Home देश की ख़बरें मौसम से सामना में काम आई हेल्थ स्ट्रैटेजी: पूर्वी लद्दाख में चीनी...

मौसम से सामना में काम आई हेल्थ स्ट्रैटेजी: पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना की चुनौती से बड़ी दुश्मन है मौसम, सेना ने ग्राउंड लेवल पर बनाई रणनीति


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • मौसम पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना की चुनौती से बड़ा दुश्मन है, सेना ने जमीनी स्तर पर रणनीति बनाई

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली29 मिनट पहलेलेखक: मुकेश कौशिक

  • कॉपी लिस्ट

जीरो वेदर कैजुअल्टी का लक्ष्य तय कर रही भारतीय सेना ने लद्दाख में मौसम से पार पा लिया।

पूर्वी लद्दाख में सेनाओं की वापसी का फैसला जो 9 वें दौर की बैठक में हुआ, उसमें चीनीधरर के मुंह से यह बात फिसल गई कि अब मामला खत्म हो जाएगा। हम मानसिक और शारीरिक रूप से तंग आ गए हैं। बातचीत की बारीकियां जानने वाले सेना के एक सूत्र ने कहा कि भारतीय सेना के सामने ऐसी स्थिति नहीं थी और इसकी वजह सैनिकों को 100 फीसदी फिट रखने के लिए अपनाई गई खास रणनीति थी।

पूर्वी लद्दाख में देपसांग से लेकर पैंगोंग त्सो के उत्तरी छोर और इसके दक्षिण में कैलाश रेंज की प्रतिभागियों पर भारतीय सेना ने दस महीने तक सैनिकों की तैनाती की। सेनाएं अब वहां से लौट रही हैं, लेकिन मौजूदा ऑपरेशन में कई अच्छे हथियार दिए गए हैं।

सेना के अधिकारियों ने बताया कि डॉक्टरों, फिजिशियंस, ट्रेनर्स और ग्राउंडैंडरों ने इस पूरी रणनीति का खाका तैयार किया था और जीरो वेदर कैजुअल्टी का लक्ष्य तय किया था। इसे शत-प्रतिशत हासिल कर लिया गया। ऐसी मेट्रो की तैनाती में चुनौती ऑक्सीजन की कमी की थी। एक अधिकारी ने बताया कि सबसे महत्वपूर्ण प्रोटोकॉल यह था कि स्वास्थ्य में 1% भी गिरावट होने पर सैनिक को कम ऊंचाई वाली चोटी पर लाया जाता है।

मौसम को हराने के ये 4 हथियार थे

फुट बाथ: सैनिकों को अपने पांवों को बिल्कुल सही रखना था। पंजे को नियमित रूप से धड़िये से साफ रखने और मॉश्चराइजर लगाने का प्रोटोकाॅल अपनाया गया।

पानी पका हुआ: डिहाइड्रेशन से बचाने के लिए हर दो घंटे में सोडियम परेड हो रही थी। युवा कतारबद्ध होते हैं और 1 लीटर पानी की पूरी बोतल पी जाते थे।

टास्वाल परेड: स्नान के बजाए गर्म टोलिये से स्पंजिंग को विकल्प बनाया गया। इसमें हर सैनिक अपने संगी साथी के बदन को गर्म टोनी से पोंछता था।

चिकित्सा परेड: हर सैनिक का नियमित ब्लड प्रेशर और अन्य आवश्यक वाइटल्स जैसे तापमान व फेफड़े की स्थिति पर पैनी नजर रखी गई।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments