Home उत्तर प्रदेश संत रविदास जयंती और माघ पूर्णिमा को लेकर वाराणसी में उच्च प्रदर्शन,...

संत रविदास जयंती और माघ पूर्णिमा को लेकर वाराणसी में उच्च प्रदर्शन, घाटों से लेकर हाईवे तक सतर्कता


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* सिर्फ ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनता है

संत रविदास जयंती और माघ पूर्णिमा को लेकर वाराणसी में उच्च अभिव्यक्ति घोषित की गई है। इसके मद्देनजर गंगा घाटों से लेकर डाफी बाईपास तक पुलिस को अतिरिक्त सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है। साथ ही, स्थानीय अभिसूचना इकाई और इंटेलिजेंस ब्यूरो की अलग-अलग टीमें अपने स्तर से माहौल पर नजर रखे हुए हैं।

माघ पूर्णिमा पर गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं का हुजूम शुक्रवार की देर रात से ही गंगा घाटों की सीढ़ियों पर उमड़ने लगा था। इसके मद्देनजर गंगा में जल पुलिस और 11 एनडीआरएफ की तीन टीम तैनात की गई है। वहीं, शनिवार को संत रविदास जयंती के मद्देनजर सीरगोवर्धनपुर स्थित मंदिर में श्रद्धालुओं का रेला उमड़ने के साथ ही कई दर्शन भी मत्था टेंकने आएंगे। इसके अलावा जिले के अलग-अलग स्थानों से झांकियां सीरगोवर्धनपुर स्थित संत रविदास मंदिर आएगी।

डॉग स्क्वायड और बम निरोधी दस्ते ने चप्पा चप्पा खंगाला

संत रविदास की जयंती की पूर्व संध्या पर शुक्रवार को एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी के साथ एसएसपी अमित पाठक ने मंदिर, सत्संग स्थल, लंगर, पंडालों और सेवादारों के स्थान के साथ आसपास के इलाके का निरीक्षण किया। इससे पहले डॉग स्क्वायड और बम निरोधी दस्ते ने भी पूरे क्षेत्र का चप्पा-चप्पा खंगाला। ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों और पीएसी के जवानों को एसएसपी ने कहा कि भीड़ का दबाव मंदिर और उसके आसपास नहीं बढ़ना चाहिए।

मेला क्षेत्र में यातायात की स्थिति सामान्य रही और पुलिस की नजर एक-एक व्यक्ति पर रही। जो कोई भी योग्य प्रतीत हो उसे हस्तक्षेप में देरी न की जाए और अगर कहीं लावारिस सामग्री दिखे तो उस स्थान को खाली करा कर डॉग स्क्वायड व बम निरोधी दस्ता से तत्काल चेकिंग कराई जाए। सुरक्षा और सतर्कता में किसी भी स्तर पर लापरवाही करने के साथ ही ड्यूटी पॉइंट से गायब रहने वाले पुलिसकर्मी प्रकरण विभागीय कार्रवाई की जद में आएंगे।
175 महिला-पुरुष आरक्षी और कपड़ों में तैनात किए गए

सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर संत रविदास मंदिर क्षेत्र में 175 महिला-पुरुष पुलिसकर्मी और कपड़ों में भी तैनात किए गए हैं। यह पुलिसकर्मी भीड़ के बीच रह कर लोगों की गतिविधियों पर नजर रखेगा। आग से सुरक्षा के लिए दमकल की गाड़ियों के साथ अग्निशमन कर्मी तैनात हैं। वहीं, डाफी, छितूपुर और लौटूबीर की ओर से रावदास मंदिर की ओर किसी भी प्रकार के वाहन के श्रवण पर पाबंदी लगाई गई है।

बीएचयू के छात्रों की गतिविधियों पर पुलिस की नजर
संत रविदास जयंती पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सीरगोवर्धनपुर संगी। बीएचयू के मुख्य गेट बंद कर धरने पर बैठे छात्रों को बलपूर्वक शुक्रवार की सुबह ही रोक दिया गया है। ऐसे में धरना-प्रदर्शन में सभी छात्रों की गतिविधियों पर पुलिस निगरानी कर रही है। पुलिस को आशंका है कि सपा अध्यक्ष और कांग्रेस महासचिव के आगमन के दौरान खुद को सुर्खियों में लाने के लिए छात्र कहीं फिर ना धरना-प्रदर्शन शुरू कर दें। इसके मद्देनजर बेचानू गेट और हॉस्टल लेन पर पुलिस को निरंतर चक्रमण करते रहने का निर्देश दिया गया है।

संत रविदास जयंती और माघ पूर्णिमा को लेकर वाराणसी में उच्च अभिव्यक्ति घोषित की गई है। इसके मद्देनजर गंगा घाटों से लेकर डाफी बाईपास तक पुलिस को अतिरिक्त सतर्कता बरतने का निर्देश दिया गया है। साथ ही, स्थानीय अभिसूचना इकाई और इंटेलिजेंस ब्यूरो की अलग-अलग टीमें अपने स्तर से माहौल पर नजर रखे हुए हैं।

माघ पूर्णिमा पर गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं का हुजूम शुक्रवार की देर रात से ही गंगा घाटों की सीढ़ियों पर उमड़ने लगा था। इसके मद्देनजर गंगा में जल पुलिस और 11 एनडीआरएफ की तीन टीम तैनात की गई है। वहीं, शनिवार को संत रविदास जयंती के मद्देनजर सीरगोवर्धनपुर स्थित मंदिर में श्रद्धालुओं का रेला उमड़ने के साथ ही कई दर्शन भी मत्था टेंकने आएंगे। इसके अलावा जिले के अलग-अलग स्थानों से झांकियां सीरगोवर्धनपुर स्थित संत रविदास मंदिर आएगी।

डॉग स्क्वायड और बम निरोधी दस्ते ने चप्पा चप्पा खंगाला





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments