Home तकनीक और ऑटो सह-विन एप्स में वैक्सीन पंजीकरण: क्या तरीका और ज़रूरी डाक्युमेंट्स है?

सह-विन एप्स में वैक्सीन पंजीकरण: क्या तरीका और ज़रूरी डाक्युमेंट्स है?


1 मार्च से देश भर में कोविद -19 के खिलाफ टीकाकरण (कोरोनोवायरस के खिलाफ टीकाकरण) का दूसरा चरण शुरू होगा, जिसमें 60 साल से ज्यादा उम्र और गंभीर बीमारियों से पीड़ित 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। इसी दिन से सरकार ने वैक्सीन को ट्रैक करने (वैक्सीन ट्रैकिंग) और इसके लिए पंजीकरण करने के लिए सह-विन एप्स की घोषणा भी की, जिसे सह-विन 2.0 भी कहा जा रहा है। भारत में टीकाकरण की प्रक्रिया (टीकाकरण प्रक्रिया) की निगरानी समान उपकरण और पोर्टल के ज़रिये की जा रही है। जिन लोगों को वैक्सीन के दोनों शूट मिल जाएंगे, उन्हें सह-विन पोर्टल या फिर आरोग्य सेतु उपकरण से को विभाजित -19 सर्टिफिकेट मिल जाएगा।

16 जनवरी से शुरू होने वाले टीकाकरण कार्यक्रम के तहत पहले एयरलाइन हेल्थ वर्करों को वैक्सीन दी गई और अब दूसरा चरण शुरू किया जा रहा है। वर्तमान में सह-जीत के ज़रिए टीकाकरण को लेकर कुछ बातें स्पष्ट हैं, लेकिन इस पोर्टल के पैनल के चेयरमैन आरएस शर्मा से न्यूज़ 18 ने विशेष बातचीत करते हुए इसके बारे में ज़रूरी बातें समझीं।

ये भी पढ़ें: इन 5 बड़ी वजहों से पाकिस्तान FATF की ग्रे लिस्ट में बरकरार है

भारत में वैक्सीन के लिए कैसे करें रजिस्टर?1 या 2 मार्च से पात्र व्यक्ति स्वयं ही पंजीकरण कराएगा। शर्मा के मुताबिक लोग सीओ-विन एप्स, आरोग्य सेतु एप्स या फिर को-विन की वेबसाइट (काउइन.जीओ.इन) पर जाकर पंजीकरण करवा सकते हैं। शर्मा ने यह भी बताया कि जब तक इस तरह के पंजीकरण सिस्टम की लोकप्रियता नहीं बढ़ रही है, तब तक लोग व्यक्तिगत तौर पर पंजीकरण भी करवा सकते हैं।

ये भी पढ़ें: क्या है 160 रुपये लीटर वाला 100 ऑक्टेन गैसोल, इसके फायदे क्या हैं?

एप्स पर अपलोड्स होंगे।

पंजीकरण के लिए कौन से कागजात जरूरी हैं?
सरकार ने यह साफ किया है कि अपने मोबाइल नंबर के ज़रिये आप जब पंजीकरण करेंगे, तब ओटीपी मिलेगा। इसी तरह ओजी से आपका पंजीकरण संभव होगा। पंजीकरण के दौरान आपको नाम, उम्र, लिंग और एक पहचान पत्र का विवरण देना होगा और यही पहचान पत्र वैक्सीन केंद्र पर मौजूद होगा। जो लोग 45 साल से अधिक उम्र के हैं, उन्हें पंजीकरण के दौरान अपनी गंभीर स्वास्थ्य स्थिति संबंधी मेडिकल सर्टिफिकेट भी अपलोड करना होगा।

ये भी पढ़ें: डॉ। राजेंद्र प्रसाद की चली जाती है, तो 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस नहीं होता है!

लोग क्या कर सकते हैं पंजीकरण?
सह-जीत एप पर परिवार के चार सदस्यों का पंजीकरण हो सकता है। यह भी बताया गया है कि जो आरोग्य सेतु उपकरण वर्तमान में उपलब्ध है, उसके ज़रिए भी इसी तरह के ही फायदे मिलेंगे। इस एप में हाल ही में, कॉइन सेक्शन जोड़ा गया है, जो यूज़र्स को वैक्सीन संबंधित सर्टिफिकेट आदि की जानकारी और आंकड़े देगा। आपके मोबाइल में यदि लंबे समय से यह एप है, तो आप इसे अपडेट या नए सिरे से डाउनलोड कर सकते हैं।

सह-विन से जुड़ी और बातें क्या हैं?
पिछले साल इस एप की घोषणा करते हुए सरकार ने कहा था कि एयरलाइन हेल्थ वर्करों के अलावा नागरिक इस एप के पंजीकरण मॉड्यूल से ही वैक्सीन के लिए रजिस्टर करेंगे। पंजीकरण में दी गई जानकारी को ए डामिन ट्रैक और प्रमाणित इच्छा। यानी को-विन एप्स आपकी दी हुई जानकारी को वेरिफाई करने के बाद आपको वैक्सीन दिए जाने के डिटेल बता देंगे। यूज़र्स को इस बारे में मैसेज मोबाइल नंबर पर मिलेगा।

ये भी पढ़ें: इन लीडरों के नाम पर रखे गए चर्चित खेल मैदानों के नाम थे

जैसे ही आपका टीकाकरण पूरा होगा, क्यूआर कोड एक सर्टिफिकेट भी आपको दे दिया जाएगा। यही नहीं, रिपोर्ट मॉड्यूल में ये बदलाव भी रहेंगी कि कितने लोगों को वैक्सीन दी जा रही है और कितने लोग ड्रॉप आउट हो रहे हैं।

क्या सह-जीत ही इकलौता माध्यम है?
नहीं है। जो लोग तकनीक का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं या फिर स्मार्ट फोन का इस्तेमाल नहीं करते हैं, वे बिल्कुल 1507 नंबर डायल कर केंद्र पर बातचीत कर सकते हैं। इसके बाद वह अपने नज़दीकी केंद्र में जाकर वैकेंसी होने की स्थिति में खुद को वैक्सीन के लिए रजिस्टर करवा सकते हैं।

कोविद -19 वैक्सीन पंजीकरण, कोविद -19 वैक्सीन केंद्र, कोरोना वैक्सीन पंजीकरण, कोरोना वैक्सीन केंद्र, कोविड -19 वैक्सीन पंजीकरण, कोरोना वैक्सीन पंजीकरण, कोरोना वैक्सीन केंद्र, कोविद -19 वैक्सीन केंद्र

हर ज़रूरी वैक्सीन अपडेट के लिए ये लॉग करें न्यूज़ 18।

क्या आप वैक्सीन का चयन करेंगे?
शर्मा ने एक इंटरव्यू में साफ तौर पर बताया कि सह-विन एप्स के ज़रिए लोग केवल वैक्सीन की तारीख और वैक्सीन का चयन करेंगे। यह नहीं चुना जा सकेगा कि आप कौन सी वैक्सीन लगवाना चाहते हैं। यह भी गौरतलब है कि इस एप पर 45 साल से ज्यादा उम्र के गंभीर रोग ग्रस्त लोगों के लिए और कौन सीटिन होगा, फिर भी यह स्पष्ट नहीं किया गया है।

वैक्सीन की कीमत क्या होगी?
कई प्राथमिक अस्पतालों को भी COVID-19 वैक्सीन सेंटरों के तौर पर सर्टिफिकेट दिया गया है और बताया गया है कि प्रति वैक्सीन शॉट कोई अस्पताल 250 रुपये से ज्यादा चार्ज नहीं कर सकेगा। सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त दी जाएगी।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments