Home ब्लॉग वारेन बफेट ने दी चेतावनी: ओरेकल ऑफ ओहामा ने कहा कि फीडेड...

वारेन बफेट ने दी चेतावनी: ओरेकल ऑफ ओहामा ने कहा कि फीडेड इनकम असेट में निवेश करने वालों का सकारात्मक तनाव है।


  • हिंदी समाचार
  • व्यापार
  • वॉरेन बफे ने कहा कि फिक्स्ड इनकम एसेट्स में निवेश करने वालों का भविष्य अंधकारमय है

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली4 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

निराश इनकम संपत्ति के रूप में बफेट ने पेंशन फंड, इंश्योरेंस डिपार्स और टेल का उदाहरण दिया

  • टेप के बारे में बफेट ने कहा कि 10 वर्षीय यूएस ट्रेजरी टेप काडेल्ड सितंबर 1981 के स्तर से 94% गिर गया है
  • सितंबर 1981 में इटैल्ड 15.8% था, जो 2020 के अंत में घटकर 0.93% के स्तर पर आ गया था

दिग्गज निवेशक वारेन बफेट का मानना ​​है कि नाकाम इनकम असेट्स में निवेश करने वालों का भविष्य अंधकारमय हो सकता है। उन्होंने अपनी कंपनी बर्कलैंड हैथवे के नियमों को लिखा एक पत्र में कहा कि पूरी दुनिया में नाकाम इनकम असेट्स में निवेश करने वालों का भविष्य अंधकारमय है। निराश इनकम संपत्ति के रूप में उन्होंने पेंशन फंड, इंश्योरेंस भंडार और टोकरी का उदाहरण दिया।

चक्र के बारे में उन्होंने कहा कि अभी मीटर में निवेश करने के दिन नहीं हैं। उन्होंने कहा कि आप क्या विश्वास करेंगे कि 10 साल वाले अमेरिकी ट्रेजरी टेप काडेल्ड सितंबर 1981 के स्तर से 94% गिर चुका है। सितंबर 1981 में इटैल्ड 15.8% था, जो 2020 के अंत में घटकर 0.93% के स्तर पर आ गया था।

जर्मनी, जापान जैसे कुछ देशों में सॉवरेन बेल्ट के निवेश पर निगेटिव रिटर्न मिल रहा है

बफेट ने कहा कि जर्मनी और जापान जैसे कुछ देशों में निवेश किए गए निवेशों से लाखों करोड़ों डॉलर पर निगेटिव रिटर्न हासिल कर रहे हैं। वारेन बफेट बर्कलैंड हैथवे के चेयरमैन हैं। उन्हें ओरेकल ऑफ ओहामा भी कहा जाता है। उनके द्वारा कहे जाने वाले हर शब्द को जानने के निवेश से लेकर हैं।

बेहतर कैशफ्लो के कारण बर्कस्टर्स की बीमा कंपनियों के शेयरों में बड़ा निवेश कर पाती हैं

बर्कल्फ हैथवे के बारे में उन्होंने कहा कि कंपनी के कारोबार में सबसे बड़ा योगदान प्रॉपर्टी या कैजुअल्टी इंश्योरेंस के है। 53 साल से यह बर्कलैंड को कोर बिजनेस है। कंपनी की फाइनेंशियल ताकत और नॉन-इंश्योरेंस स्टोरर्स से होने वाले बेहतरीन कैश फ्लो के बल पर बर्कस्टर्स की इंश्योरेंस कंपनियों के शेयरों में भारी भरकम निवेश की स्ट्रैटरीज पर सुरक्षित तरीके से चल सकती हैं। जबकि ज्यादातर इंश्योरेंस कंपनियों के लिए इस स्ट्रैटेजी पर चलना संभव नहीं है। उन कंपनियों को रेगुलेटरी और क्रेडिट रेटिंग जैसे कारणों से टेप पर फोकस करना पड़ता है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments