Home देश की ख़बरें महाधरमा गांधी की पुण्यतिथि पर उनके हिसारे गोडसे का नाम वायरलेस पर...

महाधरमा गांधी की पुण्यतिथि पर उनके हिसारे गोडसे का नाम वायरलेस पर टॉप ट्रेंड्स में


देश राधपिता महाधर्म गांधी को उनकी पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि दे रहा है। (फाइल फोटो)

महात्मा गांधी की पुण्यतिथि: रासपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर पूरा देश उन पर याद कर रहा है। कई स्थापितनों पर उनकी याद में कार्यक्रम भी आयोजित किया जाता है, तो दिलली के राजघाट और गांधी शम्यता में भी लोगों ने पहुंच कर अपनी श्रद्धांजलि दी है। सोशल मीडिया पर भी महात्मा गांधी को देशवासियों ने याद किया है। ऐसे समय में वेब पर टॉप ट्रेंड्स में महाधरमा गांधी शामिल हैं, वहीं हिरानी की बात है कि रेडियो पर टॉप ट्रेंड्स में गांधी के हिसारे नाथूराम गोडसे का नाम भी शामिल है। ऐसा ही ट्रेंड पिछले साल देखने को मिला था।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:30 जनवरी, 2021, 11:50 PM IST

नई दिलवाली देश जब अपने रासपिता महाधीमा गांधी को उनकी पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि दे रहा है तो ऐसे दिन ट्विटर पर टॉप ट्रेंड्स में उनके हतिारे नाथूराम गोडसे का नाम भी शामिल है। दरअसल गांधी की जयंती और पुण्य तिथि पर नाथूराम का नाम सैटेलाइट पर टॉप ट्रेंड्स में रहता है। पिछले साल नाथूराम गोडसे जिंदाबाद तो इस साल नाथूराम गोडसे अमर रही ट्रेंडिंग में शामिल है। नाथूराम गोडसे के शुक्र उसे बहादुर और देश का रक्षक बता रहे हैं, जबकि इसी प्रतिज्ञा ने महात्मा गांधी की 30 जनवरी 1948 में गोली मार कर हदयया कर दी थी।

गांधी के देश में नाथूराम गोडसे के समर्थक भी हैं और वे ही उसे देशभगत या हरम देने की कोशिश करते हैं। कभी कभी किसी रजनेता के मुंह से भी नाथूराम गोडसे के समर्थन में बयान आ जाते हैं। मध्‍यप्रदेश की राजधानी भोपाल से सांसद प्रज्ञा ठाकुर भी इस तरह के बयान दे चुके हैं, जिनमें काफी भारी बवाल हुआ था। उन्हें उसने गोडसे को देश का सबसे बड़ा देशभक्त बताया था। हालांकि उनके इस बयान से उनकी ही पार्टी ने पल्लला झाड़ लिया था। वहीं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस बयान पर खेद जताया था, उन्होंने कहा था कि ऐसे नेताओं को दिमाग से माफ नहीं करना होगा।

इंटरनेट ट्रेंड्स में ऐसे आते हैं टॉपिक
सोशल मीडिया के एक पीलेटफॉर्म ट्विटर में जिन टॉपिक्स पर किसी खास हैशटैग के साथ अचानक से बहुत अधिक लोग हों तो वह ट्रिंग टॉपिक में आ जाता है। कभी-कभी कंपनियां अपने उत्पादों के प्रचार प्रसार के लिए भी धन देकर ऐसे ट्रेंडिंग का सहारा लेती हैं।गांधी से घृणा करने लगा था गोडसे

खुद को कट्टर हिंदू कहने वाला नाथूराम गोडसे हिंदू रासवाद का जुनूनी समर्थक था। अपने जीवन काल में वह महाश्वमा गांधी के विचारों से प्रभावित भी था, लेकिन देश के बंटवारे को लेकर उसने महात्मा गांधी को जिस्ममेदार माना और उसने उनसे नफरत करने लगा। उसे लगता था कि गांधी हिंदुओं पर अकृतयाचार कर रहे हैं। उसे गांधी को गोली मारने के बाद मौके पर ही पकड़ लिया गया था। अदालत में उसे और उसके सहयोगियों पर मुकदमा चला और गोडसे को अंबाला जेल में फांसी दी गई।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments