Home उत्तर प्रदेश वाराणसी: महाराष्ट्र और केरल से आने वाले लोगों के टर्मिनल पर निगरानी,...

वाराणसी: महाराष्ट्र और केरल से आने वाले लोगों के टर्मिनल पर निगरानी, ​​कोरोना के नए मामले में वृद्धि से उपस्थिति बढ़ी


कोरोना जांच करती है स्वास्थ्यकर्मी (फाइल फोटो)
– फोटो: पीटीआई

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* केवल ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनकर

महाराष्ट्र और महाराष्ट्र में कोरोनावायरस के नए मामले में बढ़ोत्तरी को लेकर वाराणसी में भी स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा हो गई है। अब ये दो स्थानों से वाराणसी के बाबतपुर स्थित टर्मिनल पर आने वाले यात्रियों की कोरोना जांच की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग की टीम यहां सभी यात्रियों की एंटीजन जांच और लक्षण वाले मरीजों की आरटीपीसीआर जांच करेगी। पगीतिव आने वालों को डॉक्टरों की देखरेख में क्वारंटीन बना जाएगा।

देश में महाराष्ट्र-केरल में भले ही कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन वाराणसी सहित उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों में कोरोना के मामलों में संख्या बहुत कम है। सीएमओ डॉ। वीबी सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर टर्मिनल के साथ ही रेलवे और बस स्टेशन पर आने वाले यात्रियों की सूचना के बारे में भी उनकी निगरानी भी की जाएगी। इसके अलावा जांच की कार्रवाई की जाएगी। सीएमओ ने बताया कि जो भी यात्री दोनों राज्यों से यात्रा कर आते हैं, अगर कोई लक्षण मिलता है तो निकटतम सरकारी अस्पताल में निशुल्क कोरोना जांच करा सकते हैं।

पासपोर्ट पर आने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से एक सप्ताह के लिए होम क्वारंटीन रहना होगा। पॉजिटिव आने पर होम आईसोलेशन या फिर जरूरत के हिसाब से अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। आरटीपीसीआर द्वारा जांच में निगेटिव मिलने के बाद एक सप्ताह तक क्वारंटीन रहना होगा। इधर सीएमओ कार्यालय पर सहायक मलेरिया अधिकारी केके राय ने पासपोर्ट पर कोरोना जांच करने वाली टीम के सदस्यों को पूरी मुस्तैदी के साथ जांच करते रहने की बात कही।

पासपोर्ट पर दो शिफ्ट में स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती होगी

महाराष्ट्र, केरल के अलावा आंतरिक विमान से आने वाले यात्रियों की बाबतपुर स्थित टर्मिनल पर जांच के लिए स्वास्थ्यकर्मियों की तैनाती कर दी गई।]प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बड़कागांव के प्रभारी डॉ। शेर मोहम्मद ने बताया कि यहां जांच दो शिफ्ट में कराई जाएगी। इसके लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगा दी गई है। यहां से सैंपल के बारे में उसकी जांच के लिए मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा भेजा जाएगा।

अगर कोई पाजीटिव आता है तो उसे एअरेंस से अस्पताल भेजा जाएगा। पासपोर्ट पर आने वाले यात्रियों के सामानों का सैनेटाइजेशन कराने के साथ ही बार-बार सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए सूचना प्रसारित कराई जा रही है। डॉ। शेर मोहम्मद ने बताया कि विदेशी यात्रियों की पहले से जांच हो रही है, अगर इस दौरान किसी के द्वारा नियम तोड़ा गया तो महामारी अधिनियम के तहत कारवाई की होगी।

महाराष्ट्र और महाराष्ट्र में कोरोनावायरस के नए मामले में बढ़ोत्तरी को लेकर वाराणसी में भी स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा हो गई है। अब ये दो स्थानों से वाराणसी के बाबतपुर स्थित टर्मिनल पर आने वाले यात्रियों की कोरोना जांच की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग की टीम यहां सभी यात्रियों की एंटीजन जांच और लक्षण वाले मरीजों की आरटीपीसीआर जांच करेगी। पगीतिव आने वालों को डॉक्टरों की देखरेख में क्वारंटीन बना जाएगा।

देश में महाराष्ट्र-केरल में भले ही कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन वाराणसी सहित उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों में कोरोना के मामलों में संख्या बहुत कम है। सीएमओ डॉ। वीबी सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर टर्मिनल के साथ ही रेलवे और बस स्टेशन पर आने वाले यात्रियों की सूचना के बारे में भी उनकी निगरानी भी की जाएगी। इसके अलावा जांच की कार्रवाई की जाएगी। सीएमओ ने बताया कि जो भी यात्री दोनों राज्यों से यात्रा कर आते हैं, अगर कोई लक्षण मिलता है तो निकटतम सरकारी अस्पताल में निशुल्क कोरोना जांच करा सकते हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments