Home खेल जगत विश्व चैयरमैन की दास बनीं डीएसपी: असम मुख्यमंत्री के सामने अपॉइंटमेंट लेटर...

विश्व चैयरमैन की दास बनीं डीएसपी: असम मुख्यमंत्री के सामने अपॉइंटमेंट लेटर और परामर्श मिला, श्री ने कहा- एथलेटिक्स करियर नहीं छोडूंगी


  • हिंदी समाचार
  • खेल
  • असम पुलिस में भारतीय स्प्रिंटर हिमा दास डीएसपी सीएम सर्बानंद सोनोवाल हिमा दास पुलिस बने

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दिसपुर4 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

शिव दास ने कहा- मेरा बचपन से ही पुलिस बनने का सपना था। स्कूल टाइम में मैं हमेशा यही सोचती थी कि एक दिन पुलिस ऑफिसर बनूंगी। मेरी माँ भी यही सपना देखती थीं।

भारतीय स्टारनर ने दास को डिप्टी सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस (डीएसपी) नियुक्त कर दिया है। शुक्रवार को असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के सामने उन्हें अपॉइंटमेंट लेटर और वर्दी मिली। इस पर मौसम ने कहा कि उनके बचपन का सपना पूरा हो गया है। उन्होंने कहा कि वे एथलेटिक्स करियर की नहीं छोड़ेंगे।

फरवरी में असम सरकार की कैलकुलेटर ने स्पोर्ट्स दास सहित स्पोर्ट्स कोटे से क्लास -1 और क्लास -2 के लिए कई अधिकारियों को नियुक्त किया था।

अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित हो चुके हैं
वर्ष को 2018 में अर्जुन अवॉर्ड मिल गया है। 20 साल की एथलीट श्री दास का पिछले साल का खेल रत्न के लिए नॉमिनेट किया गया था। हालांकि, उन्हें यह अवॉर्ड नहीं मिल गया था।

ट्रैक इवेंट में गोल्ड जीतने वाली देश की पहली एथलीट
मौसम ने 2018 में अटलांटा में हुई -20 विश्व एथलेटिक्स रैंकिंग की 400 मीटर रेस में गोल्ड जीता था। वे ट्रैक इवेंट में ऐसा करने वाली देश की पहली एथलीट बनीं थीं। उन्होंने 51.46 सेकंडेंड में यह रेस पूरी की थी।

बचपन का सपना पूरा हुआ
श्री ने कहा, ‘मेरा बचपन से ही पुलिस बनने का सपना था। स्कूल टाइम में मैं हमेशा यही सोचती थी कि एक दिन पुलिस ऑफिसर बनूंगी। मेरी माँ भी यही सपना देखती थीं। माँ ने मुझे बचपन में दुर्गा पूजा के दिन एक खिलौने वाली तोप खरीदकर दी थी। उन्होंने कहा था कि बड़े होने के नाते असम में एक अच्छी पुलिस अधिकारी बनना और लोगों की रक्षा करना। ‘

जकार्ता एशियन गेम्स में भी गेम्स ने गोल्ड जीता था

साल ने 2018 के जकार्ता एशियन गेम्स के 4×400 मीटर मिक्स्ड रिले में सिल्वर जीता था लेकिन गोल्ड जीतने वाली टीम पर डोपिंग की वजह से बैन लगने पर गोल्ड इंडियन टीम को मिला। वहीं, महिलाओं की 4×400 रिले रेस में भी उन्होंने स्वर्ण पदक जीता।

2019 में भी उन्होंने कामयाबी का यह सिलसिला बरकरार रखा। एक महीने के भीतर ही मौसम में अलग-अलग इंटरनेशनल इवेंट्स में 5 जीबी जीत थे।

  • 2 जुलाई, 2019: घरों ने तोल में हुई पलिंगन एथलेटिक्स ग्रां प्री के 200 मीटर इवेंट में 23.65 सेकेंड का समय निकालते हुए गोल्ड।
  • 7 जुलाई, 2019: 5 दिन बाद ही उन्होंने कुटोनो एथलेटिक्स मीट के 200 मीटर इवेंट में गोल्ड जीता। घरों ने यह रेस 23.97 सेकेंड में पूरी की।
  • 13 जुलाई, 2019: इसके बाद उन्होंने चेक रिपब्लिक में हुई कक्षाओंडॉ एथलेटिक्स मीट के 200 मीटर इवेंट में भी गोल्ड जीता। इस बार उन्होंने 23.43 सेकंडेंड का समय निकालते हुए रेस जीती।
  • 17 जुलाई, 2019: घरों में टेबोर एथलेटिक्स मीट में भी 200 मीटर रेस का गोल्ड जीता। उन्होंने 23.25 सेकंडेंड का वक्त निकाला।
  • 20 जुलाई, 2019: उन्होंने चेक रिपब्लिक में हुई प्रतियोगिता के 400 मीटर इवेंट में 52.09 सेकंड का वक्त निकालते हुए गोल्ड जीता।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments