट पहलेलेखक: अनूप दुबे

  • कॉपी लिस्ट

ओला कैब ड्राइवर राशिद पर हमला करने वाले आरोपियों में लड़की सबसे ज्यादा 12 वीं तक पढ़ी निकली।

  • लड़की 12 वीं तक पढ़ी-लिखी है, जबकि तीनों आरोपी लड़के सिर्फ 10 वीं तक निकले हैं

भोपाल में भदभदा रोड पर रविवार शाम ओला कैब के ड्राइवर पर जानलेवा हमला करने वाले आरोपियों में शामिल लड़की खुद को प्राइवेट कंपनी का मैनेजर बताती है। उन्होंने कहा कि वह मार्किटिंग मैनेजर है। तीनों आरोपी युवक उसके अंडर में काम करते हैं।

भोपाल में सनसनीखेज वरदात: लड़की और 3 लड़कों ने ओला ड्राइवर को लूटने और हत्या की साजिश रची; पैर से हॉर्न बजाकर ड्राइवर ने बचाई जान, लगभग गिरफ्तार

टीआई कमला नगर विजय सिंह ने बताया कि सभी इटारसी के रहने वाले हैं। उनका कहना है कि वे घूमने निकले थे। हालांकि वे चाकू के बारे में क्यों घूम रहे थे, इसका आरोपियों के पास कोई जवाब नहीं था। पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के बाद लड़की सहित चारों आरोपियों को कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया है।

पुलिस ने गौतम नगर थाना क्षेत्र के चौकसे नगर में रहने वाले 25 साल के राशिद खान की शिकायत पर जीत, आकाश, लड्डू और लड़की सहित चार लोगों पर हत्या के प्रयास सहित छह धाराओं में मामला दर्ज किया। मौके से पुलिस ने लड़की सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि एक बाद में पकड़ा गया था। हस्तक्षेप में लड़की ने बताया कि वह वेल क्वालीफाइड है।

मल्ट नेशनल कंपनी में जॉब करती है। उसी कंपनी मेंit, आकाश और लड्डू भी जॉब करते हैं। तीनों उसके अंडर में है। वह प्रबंधक के पद पर है। लड़की ने बताया कि अयोध्या बायपास के यहां किराए से रहती है, जबकि उसके तीनों दोस्त अलग रहते हैं। उन्होंने वारदात के पीछे की कहानी बताई कि राशिद उसे घूर रही थी। इसी कारण उनमें मारपीट हो गई। पुलिस के पूछने के पर चाकू कहां से आया, तो कोई इसका जवाब नहीं दे पाया।

वेल क्वालीफाइड की कहानी झूठी निकली

टीआई ने बताया कि आरोपियों के बताए अनुसार उनके बयानों की तफ्तीश की गई, तो कई झूठ सामने आए। आरोपियों में लड़की सबसे ज्यादा 12 वीं तक पढ़ी हुई है, जबकि तीनों आरोपी सिर्फ 10 वीं तक पढ़े हुए हैं। तीनों गरीब परिवारों से हैं और मूलत: इटारसी के रहने वाले हैं। पुलिस ने पूछताछ के बाद आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं मिला

टीआई कमला नगर विजय सिंह ने बताया कि अब तक आरोपियों का कोई पूर्व का आपराधिक रिकॉर्ड नहीं मिला है। हालांकि इटरासी और अन्य स्थानों की पुलिस संपर्क कर आरोपियों के पुराने रिकॉर्ड को खंगाला जा रहा है। कंपनी से भी उनके बारे में पता लगाया जा रहा है।

इन सवालों के जवाब नहीं मिले

  • लेक तक टैक्सी बुक कराने के बाद वहां न घूमकर पैदल स्पटा क्यों चली गई?
  • यदि पैदल चलने के लिए सपाटा ही जाना था, तो वहाँ के लिए टैक्सी क्यों बुक नहीं की?
  • अपने साथ चाकू आदि के बारे में क्यों घूम रहे थे?
  • अगर सिर्फ झगड़े की बात थी, तो मौके से भागे क्यों?

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments