Home देश की ख़बरें राम मंदिर निधिदर्शन अभियान का आज अंतिम दिन, योगदान करने वालों को...

राम मंदिर निधिदर्शन अभियान का आज अंतिम दिन, योगदान करने वालों को लास्ट चांस!


देश भर में अभी राम मंदिर के निर्माण के लिए चंदा एकत्र किया जा रहा है। (फाइल फोटो)

राम मंदिर निधि सम्मान अभियान: श्री राम मंदिर के लिए दुनिया का सबसे बड़ा फंड कलेक्शन अभियान संत रविदास जयंती यानी शनिवार 27 फरवरी को पूर्ण हो रहा है। 44 दिनों तक चले विश्व के सबसे बड़े अभियान-श्री राम मंदिर निधिदर्शन अभियान का उद्घाटन गत मकर संक्रांति अर्थात 15 जनवरी, 2021 को हुआ था। देश की मध्य आबादी को कवर करते हुए 5 लाख गाँव, कस्बों और शहरों में लाखों टीमें चौबीसों घंटे काम कर रही हैं।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:27 फरवरी, 2021, 11:30 पूर्वाह्न IST

नई दिल्ली। अयोध्या में श्री राम मंदिर के लिए दुनिया का सबसे बड़ा धन कलेक्शन अभियान इस संत रविदास जयंती यानी शनिवार 27 फरवरी को पूर्ण हो रहा है। विश्व हिंदू परिषद (विश्व हिंदू परिषद) के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने सभी रामभक्तों से अपील की है कि वे जांच करें कि परिवार का कोई सदस्य, रिश्तेदार, मित्र, पड़ोसी या कारोबारी सहयोगी इस पवित्र कार्य से वंचित तो नहीं हो रहे हैं।

हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हमारे सभी मदद करने वाले हाथ, सहायक कर्मचारी, या वे लोग जो हमारे जीवन को आसान बनाते हैं (यथा ड्राइवर, प्रेसमैन, सफाई कर्मी, नाई, मोची आदि), को भी भगवान श्री राम की जन्मभूमि पर बनना दिव भव्य-दिव्य मंदिर से जुड़ने का यह अनुपम व पवित्र अवसर मिला या नहीं।

अभियान समापन पर दक्षिणी दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि 44 दिनों तक चले विश्व के सबसे बड़े अभियान-श्री राम मंदिर निधिदर्शन अभियान (श्री राम मंदिर निधि अभियान अभियान) का उद्घाटन गत मकर संक्रांति अर्थात 15 जनवरी, 2021 को हुआ था। देश की मध्य आबादी को कवर करते हुए 5 लाख गाँव, कस्बों और शहरों में लाखों टीमें चौबीसों घंटे काम कर रही हैं।

इन स्वयंसेवकों द्वारा प्राप्त स्वैच्छिक योगदान, श्री राम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के SBI / PNB / BOB खातों की स्थानीय शाखाओं में जमा किया जा रहा है। संबंधित रसीद / सीमा संख्या के साथ संग्रह वापस को दैनिक रूप से एक एप के माध्यम से अपडेट किया जा रहा है। इस उपकरण को ट्रस्ट द्वारा विशेष रूप से इसी उद्देश्य के लिए डिज़ाइन किया गया है। बंसल ने कहा कि स्वयंसेवक गाँव-गाँव, घर-घर जाकर लोगों से मिल कर हियरिंगरण करा रहे हैं ताकि कोई भी इससे वंचित ना रहा हो। उन्होंने कहा कि जो लोग किसी कारणवश इस पुण्य कार्य से वंचित रह गए हैं वे सभी हमारे स्थानीय अभियान हैं दल / उनके क्षेत्र के अभियान कार्यालय, विहिप कार्यालय / पदाधिकारियों या अन्य रामभक्तों से संपर्क कर सकते हैं ताकि वे अपना योगदान देकर रसीद / दस्तावेज प्राप्त कर सकें। अभियान का समापन तय समय यानी संत रविदास जयंती यानी 27 फरवरी शनिवार को हो रहा है। लोग वेबसाइट www.vhp.org या @VHPDigital नाम के सैटेलाइट / फेसबुक / इंस्टाग्राम पर भी संपर्क कर सकते हैं।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments