Home उत्तर प्रदेश लखनऊ में वारदात: कुरियर कंपनी में 3 कर्मचारियों को बंधक बनाकर बदमाशों...

लखनऊ में वारदात: कुरियर कंपनी में 3 कर्मचारियों को बंधक बनाकर बदमाशों ने डाका डाला, पांच लाख रुपये नगद लूट कर वहां फरार


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ11 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

यूपी की राजधानी लखनऊ में सोमवार देर रात कुछ बदमाशों ने एक कुटर कंपनी में जमकर लूटपाट की। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

  • लखनऊ के गाजीपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत रविंद्र पल्ली इलाके का मामला

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गाजीपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत देवराज प्राइवेट कंपनी के कार्यालय में आधा दर्जन से ज्यादा बदमाशों ने सोमवार रात को 3 कर्मचारियों को बंधक बनाकर जमकर लूटपाट की। इस दौरान वे पांच लाख नगद लूटकर फरार हो गए। तारों से लैस बदमाशों ने कार्यालय में तोड़फोड़ और कर्मचारियों के साथ मारपीट भी की।

बताया जा रहा है कि बीती रात रवींद्रपल्ली स्थित बिजी बीस लॉजिस्टिक सलुशन प्रा। लि। के कार्यालय में सोमवार देर रात डकैतों ने धावा बोल दिया। मौके पर जावेद सीपी क्राइम ब्लूब्जा चौधरी सहित तमाम अधिकारी पहुंचकर घटना के खुलासे के लिए पुलिस की टीमें लगाई है।

पूरा मामला क्या है
मामला राजधानी लखनऊ के गाजीपुर थाना क्षेत्र में स्थित रविन्द्र पल्ली कॉलोनी का है। सात से आठ बाइक सवार बदमाश कुटर कंपनी में घुसे और वहां के कर्मचारियों को बंधक बनाकर मूलहे के बल पर डकैती की वारदात को अंजाम दिया और लाखों के कैश के साथ-साथ वहां रखे सामान सहित फरार हो गए। कंपनी सुपरवाइजर आलोक दीक्षित के अनुसार पुणे की कंपनी का 15 दिसंबर को रवींद्र पल्ली में कार्यालय खुला है। इससे पहले इंदिरा नगर सी ब्लॉक में कार्यालय था।

सोमवार रात कार्यालय में उनके साथ सहयोगी आलोक सिंह व रवि थे। इसी दौरान अचानक सात बदमाश घुसे और तीनों को मूले की नोंक पर देर रात बंधक बना लिया। विरोध पर कर्मचारियों को जमकर पीटा और कार्यालय में तोड़फोड़ शुरू कर दी।

सुपरवाइजर के मुताबिक कनपटी पर मूलतःहा लगा कार्यालय में रखे गए लगभग पांच लाख रुपये मिल गए। बदमाशों ने समय रहते उनकी पिटाई की। मौके पर पहुंची पुलिस टीम अगल-बगल लगी सीसीटीवी कैमरों की मदद से घटना में शामिल बाइक सवार बदमाशों की तलाश में गई है।]

किसी कर्बी के शामिल होने की आशंका
कार्यालय बदलने के 15 दिन के बाद ही घटना को जिस तरीके से अंजाम दिया गया है। पुलिस और कोरियर कंपनी के तीन लोग यहां रहे हैं। इस घटना में कोई न कोई करीबी व्यक्ति के शामिल आशंका है ल। आखिर उसे कैसे जानकारी थी कि कार्यालय में रात के समय 3 ही कर्मचारी हैं और इतना कैफ रखा हुआ है। वर्तमान में पुलिस सीसीटीवी कैमरों की मदद से आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments