Home फ़िल्मी दुनिया विशेष बातचीत: 'रूही' में मुरादाबादी एएक्सेंट के लिए प्रिंस राव और वरुण...

विशेष बातचीत: ‘रूही’ में मुरादाबादी एएक्सेंट के लिए प्रिंस राव और वरुण शर्मा ने 3 महीने की प्रैक्टिस, होमटाउन गोली-मोहाललों के युवकों के साथ बिचारित और संवेदनशील


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई29 मिनट पहलेलेखक: अमित कर्ण

  • कॉपी लिस्ट

हिंदी फ़िल्मों की कहानियों में अब हार्टलैंड क्षेत्रों से आ रही हैं। ऐसी में हूर-हुरिन अब फिल्मों में लोकल अवधी हरियाणवी, बुंदेलखंडी जैसे एएक्सेंट में बोलते नज़र आते हैं।) 11 मार्च को रिलीज हो रही जाहरवी कपूर स्टारर फिल्म ‘रूही’ में भी मुरादाबाद और आसपास के इलाकों के टोन का इस्तेमाल किया गया है। इसके लिए वरुण शर्मा और राजकुमार राव ने तीन महीने तक प्रैक्टिस की। उन्होंने मुरादाबादी एएक्सेंट सीखने के लिए होमटाउन गोली-मोहल्लालों के युवकों के साथ वतन को भी रोका था।

राजकुमार ने पूरी फिल्मम में तुतला कर बोला, जाह्नवी भी हकलाती बनी रही
दैनिक भास्कर से विशेष बातचीत में वरुण शर्मा ने कहा, “फ़िल्मम से जुड़े गौतम का घर मेरे घर से पास में ही था। ऐसे में हम एक दूसरे के घर 2 से 3 महीने तक आते आते रहेंगे। मुरादाबाद के आसपास के एएक्सेंट – मैंने सीखा है राजकुमार राव ने तब इसके अलावा तुतला कर भी पूरी फिल्मम में बोला है। जाहरवी कपूर का नान्चटर भी डरते सिचुएशन में हकलाने लग जाता है। इतना ही नहीं हम अपने होमटाउन भी गए। वहां मोहम्मदलों के युवकों के साथ काफी व प्रभावशाली बिचार था। “

वरुण शर्मा ने कहा, “फिल्म ‘रूही’ के शूट के दौरान भी कई रोमांचक वाक्य हुए। रुड़की में शूट का पहला दिन था। हम तीनों कलाकार अपने-अपने किरदारों को लेकर थोड़ा नर्वस भी थे। ऊपर से वहां शूट देखने वाले पांच लोगों और लोगों ने की भीड़ इकट्ठा हो गई थी। ऐसे में हम और डर गए थे। बाद में जब भीड़ ने हमारी हौसला अफजाई की, तब जाकर हम तीनों में आकृतमविश्यवास का संचार हुआ। फिर सिंध टेक में सीन फिल्माए जाने लगे। “

जाह्नवी ने डबल रोल को सेम शेड्यूल में ही प्रीली किया
वरुण ने फिल्म के लिए जाह्रवी की मेहनत बयां करते हुए कहा, उनके कंधों पर दो किरदार निभाने का भार था, दोनों ही एक दूसरे से अलग। उन्हें रूही और अफ़जा दोनों का रोल अलग-अलग नहीं, बल्ली सेम शेड्यूल में ही पहले ही किया गया। यह एक्टर के लिए बहुत ही चुनौतीपूर्ण काम होता है। वह इसलिएए कि एक घंटे पहले आप रूही पीले कर रहे थे और उसके अगले ही पल अफजा। दोनों किरदारों की शक्कीन में एक ही मोमेंट पर आना-जाना बहुत मुशकिल से भरा काम है। “

दोनों किरदारों को सेम टाइम पर प्रीली करने की मजबूरी भी थी
वरुण ने कहा, “दोनों किरदारों को सेम टाइम पर ही पेल करने की मजबूरी भी थी। उन्होंने इसलिए कि जो भी लोकेशन थे, वहां रूही और अफजा दोनों के ही सीन थे। एक पल में जाह्नवी को नॉर्मल लड़की पल्ले करने होती थी। वहाँ दूसरे ही पल उन्हें भूत बनना होता था। रूही को हम दोनों अलग-अलग तरीकों से देखते और सही करते थे। वहीं अफ़जा को अलग तरीके से देखते थे। “

अफजा वाले रोल में थावी वीएफएएक्स
वरुण ने कहा, “विशेष रूप से अफजा के सीन में काफी वीएफएएक्स था। अफजा पीले करने की बारी आती थी, तो सेट पर वीएफएएक्स वालों का हुजूम जमा हो जाता था। बॉडी पर मार्क्‍स लगते थे। आसपास ग्रीन शोकेस सूरत में होते थे। चेहरे पर मार्किंग होती है। था। ऐसे में अफजा के लिए जाह्नवी को काफी इमेजिन करना पड़ता था कि वेन अपना मूवमेंट बहुत कंट्रोल में रखते हैं। ताकि बाद में पोस्ट प्रोडक्शन के बाद जब जोनल प्रोडक्टट बनेगा, तो उसमें अफजा की सुपरनचुरल पावर कन्विंसिंग लगी। “

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments