Home उत्तर प्रदेश मेरठ में खाना बनाते समय सिलेंडर में आग लगी, दादी-पोते की मौत

मेरठ में खाना बनाते समय सिलेंडर में आग लगी, दादी-पोते की मौत


ख़बर सुनना

मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना इलाके के नूर गार्डन 40 फुटा रोड पर एक परिवार सिलेंडर में आग लगने के कारण हुए धुएं से बेहोश हो गए हैं। शोर सुनने के बाद आसपास के लोगों ने मकान का गेट और छत उखाड़कर परिवार को हापुड़ रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टरों ने दादी और उसके पोते को मृत घोषित कर दिया।

मंगलवार लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के नूरगार्डन में 40 फुटा निवासी नवाब पुत्र इमामबाड़े का कार्य करता है। सोमवार को भाई से मिलने के लिए कैतवाड़ा मुजफ्फरनगर निवासी नवाब की बहन रिहाना अपने 6 वर्षीय पोते को साथ बारे नूरगार्डन आई हुई थी।

इसी दौरान रिहाना के आने की जानकारी मिलने पर नवाब के साले की बेटी आयशा 18 साल भी आ गई। घर में मौजूद नवाब की पत्नी शहनाज और बेटी रुकय्या साथ घर में आए मेहमानों के लिए खाना बनाने वाले थे। शाम लगभग 4 बजे सिलेंडर लीकेज होने के कारण आग लग गई।

परिवार के लोगों ने किसी तरह आग पर तो काबू पा लिया। लेकिन आग से निकले जहरीला धुआं घर में घर में भरने के कारण घर में मौजूद परिवार के सभी सदस्य बेहोश हो गए। किसी तरह घर से निकली आवाज सुनकर आसपास के लोगों ने गेट और छत को तोड़कर घर में घुसकर परिवार के लोगों को निकाला और हापुड़ रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां इलाज के दौरान नवाब की बहन रिहाना और उसके 6 वर्षीय पोते की मौत हो गई। मामले की जानकारी मिलने पर लिसाड़ी गेट पुलिस मौके पर पहुंची और आग लगने के कारणों की जांच शुरू कर दी।

मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना इलाके के नूर गार्डन 40 फुटा रोड पर एक परिवार सिलेंडर में आग लगने के कारण हुए धुएं से बेहोश हो गए हैं। शोर सुनने के बाद आए आसपास के लोगों ने मकान का गेट और छत उखाड़कर परिवार को हापुड़ रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टरों ने दादी और उसके पोते को मृत घोषित कर दिया।

मंगलवार लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के नूरगार्डन में 40 फुटा निवासी नवाब पुत्र इमामबाड़े का कार्य करता है। सोमवार को भाई से मिलने के लिए कैतवाड़ा मुजफ्फरनगर निवासी नवाब की बहन रिहाना अपने 6 वर्षीय पोते को साथ बारे नूरगार्डन आई हुई थी।

इसी दौरान रिहाना के आने की जानकारी मिलने पर नवाब के साले की बेटी आयशा 18 साल भी आ गई। घर में मौजूद नवाब की पत्नी शहनाज और बेटी रुकय्या साथ घर में आए मेहमानों के लिए खाना बनाने वाले थे। शाम लगभग 4 बजे सिलेंडर लीकेज होने के कारण आग लग गई।

परिवार के लोगों ने किसी तरह आग पर तो काबू पा लिया। लेकिन आग से निकले जहरीला धुआं घर में घर में भरने के कारण घर में मौजूद परिवार के सभी सदस्य बेहोश हो गए। किसी तरह घर से निकली आवाज सुनकर आसपास के लोगों ने गेट और छत को तोड़कर घर में घुसकर परिवार के लोगों को निकाला और हापुड़ रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां इलाज के दौरान नवाब की बहन रिहाना और उसके 6 वर्षीय पोते की मौत हो गई। मामले की जानकारी मिलने पर लिसाड़ी गेट पुलिस मौके पर पहुंची और आग लगने के कारणों की जांच शुरू कर दी।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments