Home मध्य प्रदेश विधानसभा सदन के अंदर से: वित्त मंत्री ने 1 घंटे 16 मिनिट...

विधानसभा सदन के अंदर से: वित्त मंत्री ने 1 घंटे 16 मिनिट में पढ़े बजट के 44 पेज, पूर्व मंत्री विजयलक्ष्मी साधो, बाला बच्चन टोका-टाकी करते रहे


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भोपाल13 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने 1 घंटे 16 मिनिट में पढ़े बजट के 44 पेज पढ़े। जबकि कमलनाथ सरकार में मंत्री तरुण भनोट का भाषण 48 मिनिट का रहा।

  • कमलनाथ सरकार में पिछले बजट 2019-20 में वित्त मंत्री तरुण भनोट का भाषण 48 मिनिट का रहा
  • बजट भाषण शुरू होने से पहले मुख्यमंत्री ने सदन को सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के निधन की जानकारी दी

शिवराज सरकार के चौथे कार्यकाल का पहला बजट वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने विधानसभा में मंगलवार को पेश किया। वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण के 44 पेज 1 घंटे 16 मिनिट में पढ़े। इस दौरान पूर्व मंत्री विजयलक्ष्मी साधो, बाला बच्चन और पीसी शर्मा ने कई बार टोक कर बजट के आंकड़ों को लेकर टिप्पणियां की। हालांकि अध्यक्ष गिरीश गौतम ने कुछ टिप्पणियाँ सदन की कार्यवाही से विलोपित करते दी।
बता दें कि कमलनाथ सरकार ने पिछले बजट 2019-20 में वित्त मंत्री तरुण भनोट का भाषण 48 मिनिट का था। इसके बाद पिछले वित्तीय वर्ष 2020-21 में कोरोना संक्रमण के कारण सदन में शिवराज सरकार ने बजट पेश नहीं किया था। इसके लिए सरकार को राज्यपाल ने लेखानुदान की अनुमति दी थी।
आज सदन की कार्यवाही शुरू होते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सदन को सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के निधन की जानकारी दी। उन्होंने अनुरोध किया कि चूंकि आज सदन में बजट पेश किया जा रहा है, ऐसे में सदन की कार्रवाई को स्थगित नहीं किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि नंदकुमार सिंह चौहान का अंतिम संस्कार 3 मार्च को उनके गृह जिले में होगा। सदन के कई सदस्य इसमें शामिल होने के लिए जाएंगे। उन्होंने प्रस्ताव रखा कि सदन की कार्यवाही बुधवार को स्थगित रखी जाएगी।
इस पर नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने सहमति देते हुए कहा कि नंदकुमार सिंह चौहान बीजेपी के ही नहीं, बल्कि कांग्रेस के नेताओं के भी संबंध रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरा उनके साथ पारिवारिक रिश्ता रहा है। इसके बाद के अध्यक्ष ने 3 मार्च को बैठक का आयोजन करने की घोषणा कर दी।
इसके बाद जब वित्त मंत्री ने बजट भाषण शुरू किया तो कई विधायक अपने-अपने पत्र के साथ विधानसभा के अधिकारियों के टेबिल पर पहुंच गए। इस पर अध्यक्ष ने आपत्ति ली। देवड़ा के पहले आधे धंटे के भाषण के दौरान कोई व्यवधान पैदा नहीं हुआ, लेकिन जैसे ही उन्होंने केंद्र सरकार की योजनाओं की तारीफ की, विपक्ष की तरफ से पूर्व मंत्री बाला बच्चन ने कटाक्ष कर दिया- राज्य सरकार का बजट है।
महेश्वर के लिए क्यों राशि का प्रावधान नहीं
जब वित्त मंत्री आदिवासी क्षेत्रों के लिए घोषणा कर रहे थे, जब पूर्व मंत्री विजयलक्ष्मी साधो ने महेश्वर के विकास का मुददा उठाते हुए कहा- मंत्री जी महेश्वर के लिए क्यों राशि का प्रावधान नहीं है? हालांकि इसे देवड़ा ने अनसुना किया और उन्होंने भाषण जारी रखा।
बाला बच्चन ने टोका – ये तो बता दे केंद्र से राशि क्यों नहीं मिल रही है
देवड़ा जब केंद्र से मिलने वाली राशि का उल्लेख कर रहे थे, तब पूर्व मंत्री बाल बच्चन ने टोकते हुए कहा- ये तो बता दें कि केंद्र से राज्य के हिस्से की राशि क्यों नहीं मिल रही है? इतना ही नहीं, उन्होंने कहा कि जीडीपी गिरती जा रही है, प्रति व्यक्ति आय घटती जा रही है। इसका जवाब भी दें।
और .. बसपा विधायक रामबाई सदन में घूमती रहीं
बसपा विधायक रामबाई की बजट में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई गई। वे बजट भाषण के दौरान हाथ में कुछ कागजात लेकर कलाकारों की सीट पर बार-बार आते-जाते रहते हैं। हालांकि उन्हें अध्यक्ष ने एक बार जरूर टोका। बावजूद इसके कलाकारों के पास आना-जाना लगा रहा।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments