Home मध्य प्रदेश सत्ता के आगे पुलिस दंडवत: जबलपुर में सांसद के भतीजे के साथ...

सत्ता के आगे पुलिस दंडवत: जबलपुर में सांसद के भतीजे के साथ मारपीट, देर रात तक चली हंगामा, 100 पर एफआईआर, सो रही 82 छात्राओं को उठा ले गई पुलिस


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जबलपुर5 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

रात में इस तरह पुलिस छावनी बना रही है

  • पूर्व मिस्सी सदस्य के समर्थकों की गुंडागर्दी में एक प्रोफेसर सहित कई छात्र भी घायल, दहशत में सभी भागे-भागे आ रहे हैं।

सत्ता के आगे पुलिस पूरी तरह से जबलपुर पुलिस पूरी तरह दंडवत हो गई है। दरअसल मामला बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह के भतीजे व भांजे से मारपीट का जो था। बीजेपी पदाधिकारियों के साथ पुलिस ने पूरी रात वेटरनरी कॉलेज के हास्टल कैंपस में तांडव मचाया। कमरे में सो रहे 82 छात्र और प्रशिक्षण के लिए रुके लोगों को उठा ले गए।

इसमें से ज्यादातर को पता भी नहीं था कि उन्हें किस तह में पुलिस ले जा रही है। भीषण ठंड में खमरिया के थाने में सभी को रखा गया। सांसद के भतीजे तनिष्क राज सिंह की शिकायत पर वटोरनरी के स्कॉलर छात्र डॉ। नरेंद्र सिंह तोमर सहित 100 के खिलाफ सिविल लाइंस में धारा 294, 279, 323, 324, 365, 336, 337, 337, 147, 148, 149 और 506 भादवि का प्रकरण दर्ज हो गया।

ऐसे पूर्ण हो चुके विषय-वस्तु

  • रात 10.30 बजे तनिष्क, भाई आयुष, दोस्त प्रखर और उसकी मां के साथ कार से निकले थे
  • रात 10.45 बजे सर्किट हाउस क्रमांक दो के सामने उनकी कार में डॉ नरेंद्र सिंह तोमर की कार से टक्कर हुई
  • रात 11.20 बजे तक तीनों ने मिलकर नरेंद्र के साथ मारपीट की, उसे लड़के ने बनाया।
  • रात 11.30 बजे नरेंद्र के साथी वेटरनरी कॉलेज से पहुंच गए और तनिष्क, आयुष से मारपीट की
  • रात 11.45 बजे पूर्व मिस्सी सदस्य कमलेश अग्रवाल सहित समर्थकों ने कैम्पस में घुसकर गुंडई की।
  • रात 12.00 बजे सेट से कॉल कर शहर के सभी टीआई, सीएसपी, एएसपी को बुलाया गया। एसपी भी पहुंचे।
  • रात 1.30 बजे बीजेपी के युवा संगठन सहित अन्य विंग के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बुलाया गया।
  • रात 2.30 बजे तक पूरे परिसर की सर्चिंग कर 82 छात्रों को पुलिस वाहनों में सुरक्षा के बीच खमरिया थाने ले जाया गया।
  • रात 3.45 बजे मामले में सिविल लाइंस थाने में नरेंद्र सहित 100 पर अपहरण, बलवा सहित विभिन्न प्रवाह में एफआईआर दर्ज हुई।
  • दोपहर 12.00 तक सभी हिरासत में लिए गए 82 छात्रों को वहीं खमरिया में रखा गया है। पुलिस का दावा है कि सभी से पूछताछ की जा रही है।
  • दोपहर 12.30 बजे 79 छात्रों की संलक्षणता नहीं मिलने पर छुट्टी दी गई। तीन छात्रों से इंटर पास है।
डॉ नरेंद्र सिंह तोमर की कार

डॉ। नरेंद्र सिंह तोमर की कार

ये पूरा मामला था
सांसद राकेश सिंह के सगे भाई लेखराज सिंह का बेटा तनिष्क राज सिंह 12 वीं का छात्र है। 18 वर्षीय तनिष्क रविवार रात फुफेेरे भाई आयुष सिंह, दोस्त प्रखर द्विवेदी की कार में उसकी मां के साथ सर्किट हाउस नंबर दो के सामने से निकल रहे थे। उसी दौरान उनकी कार में वटोरनरी कॉलेज के स्कॉलर शिवपुरी निवासी डॉ। नरेंद्र सिंह तोमर की कार एमपी 20 सीएफ 5493 से टक्कर लग गई। आरोप है कि सांसद के भतीजे, भांजे और उसके दोस्त ने नरेंद्र के साथ मारपीट की और उसे मुर्गी बनाने का एक ठेला पकड़ा दिया।

डॉ की कार में ब्रेकफोड़ के बाद टूटे कांच

डॉ की कार में ब्रेकफोड़ के बाद टूटे कांच

वेटरनरी कॉलेज के छात्रों को बुलाया
नरेंद्र ने वेटरनरी कॉलेज के दोस्तों को बुलाया। ई-दस की संख्या में पहुंचे छात्रों ने तनिष्क और आयुष की पिटाई कर दी। मारपीट की खबर पाकर मिस्सी सदस्य कमलेश अग्रवाल, अमित अग्रवाल सहित 20-25 लोग बेस-बॉल के साथ वटोरनरी कॉलेज कैम्पस में प्रवेश कर गए। वहाँ छात्रों के साथ-साथ रोकने पहुंचे प्रोफेसरों की भी पिटाई कर दी। ये सब कुछ पुलिस की मौजूदगी में हुआ। हंगामा बढ़ा तो एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा और नाइट ड्यूटी में उपलब्ध शहर के सभी टीआई व थाने के बल को बुलाया गया।

कैम्पस में पूरी रात इस तरह पुलिस के वाहन आते रहते हैं

कैम्पस में पूरी रात इस तरह पुलिस के वाहन आते रहते हैं

कैम्पस में चप्पे-चप्पे की खोज
सांसद के भतीजे व भांजे के साथ मारपीट की खबर को बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया गया। तनिष्क ने एफआईआर में दावा किया है कि डॉ नरेंद्र तोमर सिंह और उनके दोस्तों ने उन्हें अगवा कर दूर तक ले गए और मारपीट की। यही कारण है कि पुलिस ने मामले में बलवा के साथ अपहरण की धाराएं भी दर्ज की है। पुलिस ने देर रात तक वेटनरी कॉलेज कैम्पस में चप्पे-चप्पे की तलाशी की। हास्टल के कमरों में सो रहे 82 छात्रों को अपराधियों की तरह खींच कर उठा लिया गया। सभी को तीन वाहनों में भरकर आगे-पीछे पुलिस के कई वाहनों के पहरे में 15 किमी दूर खमरिया थाने ले गए।

फोन कर इस तरह से बीजेपी कार्यकर्ताओं को बुलाया गया

फोन कर इस तरह से बीजेपी कार्यकर्ताओं को बुलाया गया

थाने में अमानवीय हरकत
वेटनरी कॉलेज के 82 छात्रों को वहां अपराधियों की तरह पुलिस ने फर्श पर बिठा दिया। जबकि इसमें से ज्यादातर को वारदात के बारे में पता तक नहीं है। दोपहर साढ़े 12 बजे तक पूछताछ के नाम पर पुलिस खमरिया थाने में ही रोके रहे। इसके बाद 79 छात्रों को छोड़ दिया गया। तीन से जारी है। पुलिस की इस बर्बरता से वेटनरी कॉलेज के छात्रों में दहशत फैल गई है। पूरे कैम्पस में सन्नाटा पसरा हुआ है। कैंपस में रात भर पुलिस की सर्चिंग के चलते वहां रहने वाले प्रोफेसर सहित अन्य कर्मचारियों के परिजन व बच्चे तक दहशत में हैं।

लाल जैकेट में कमलेश अग्रवाल व चेहरे में एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा

लाल जैकेट में कमलेश अग्रवाल व चेहरे में एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा

पथराव में इनको आई.आई.
सांसद के भतीजे के साथ मारपीट के बाद कैम्पस में घुसकर मारपीट करने पहुंचे मिस्सी सदस्य कमलेश अग्रवाल के समर्थकों में अमित अग्रवाल, आशीष पासी, आयुष को चोटें आई हैं। तनिष्क को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि चिकित्सकों ने उसे मामूली चोट बताई है। विवाद के बाद मौके पर फोन कर बीजेपी के पदाधिकारियों और समर्थकों को एकत्र किया गया। डॉ की कार को भी निशाना बनाया गया। पुलिस ने क्रेन बुलायाकर कार को वहां से अलग बनाया। इस दौरान वहाँ से गुजरने वाले राहगीरों के साथ भी समर्थकों ने मारपीट की।

रात में पुलिस ने इस तरह घेराबंदी की

रात में पुलिस ने इस तरह घेराबंदी की

अब बीजेपी की ओर से ये संशोधन आई
बीजेपी की तरफ से जय सचदेवा ने सोशल मीडिया में एक शेयर जारी की है। इसमें बताया गया कि विवाद भांजे आयुष से हुआ। उसके बुलाने पर तनिष्क वहाँ पहुँचे। वेटनरी ड्रक्शन में धुत था। उन्होंने प्रखर की कार में दो-तीन ठेलों में भी टक्कर मारी। फिर दोस्तों को बुलाकर मारपीट की। तनिष्क को गाड़ी में बिठाकर रिज रोड तक ले जाया गया। इसके बाद पुलिस पहुंची तो छोड़कर भागे।

सांसद राकेश सिंह का भतीजा तनिष्क जिसके साथ मारपीट हुई

सांसद राकेश सिंह का भतीजा तनिष्क जिसके साथ मारपीट हुई

विवाद न हो, इस कारण बल बुलाना पड़ा

घायल तनिष्क सिंह की शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया गया। विवेचना जारी है। 79 छात्रों को बयान के बारे में छोड़ दिया गया। कुछ पन्ही से पूछताछ की जा रही है। अभी तक दूसरे पक्ष से कोई आवेदन नहीं आया है। यदि होगा तो वैधानिक कार्रवाई होगी। विवाद के बाद मौके पर बीजेपी के कार्यकर्ता एकत्र होने लगे थे। विवाद अधिक न बढ़े, इस कारण मैं स्वयं और सिटी के अन्य थानों का बल बुलाना पड़ा था।

सिद्धार्थ बहुगुणा, एसपी, जबलपुर





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments