Home ब्लॉग मंहगाई से राहत की उम्मीद: अगर राज्य सरकारों ने वैट कम नहीं...

मंहगाई से राहत की उम्मीद: अगर राज्य सरकारों ने वैट कम नहीं किया तो जल्द ही देश में ज्यादातर जगह पेट्रोल हो सकता है 100 रुपए का पार


  • हिंदी समाचार
  • व्यापार
  • पेट्रोल डीजल मूल्य मुंबई दिल्ली अपडेट किया गया; सब कुछ जो आपको एबस्प एक्सएक्स ड्यूटी (केंद्र सरकार) बनाम वैट (राज्य) कर पता होना चाहिए

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली4 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

देश में भारी भरकम टैक्स के कारण कई शहरों में पेट्रोल के दाम 100 रुपए प्रति लीटर के पार निकल गए हैं। पेट्रोल-डीजल पर केंद्र द्वारा एक्साइज ड्यूटी लगाए जाने के बाद राज्य इस पर वैट वसूलते हैं। ऐसे में विशेषज्ञों का मानना ​​है कि जिन राज्यों में ज्यादा वैट वसूला जा रहा है। वहाँ पेट्रोल के दाम का 100 रुपए से ऊपर होना एक आम बात हो जाएगी, क्योंकि यहां ज्यादातर शहरों में जल्द ही पेट्रोल के दाम 100 रुपए के पार निकल जाएंगे।

टैक्स के बाद 3 गुना महंगी हो जाती है पेट्रोल-डीजल
पेट्रोल-डीजल का बेस प्राइज पर जो अभी 32 रुपए के करीब है, इस पर केंद्र सरकार 33 रुपए एक्साइज ड्यूटी वसूल रही है। इसके बाद राज्य सरकारें इस पर अपने हिसाब से वैट और सेस वसूलती हैं, जिसके बाद इनका दाम बेस प्राइज़ से 3 गुना तक बढ़ गया है। ऐसे में बिना टैक्स में राहत दिए पेट्रोल के दाम कम कर पाना मुमकिन नहीं है।

वैत छकर ही आम आदमी को राहत देना संभव है
केंद्र सरकार ने पहले ही पहले ही साफ कर दिया कि पेट्रोल और डीजल पर लगने वाली एक्साइज में कोई कटौती नहीं की जाएगी। ऐसे में अब आम आदमी को अपने प्रदेश की सरकार से ही उम्मीद है कि वो वैट में कुछ कटौती करके उसे राहत दे।

मणिपुर और रेज में वैट सबसे ज्यादा
वैत वसूलने के मामले में मणिपुर सबसे आगे है। यहां पेट्रोल 36.50% और डीजल 22.50% टैक्स वसूला जा रहा है। इसके बाद के सबसे ज्यादा पेट्रोल पर 36% और डीजल पर 26% टैक्स वसूला जा रहा है। बड़े राज्यों में TN में वैट कम है। यहां पेट्रोल पर 15% और डीजल पर 11% टैक्स वसूला जाता है। लेकिन पेंच यह है कि यहां वैट के साथ पेट्रोल पर 13.02 रुपए और डीजल पर 9.62 रुपए प्रति लीटर सेस (उपकर) भी वसूला जाता है। लक्षद्वीप एक मात्र ऐसा राज्य है जहाँ वैट नहीं लिया जाता है। यहां देखें किस-किस राज्य ने वसूला कितना टैक्स …

ब्रेंट क्रूड 75 डॉलर प्रति घंटे तक पहुंच सकता है
बुधवार को ब्रेंट क्रूड 64 डॉलर प्रति दिन के स्तर को पार कर गया। गोल्डमैन सैक्श ने अगले कुछ महीनों में क्रूड का भाव 70 से 75 डॉलर तक पहुंचने की भविष्यवाणी की है। ऐसे में पेट्रोल-डीजल के और महंगे होने की संभावना है।

क्रूड 70 डॉलर पर पहुंचा तो दिल्ली में गैसोलीन 95 रु। पर पहुंच जाएगा
अगर ब्रेंट क्रूड 75 डॉलर प्रति दिन तक पहुंचता है तो यहां पेट्रोल 95 रुपए प्रति लीटर के करीब पहुंच जाएगा, जो अभी भी.9.93 रु। / लीटर पर है। ऐसे शहर जहां पेट्रोल 101 रुपए से ऊपर चल रहा है, वहां 105 रु से ज्यादा खर्च हो जाएगा। ऐसे में जनता को महंगाई से बचाने के लिए टैक्स कम करना होगा।

5 साल में टैक्स से केंद्र की कमाई दोगुनी हुई, राज्यों की 43% बढ़ी
राज्यों को पेट्रोल-डीजल पर वैट लगाने से होने वाली कमाई 5 साल में 43% बढ़ी है। वित्त वर्ष 2014-15 में इससे होने वाली कमाई 1.37 लाख करोड़ थी जो 2019-20 में 2 लाख करोड़ से ऊपर पहुंच गई। कोरोना के कारण लगाए गए लॉकडाउन के बावजूद चालू वित्त वर्ष 2020-21 के 9 महीने (अप्रैल-दिसंबर) में वैट से 1.35 लाख करोड़ की कमाई हुई है।

पेट्रोल प्रोडक्ट पर एक्साइज ड्यूटी लगाकर केंद्र सरकार ने 2019-20 में 3.34 लाख करोड़ रुपए कमाए। मई 2014 में पहली बार जब मोदी सरकार बनी थी तब 2014-15 में एक्साइज ड्यूटी से 1.72 लाख करोड़ की कमाई हुई थी, यानी सिर्फ 5 साल में ही ये दोगुनी हो गई। चालू वित्त वर्ष 2020-21 के 9 महीने (अप्रैल-दिसंबर) में एक्साइज से 2.76 लाख करोड़ रुपए की कमाई हुई है।

5 राज्यों में गैसोलीन डीजल ने सस्ता किया
पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों को देखते हुए नागालैंड, राजस्थान, मेघालय और पश्चिम बंगाल सरकार ने पहले ही अपनी कीमत में कटौती करके जनता को राहत दी है। ऐसे में अब अन्य राज्यों के लोग भी अपनी राज्य सरकारों से इस तरह की राहत की उम्मीद कर रहे हैं।

56 दिनों में ही 25 गुना बढ़े दाम
फरवरी में अब पेट्रोल-डीजल के रेट में 15 गुना बढ़ोतरी हुई है। इस दौरान दिल्ली में पेट्रोल 4.38 रुपए और डीजल 4.59 रुपए महंगा हुआ है। इससे पहले जनवरी में रेट 10 गुना बढ़े। इस दौरान पेट्रोल की कीमत में 2.59 रुपए और डीजल में 2.61 रुपए की बढ़ोतरी हुई थी। वहीं अगर 2021 की बात करें तो इस साल अब तक पेट्रोल 7.12 रुपए और डीजल 7.45 रुपए प्रति लीटर महंगा हो चुका है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments