Home कैरियर वेलेंटाइन डे के दिन 200 में बिकने वाले गुलाब के बिजनेस से...

वेलेंटाइन डे के दिन 200 में बिकने वाले गुलाब के बिजनेस से करें लाखों की कमाई, यहां जानें सबकुछ


नई दिल्ली. आज वेलेंटाइन डे (Valentine’s Day) है. इस दिन प्रेम करने वाले अपने का इज़हार करते हैं. वेलेंटाइन डे के दिन प्रेमी एक-दूसरे को गुलाब का फूल भेंट करते हैं. आम दिनों में 5 रुपये में बिकने वाले गुलाब, वेलेंटाइन डे के दिन 200 रुपये का हो जाता है. वेलेंटाइन डे और अन्य समारोहों में फूलों की मांग को देखते हुए यहां कमाई का मौका बना है. फूलों के व्‍यापार को शुरू करने के लिए न्‍यूनतम 15,000 से 20,000 रुपए की आवश्‍यकता होती है. आप चाहें तो यह व्‍यापार बड़े पैमाने पर भी कर सकते हैं. अगर आप फूलों को बेचने के लिए शोरुम खोलना चाहते हैं तो लागत 2 से 3 लाख रुपये तक जा सकती है. जिसके अंतर्गत आप फर्नीचर, इंटीरियर आदि के हल्‍के, फुल्‍के काम करा सकते हैं, हालांकि एक साधारण स्‍थान से यह व्‍यापार अधिकतम 20,000 रुपये तक में शुरू किया जा सकता है.

इस व्‍यापार में लाभ बहुत ही जल्‍दी प्राप्‍त होता है. आप फूल मंडी से थोक के भाव में फूल खरीद कर उससे बुके, माला आदि बना कर बेचें, तो आप को दुगना-तिगुना लाभ होता है. यदि आप खुदरे फूल पर 1,000 रुपये खर्च करते हैं तो आपको उन फूलों से माला आदि बनाकर बेचने पर 2,500 से 3,000 रुपये तक का फायदा होता है. आपका व्‍यापार जितना अधिक चलेगा उतना अधिक मुनाफा आपको प्राप्‍त होगा. ये भी पढ़ें: इधर बिजली चोरी की उधर घर पर आ जाएगी पुलिस, होगी रियल टाइम मॉनिटरिंग

यहां कर सकते हैं बिजनेसआप अपने फूलों का व्‍यापार मंदिर के बाहर के दुकानों, बुके स्‍टाल, डेकोरेटर आदि के साथ मिलकर कर सकते हैं. आप चाहें तो एक होल सेलर के रुप में इन दुकानों और डेकोरेटर को अपना फूल दे कर व्‍यापार कर सकते हैं. आप अपने फूल व्‍यापार को एक वेबसाइट बना कर प्रमोट कर सकते हैं. आप इस वेबसाइट में सब तरह के बुके, फूल, अलग-अलग तरह की मलाओं के डिजाइन अपडेट करके ग्राहकों का दिल जीत सकते हैं.

गुलाब की खेती भी है फायदेमंद
बेरोजगारी के जमाने में आज गुलाब की खेती बहुत आसान है और युवाओं, किसानों के लिए बेहद मुनाफेदार. किसानों से लेकर ग्राहक के हाथों तक पहुंचने की पूरी प्रक्रिया में दुकानों की कमाई सबसे अधिक होती है. उनका मार्जिन अक्‍सर 40 फीसदी के आसपास होता है. किसानों को एक गुलाब की कीमत 50 पैसे से लेकर 2-3 रुपए तक ही मिलती है. किसान फूल तो उगाते हैं, लेकिन वे अक्‍सर इन्‍हें गिनकर नहीं बेचते. छोटे किसानों के लिए ऐसा करना संभव भी नहीं होता. ट्रेडर उनका पूरा खेत ले लेते हैं. फिर आधुनिक उपकरणों से उसकी कटिंग, पैकिंग और मंडियों तक पहुंचाने का काम स्वयं करते हैं. ये भी पढ़ें: पहली बार रेलवे देगा घर से सीट तक सामान पहुंचाने की खास सर्विस! यहां जानें

जो किसान ये काम अपने स्तर पर करने लगे हैं, उनकी भारी कमाई हो रही. कटिंग के बाद फूलों को सुरक्षित रखना सबसे बड़ी चुनौती होती है, क्‍योंकि ये जल्‍दी खराब हो जाते हैं. ट्रक या हवाई जहाज से उतारने के बाद इन्‍हें कोल्‍ड स्‍टोरेज में रखा जाता है. पैक फूल को सात-आठ दिन रखना जरूरी होता है. कटने के बाद सिर्फ रिटेल शॉप पर ही ये ऑपन में दिखते हैं. गुलाब की बिक्री, बिजनेस का आधार मानवीय भावनाएं हैं. यही वजह है कि जिसे कोमल भावनाओं की परख होती है, वह इस बिजनेस में अच्‍छा पैसा कमा लेता है. छोटे वेंडर लगभग हर दिन एक हजार रुपए तक कमा लेते हैं. बड़े वेंडर का तो कहना ही क्‍या. अच्‍छे मार्जिन की वजह से बड़ी संख्‍या में लोग इस बिजनेस में आ रहे हैं.

ये भी पढ़ें: जानिए क्यों नहीं मिल रहे 1.16 करोड़ किसानों को PM-किसान स्कीम के ₹6000





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments