Home देश की ख़बरें राइजिंग यूपी 2021: सीएम योगी बोले- फ्लॉप हो चुके नेता किसान आंदोलन...

राइजिंग यूपी 2021: सीएम योगी बोले- फ्लॉप हो चुके नेता किसान आंदोलन के पीछे, फैला हुआ भ्रम


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष को घेरा

CM योगी आदित्यनाथ पर राइजिंग यूपी 2021: राइजिंग यूपी के मंच से बोलते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 की जीत के बाद से ही प्रधानमंत्री मोदी की छवि को ख़राब करने के लिए विपक्ष के साथ कुछ ताकतें शुरू हुई हैं। इसकी शुरुआत बेमुला केस से ही शुरू होती है।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (सीएम योगी आदित्यनाथ) ने बुधवार को कहा कि किसान आंदोलन (किसान आंदोलन) को वे नेता तूल दे रहे हैं और किसानों को बरगला रहे हैं, जो फ्लॉप हो चुके हैं। किसान आंदोलन के पीछे वे लोग ही हैं जिनकी खेती किसानी से कोई लेना देना नहीं है। आज विपक्षी किसानों के कन्धों पर बन्दूक रखने वाले भ्रम फ़ैलाने में जुटा हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोशिशों से किसानों के जीवन में बदलाव आया है। आज यूपी में किसानों के लिए सबसे ज्यादा काम किया गया है।

राइजिंग यू.पी. के मंच से बोलते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 की जीत के बाद से ही प्रधानमंत्री मोदी की छवि को ख़राब करने के लिए विपक्ष के साथ कुछ ताकतें शुरू हुई हैं। इसकी शुरुआत बेमुला केस से ही शुरू होती है। इसके बाद जो भी आंदोलन हुए या आज हो रहे हैं उनमें वही लोग शामिल हैं और उन्हें उकसाने का काम विपक्ष कर रहा है। लेकिन इसके बावजूद देश-विदेश में पीएम मोदी की लोकप्रियता कम नहीं हुई बल्कि बहुत बढ़ी है।

किसान आज भी बीजेपी के साथ
किसान आंदोलन पर सीएम योगी ने कहा, “किसान आज भी बीजेपी के साथ में हैं। पिछली 6 साल में मोदी सरकार ने किसानों के लिए कई बड़े फैसले लिए हैं। पिछले 6 साल का यह पहला आंदोलन नहीं है। मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए। कुछ लोग काम कर रहे हैं। जो लोग हर क्षेत्र में फेल हो चुके हैं, उन किसानों के कंधों पर बंदूक रखने से उनके हित दुखी हो रहे हैं। ”कोरोना काल में क्वारंटाइन ही अखिलेश रहा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2022 में भी प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आएगी। इसमें किसी को कोई संकोच नहीं होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2022 में भी कोई मंंदी नहीं है। उन्होंने सपा और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कोरोना काल में मौका था। जब विपक्ष सरकार के साथ काम करता है, लेकिन कहीं नहीं दिखा, अखिलेश यादव तो क्वारंटाइन ही रहे। अच्छा हुआ वे क्वारंटाइन रहकर जनता का ही भला किया। प्रियंका गांधी ने फर्जी एक हजार गाड़ियों की लिस्ट भेजकर जनता को छकिंग का काम किया।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments