Home उत्तर प्रदेश यूपी में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट पर हाय तौबा: लखनऊ में 14...

यूपी में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट पर हाय तौबा: लखनऊ में 14 लाख से अधिक वाहनों में अभी भी HSRP लगना बाकी, RTO से जुड़े कई काम पर असर


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ33 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

उत्तर प्रदेश में वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (HSRP) अनिवार्य कर दिया गया है। मतलब जिन गाड़ियों पर HSRP नहीं होगा, उनका ट्रांसफर, पता परिवर्तन और फिटनैस प्रमाण पत्र जैसे RTO से जुड़े काम नहीं होंगे।

  • वाहन मालिकों को करना ऑनलाइन बुकिंग कराने के बाद भी दो महीने का इंतजार करना पड़ेगा
  • प्रदेश में चार वेंडर्स को दिया गया है एचएसआरपी का काम, इसके बिना नहीं हो रहा ट्रांसफर, फिटनैस प्रमाण पत्र जैसे काम

उत्तर प्रदेश में वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (HSRP) अनिवार्य कर दिया गया है। मतलब जिन गाड़ियों पर HSRP नहीं होगा, उनका ट्रांसफर, पता परिवर्तन और फिटनैस प्रमाण पत्र जैसे RTO से जुड़े काम नहीं होंगे। इस नियम के बाद से गाड़ी मालिक परेशान हो गए हैं।

नए नंबर प्लेट के बिना जहां कई काम ठप पड़ गए हैं, वहीं वाहन मालिकों में एचएसआरपी की बुकिंग को लेकर होड़ मच गई है। ऑनलाइन बुकिंग व्यवस्था के तहत लोगों को दो-दो महीने के बाद की तारीख मिल रही है। लखनऊ में अभी 14 लाख से अधिक गाड़ियों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगना बाकी हैं।

सोमवार को प्रमुख सचिव परिवहन की ओर से जारी नए सर्कुलर में साफ कहा गया है कि एचएसआरपी के बिना आरटीओ कार्यालय में कोई सूचना नहीं होगी। इतना ही नहीं वाहनों का फिट भी नहीं किया जाएगा। इतना राहत जरूर दी गई है कि HSRP की रसीद पर तारों में कामकाज हो सकेगा।

उत्तर प्रदेश में चार वेंडरों को दी गई हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बनाने की जिम्मेदारी

प्रदेश में चार वेंडरों को हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। वाहन चलाने के यहाँ प्रतिदिन दर्जनों पुराने वाहन स्वामी HSRP बुक कराने के लिए जा रहे हैं। वहां पर तैनात कर्मचारी इन वाहन स्वामियों को अपने मोबाइल से ही नंबर प्लेट बुक करा रहे हैं। इतना ही नहीं जिन लोगों ने पहले से बुकिंग करा रखी है एक प्रतिदिन एक वाहन डीलर के यहां से 50 से 60 उच्च सिक्योरिटी नंबर प्लेट दिए जा रहे हैं।

ऑफ़लाइन बुकिंग का आलम यह है कि गुरुवार यानी 25 फरवरी को जिस वाहन स्वामी ने हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बुक करायी है अप्रैल उसकी यात्रा 27 अप्रैल की आई है। हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए वाहन स्वामी को दो महीने से ज्यादा का वक्त का इंतजार करना पड़ेगा।

लखनऊ पर गौर करें तो एक अप्रैल 2019 के बाद लखनऊ जनपद में गुरुवार तक दो लाख 15 हजार 182 नए वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाकर वाहन मालिकों को दिया जा चुका है। पुराने वाहनों पर गौर करें तो गुरुवार तक लगभग 75 हजार वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाये जा चुके हैं। इसके कारण भी पुराने वाहन स्वामियों में HSRP के लिए होड़ मची है ताकि बुकिंग की रसीद के आधार पर RTO कार्यालय में काम किया जा सके।

तय समय सीमा में पूरा हो जाएगा

आरटीओ (प्रशासन) आरपी द्विवेदी ने बताया कि प्रदेश में चार वेंडरों को एचएसआरपी बनाने का ठेका है। 26 फरवरी को बुक नंबर प्लेट 27 अप्रैल को मिलेगी। बुकिंग के लिए वाहन के यहां होने वाले दर्जनों वाहन स्वामी पुराने वाहनों में तेजी से हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाए जा रहे हैं जो समय सीमा तय की गयी है तय उसके अंदर ही पुराने वाहन स्वामी अपने-अपने वाहनों में एचएसआरपी लगवा देंगे।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments