Home मध्य प्रदेश सहारा इंडिया की मुश्किल बढ़ी: सहारा इंडिया की 101 एकड़ से अधिक...

सहारा इंडिया की मुश्किल बढ़ी: सहारा इंडिया की 101 एकड़ से अधिक भूमि कुर्क, निवेशकों के 12 करोड़ से अधिक लौटाएंगे


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सागर31 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

कलेक्टर दीपक सिंह ने भारत की संपत्ति कुर्क करने के आदेश जारी किए हैं।

  • कलेक्टर ने क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी के मामले में दिए आदेश

सहारा क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड की 101 एकड़ से अधिक जमीन कुर्क की गई है। साथ ही, अन्य चल रहे कंपाउंड अधिकारियों की कुर्की का आदेश कलेक्टर दीपक सिंह ने सोमवार को दिया है। देवरी के निशांत पिता निर्मल जैन व अन्य विरुद्ध सहारा क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड मामले में परीक्षण करते हुए कलेक्टर ने यह आदेश दिया।

जमीन को नीलामी के बाद मिले पैसों से निवेशकों के 12 करोड़ से अधिक की राशि लौटाई जाएगी। आदेश में कहा गया है, 15 दिन में एसडीएम आवेदन तैयार कर जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वारान्हित विशेष न्यायालय के समक्ष आगे की प्रक्रिया के तहत प्रस्तुत किया जाता है।

निवेशकों से 24 लाख कराए जमा किए गए थे

सहारा इंडिया ने 10 सेक्टर से लगभग 24 लाख 42 हजार 471 रुपए जमा कराए थे। इनका भुगतान करने वालों को नहीं किया गया। सागर, देवरी, रहली, बांदा और बीना से लगभग 10 अधिकारियों ने इसकी अलग-अलग शिकायतें की। कंपनी ने इनमें से सिर्फ नर्मदा पति जमुना प्रसाद अहिरवार के भुगतान की जानकारी दी, शेष शिकायतकर्ताओं के भुगतान के संबंध में जानकारी नहीं दी गई। इसके बाद यह कार्रवाई की गई है।

इन लोगों ने शिकायत की

देवरी में सहारा इंडिया लिमिटेड के संबंध में एसडीएम को दो शिकायतें प्राप्त हुई थीं। इनमें निशांत पिता निर्मल जैन ने कंपनी में 1 लाख 65 हजार और महाकाली वार्ड निवासी मुकेश कुमार चौरसिया ने 95 हजार रुपए का निवेश किया। वहीं, रहली के वार्ड नंबर -3 निवासी कैलाश सिंह ठाकुर व अन्य चार लोगों ने भी कंपनी में 2 लाख 30 हजार 900 रुपए निवेश किया था।

तहसीलदार व टीआई करेंगे कुर्की की कार्रवाई

कलेक्टर ने तहसीलदार और मोतीनगर थाना टीआई को कंपनी की चल-अचल संपत्ति कुर्क करने के आदेश दिए हैं। कहा गया है कि कंपनी की संपत्ति खुर्द-बुर्द न हो, इसका ध्यान रखें। साथ ही, कुर्क की गई चल-अचल संपत्ति का विस्तृत भंडारा, लेखा एवं विवरण पंजीर रखेंगे। उक्त संपत्ति का बिक्री व दान या विनिमय अंतरित करने पर रोक लगाई गई है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments