Home उत्तर प्रदेश 'यूपी टूरिज्म फेरा' जलपोत वाराणसी रवाना, दो घंटे तक पुल पर वाहनों...

‘यूपी टूरिज्म फेरा’ जलपोत वाराणसी रवाना, दो घंटे तक पुल पर वाहनों का संवाद ठप


प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो: अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* सिर्फ ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी करो!

ख़बर सुनता है

गो से प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी जा रहा है पर्यटक जलपोत यूपी तुरिज्म फेरा पीएनजे -821 दो घंटे तक बच्छालकपुरा गंगा तट पर रुका रहा। बाद में बच्छालकपुरा-रामपुर पीपा पुल को खोलकर जलपोत को पास कर दिया गया है। इस दौरान दो घंटे तक पुल पर वाहनों का भाषण ठप रहा।

यूपी टूरिज्म फेरा पीएनजे -821 खाली जलपोत गो से वाराणसी जा रहा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पर्यटकों को गंगा घाटों पर घूमने और जल बर्तन से वाराणसी से प्रयागराज संगम आदि की यात्रा प्रदान के लिए प्रदेश के पर्यटन विभाग की ओर से यह जलपोत मंगाया गया है।

गाजीपुर दो मंजिला द्वीप पहुँचे, जल्द पहुँचेंगे बनारस

गंगा की लहरों पर दो मंजिला द्वीप का संचालन जल्द ही शुरू हो सकता है। डेढ़ महीने पूर्व जाने वाले शिपकार्ड से रवाना 10 दोड़ी द्वीप गाजीपुर में पहुंच गया है। बुधवार को यह एमवी यूपी फेरी जहाज मुहम्मदाबाद के बच्छलपुर-रामपुर गंगा तट से वाराणसी के लिए रवाना हुआ। राजकीय निर्माण निगम के परियोजना प्रबंधक के अनुसार जल्द ही यह द्वीप काशी पहुंचेगा।

100 पर्यटकों के बैठने की क्षमता का यह स्थल 30 नवंबर को गो से वाराणसी के लिए प्रस्थान हुआ था। मौसम की खराबी के कारण पेरू को पहुंचने में डेढ़ महीने से अधिक का समय लगा। वर्तमान में द्वीप आगमन को देखते हुए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। राजघाट और अस्सी घाट पर जेटी बनकर तैयार है। गंगा में पर्यटन को बढ़ावा देने को पर्यटन मंत्रालय की प्रसाद योजना के तहत 10.71 करोड़ में राजघाट से अस्सी तक पार्क संचालन की व्यवस्था की गई है।

कोरोना के नेतृत्व में देरी हुई
बजड़े की तरह कीव में ऊपर और नीचे दोनों मंजिल पर 100 पर्यटकों के बैठने की क्षमता है। नीचे की मंजिल पूरी तरह से एयरकूलित है। होटल की खासियत यह है कि चारों ओर से खुला रहेगा, इससे पर्यटकों को गंगा और घाटों की सुंदरता देखने में सहूलता होगी।अधिकारियों के अनुसार अप्रैल में ही होटल बन चुके थे, लेकिन कोरोना के नेतृत्व में परीक्षण और अनुमति नहीं मिलने के कारण रुकी हुई थी। । भारतीय रजिस्टर ऑफ शिपिंग ने 30 नवंबर को गो से डोमेन ले जाने की अनुमति दी थी।

गो से प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी जा रहा है पर्यटक जलपोत यूपी तुरिज्म फेरा पीएनजे -821 से दो घंटे तक बच्छालकपुरा गंगा तट पर रुका रहा। बाद में बच्छालकपुरा-रामपुर पीपा पुल को खोलकर जलपोत को पास कर दिया गया है। इस दौरान दो घंटे तक पुल पर वाहनों का भाषण ठप रहा।

यूपी टूरिज्म फेरा पीएनजे -821 खाली जलपोत गो से वाराणसी जा रहा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पर्यटकों को गंगा घाटों पर घूमने और जल बर्तन से वाराणसी से प्रयागराज संगम आदि की यात्रा प्रदान के लिए प्रदेश के पर्यटन विभाग की ओर से यह जलपोत मंगाया गया है।

गाजीपुर दो मंजिला द्वीप पहुँचे, जल्द पहुँचेंगे बनारस

गंगा की लहरों पर दो मंजिला द्वीप का संचालन जल्द ही शुरू हो सकता है। डेढ़ माह पूर्व गो शिपार्ड से रवाना 10 दोड़ी द्वीप गाजीपुर में पहुंच गया है। बुधवार को यह एमवी यूपी फेरी जहाज मुहम्मदाबाद के बच्छलपुर-रामपुर गंगा तट से वाराणसी के लिए रवाना हुआ। राजकीय निर्माण निगम के परियोजना प्रबंधक के अनुसार जल्द ही यह द्वीप काशी पहुंचेगा।

100 पर्यटकों के बैठने की क्षमता का यह गंतव्य 30 नवंबर को गो से वाराणसी के लिए प्रस्थान हुआ था। मौसम की खराबी के कारण पेरू को पहुंचने में डेढ़ महीने से अधिक का समय लगा। वर्तमान में द्वीप आगमन को देखते हुए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। राजघाट और अस्सी घाट पर जेटी बनकर तैयार है। गंगा में पर्यटन को बढ़ावा देने को पर्यटन मंत्रालय की प्रसाद योजना के तहत 10.71 करोड़ में राजघाट से अस्सी तक पार्क संचालन की व्यवस्था की गई है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments