Home वित्त मंत्रालय ने जारी किया नोटिफिकेशन: कीमती धातु और स्टोन डीलर्स को...
Array

वित्त मंत्रालय ने जारी किया नोटिफिकेशन: कीमती धातु और स्टोन डीलर्स को 10 लाख से ज्यादा की कैश ट्रांजेक्शन का रिकॉर्ड रखना होगा


  • हिंदी समाचार
  • व्यापार
  • कीमती धातु और पत्थर के सौदागरों को 10 लाख और उससे अधिक के नकद लेनदेन का रिकॉर्ड रखना होगा

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली6 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

अभी जेम्स एंड ज्वेलरी सेक्टर में बिना केवाईसी, पैन और आधार के जरिए 2 लाख रुपये तक की कैश ट्रांजेक्शन की अनुमति।)

  • 20 लाख से ज्यादा टर्नओवर वाले डीलर्स पर लागू होगा नया नियम
  • मनी लॉन्ड्रिंग पर रोकथाम के लिए वित्त मंत्रालय ने उठाया कदम

कीमती धातु और स्टोन डीलर्स को अब एक ग्राहक के साथ 10 लाख या उससे ज्यादा की कैश ट्रांजेक्शन का रिकॉर्ड रखना होगा। वित्त मंत्रालय की ओर से नोटिफिकेशन के मुताबिक, 20 लाख रुपए या इससे ज्यादा के टर्नओवर वाले कीमती धातु और स्टोन डीलर और रियल एस्टेट एजेंटों को यह रिकॉर्ड रखने होगा। मनी लॉन्ड्रिंग पर रोकथाम के लिए वित्त मंत्रालय ने यह कदम उठाया है।

पुराने लूपहोल को खत्म करने के लिए उठाया गया कदम

प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) 2002 के मुताबिक अभी जेम्स एंड ज्वैलरी सेक्टर में बिना केवाईसी, पैन और आधार के जरिए 2 लाख रुपए तक की कैश ट्रांजेक्शन की इजाजत है। नांगिया और LLP के डायरेक्टर मयंक अरोड़ा का कहना है कि इस व्यवस्था के लूपहोल को खत्म करने के लिए वित्त मंत्रालय ने यह कदम उठाया है। अरोड़ा के मुताबिक, इस बदलाव के बाद कीमती धातु और स्टोन डीलर्स को 10 लाख रुपये से ज्यादा की सभी कैश ट्रांजेक्शन का रिकॉर्ड में अनंतता मिलेगी।

अप्रत्यक्ष कर बोर्ड करता है निगरानी

अरोड़ा ने बताया कि प्रिवेंशन ऑफ मैन लॉन्ड्रिंग रूल्स 2005 के ताजा बदलावों के बाद केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और कत्र्स बोर्ड को रेगुलेटर नियुक्त किया गया है। इस संबंध में प्रक्रिया बनाने और रियल एस्टेट एजेंटों की ओर से बनाए गए रिकॉर्ड को मेंटेन करने की जिम्मेदारी इसी बोर्ड को दी गई है।

30 दिसंबर तक 4.73 करोड़ आईटीआर फाइल हुई

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने गुरुवार को कहा कि वित्त वर्ष 2019-20 (असेसमेंट इयर 2020-21) के लिए 30 दिसंबर तक 4.73 करोड़ इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल हुए हैं। सरकार ने इंडिविजुअल के लिए ITR की अंतिम तिथि को बढ़ाकर 10 जनवरी 2021 कर दिया है। अभी तक ITR फाइल करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2020 थी कंपनियों के लिए ITR दाखिल करने की अंतिम तिथि 15 फरवरी 2021 हो गई है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments