Home उत्तर प्रदेश रामकाज से भर गया आस्था का गुल्लक: राम मंदिर निर्माण के लिए...

रामकाज से भर गया आस्था का गुल्लक: राम मंदिर निर्माण के लिए 44 दिन में 2100 करोड़ आए; अभियान के शुरुआत में 1100 करोड़ जुटने का अनुमान था


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अयोध्या7 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

राम मंदिर का प्रस्तावित मॉडल। अभी राम जन्मभूमि परिसर में नींव एक्स का काम चल रहा है।

  • 15 जनवरी को पूरे देश में एक साथ शुरू हुआ था निधिप्रधान अभियान
  • औसतन हर दिन 50 करोड़ रुपये ट्रस्ट के खाते में आए

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए धन जुटाने का अभियान ‘निधिप्रिंटन’ खत्म हो चुका है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि ने बताया कि शनिवार की शाम तक 2100 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। इसी वर्ष 15 जनवरी से पूरे देश में एक साथ 44 दिव्या निधिप्रदान अभियान शुरू किया गया था। यह अभियान विश्व हिंदू परिषद (VHP) की ओर से था। तब अनुमान लगाया गया था कि 11 करोड़ रुपये जुटेंगे। लेकिन उम्मीदों से भरे रामभक्तों ने रामकज में सहयोग किया है।

पूरा ऑडिट-जोखा आने में अभी भी जल्द ही होगा

मंदिर ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि ने बताया कि अब तक 2100 करोड़ निधि काप्रिंटन होने का अनुमान है। बहुत से डिपाजिटर का धनराशि बैंकों में जमा होने की पाइप लाइन में हैं। सही लेखा-जोखा तैयार किया जा रहा है जिसमें थोड़ा समय लगेगा। स्वामी गोविंद देव गिरि ने कहा कि विदेशों में रहने वाले लोग भी मांग कर रहे हैं दूसरे देशों में भी इसी तरह का अभियान होना चाहिए। ऐसे में उन लोगों से किस तरह चंदा लिया जाएगा, इसका फैसला मंदिर ट्रस्ट पदाधिकारियों की बैठक में होगा।

बहुत सारे मुस्लिमों ने भी मंदिर निर्माण के लिए सहयोग किया

वहीं, ट्रस्ट के सदस्य डॉ। अनिल मिश्रा ने बताया कि डेढ़ लाख टोलियां इस अभियान में शुरू की गई थीं। जिसमें से 46 हजार निधि डिपोजिटर बने हैं। ये लोग अभी तक धनराशि को बैंकों में जमा कर रहे हैं, जिसमें भी समय लग सकता है। कितनी निधि इस अभियान में जमा हुई है? उसका अधिकृत व सही आंकड़ा ट्रस्ट को अभी नहीं मिला है। जमा राशि प्रांत वाइज जमा हो रही है। जिसका पूरा लेखा-जोखा मार्च के अंत तक ट्रस्ट तैयार कर पायागा। बड़ी संख्या में लोगों का जुड़ाव राम मंदिर निर्माण अभियान से हुआ है। साथ ही जाति संप्रदाय पंथ व धर्म की बेड़ियां टूटी हैं। सभी ने राम मंदिर के लिए दान दिया है। जिसमें बड़ी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग भी शामिल हैं।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments