Home उत्तर प्रदेश लखनऊ में प्रधानपति हत्याकांड का खुलासा: मुठभेड़ में दो बदमाश घायल; ...

लखनऊ में प्रधानपति हत्याकांड का खुलासा: मुठभेड़ में दो बदमाश घायल; प्रॉपर्टी डीलर और उसके कुछ लोगों ने भाड़े के बदमाशों से की थी हत्या


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ9 घंटे पहले

यह फोटो लखनऊ की है। मुठभेड़ में घायल होकर जमीन पर गिरा बदमाश।

  • मोहनलालगंज के व्यापार मंडल अध्यक्ष सुजीत की 20 दिसंबर को हत्या हुई थी
  • पुलिस ने घायल दोनों बदमाशों को पहुंचाया ट्रामा सेंटर

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दस दिन पूर्व प्रधान पति और चरित्र नेता सुजीत पांडेय हत्याकांड का पुलिस ने बुधवार को कर दिया। दरअसल, मंगलवार देर रात आशियाना इलाके के नटवा का टीला में बदमाशों के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में दो बदमाश अरुण यादव और श्याम यादव घायल हो गए। जिन्हें ट्रामा सेंटर में भर्ती करवाया गया है। पुलिस के अनुसार, प्रॉपर्टी डीलर मधुकर यादव और उनके दो भाईयों ने बदमाशों को रुपए देकर सुजीत की हत्या कर दी थी।

पुलिस ने श्याम के पास से एक बाइक मुलायम .315 बोर का तमंचा और अरुण के पास से .32 बोर का तमंचा और कारतूस बरामद किया है। पुलिस का कहना है कि 20 दिसंबर को मोहनलालगंज क्षेत्र में व्यापार मंडल अध्यक्ष व प्रधानपति सुजीत पांडे की हत्या में दोनों बदमाशों ने भाड़े पर की थी। पुलिस ने दोनों बदमाशों पर 50-50 हजार का इनाम घोषित किया था।

सर्किलर तीन दिन पहले तेल चोरी के मामले में जेल जा चुका है
हत्या की इनपुट रचने वाले मधुकर यादव और उसके दोनों भाई तीन दिन पहले एक फैक्ट्री से तेल चोरी के मामले में जेल काट चुके हैं। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने मुठभेड़ में शामिल पुलिस टीम को 50 हजार रुपए का पुरस्कार देने की घोषणा की है। एसीपी बीनू पांडेय ने बताया कि उनकी क्राइम टीम की चेकिंग के दौरान बदमाशों से सामना हुआ। पुलिस टीम ने उन्हें रोकने के लिए आवाज दी तो उन लोगों ने तर्थतोड़ फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फायरिंग की। जिसमें दोनों बदमाश गोली लगने से घायल हो गए।

अरुण कुमार यादव (26) पुत्र शिव बालक बंथरा के रायसिंह खेड़ा और श्याम यादव (29) पुत्र रामनरेश यादव मोहनलालगंज के मरुही का रहने वाला है। पुलिस टीम का नेतृत्व इंस्पेक्टर आशियाना केशव तिवारी कर रहे थे। पुलिस टीम में मुख्य रूप से उपनिरीक्षक अनूप सिंह स्ट कांस्टेबल फरीद दर कुदरत ेबल हेड कांस्टेबल सगीर ीप प्रदीप ष मनीष और राहुल शामिल थे।

मुठभेड़ स्थल पर जांच करती पुलिस।

नगर पंचायत का चेयरमैन बनना चाहता था मधुकर

सूत्रों का कहना है कि हत्या की साजिश रचने वाले मधुकर यादव ने ही सील आयल फैक्ट्री से लाखों रुपए कीमत का तेल चोरी करवाया था। इस मामले में वह तीन दिन पहले इस मामले में जेल भेजा जा चुका है। मधुकर का नाम दो साल पहले भी जमीन विवाद के बारे में अशोक यादव की हत्या के मामले में प्रकाश में आया था। बताते हैं कि मधुकर की नजर मोहनलालगंज नगर पंचायत चेयरमैन पद पर है जिसमें जी सुजीत पांडेय उसके लिए रोड़ा साबित हो रहा था।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments