Home उत्तर प्रदेश सांसद पुत्र पर हमला का मामला: शादीशुदा लड़की से सांसद के बेटे...

सांसद पुत्र पर हमला का मामला: शादीशुदा लड़की से सांसद के बेटे ने की थी शादी, घरवाले विवेक न हुए तो रह रहे थे अलग, चार लोगों को फंसाने के लिए चलवाई खुद पर गोली


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ27 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

मोहनलाल गंज से सांसद कौशल किशोर ने कहा है कि जांच के बाद पुलिस को उचित कार्रवाई करनी चाहिए। जो भी दोषी हो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

  • पुलिस के सामने आदर्श ने बताया कि आयुष ने कहा था कि तुम गोली चला दो बाकी मैं सब कुछ देख लूंगा

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे मोहनलाल गंज से भाजपा सांसद कौशल किशोर के बेटे आयुष पर मंगलवार रात हमला किए जाने की सूचना मिली। हमले में आयुष गोली लगने से घायल हो गए। घटना के समय आयुष के साले आदर्श के मौजूद होने की वजह से पूरा मामला पुलिस को संदिग्ध लगने लगा। पुलिस की पाठय पड़ताल में यह बात सामने आई है कि सांसद पुत्र आयुष ने शादीशुदा लड़की से प्रेम विवाह किया घरवाले जब सहमति नहीं हुई तो वह अलग रहने लगा था।

सांसद पुत्र आयुष पर आख़िर हमला किसने किया और क्यों किया, जब इसकी जांच की गई तो यह बात सामने आई कि चार युवकों को फंसाने के लिए सांसद के बेटे आयुष ने खुद पर साले से हमला करवाया था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चार युवकों से पैसे को लेकर कोई विवाद नहीं था।

करीब एक साल पहले किया था विवाह

कौशल किशोर सांसद के बेटे आयुष ने एक साल पहले शादी की थी। पुलिस की जांच में भी यह बात सामने आई है कि, सांसद के बेटे आयुष ने प्रेम विवाह किया था जिसकी वजह से वह घर के अलग रहते थे, क्योंकि इस शादी से परिवार वाले सहमति नहीं थे इसलिए आयुष अपनी पत्नी के साथ घर से अलग रहे। रहा था।

सांसद बोले- हम चाहते हैं कि पुलिस जांच कर उचित कार्रवाई करे

सांसद कौशल किशोर ने कहा कि, मेरे से बेटे का कोई विवाद का मैटर नहीं है। उन्होंने अपनी मर्जी से शादी कर ली थी, वह लड़की पहले से शादीशुदा है और उन्हें बड़ी भी है। उन्हें हम सबने मना किया तो बेटे आयुष ने कहा कि आपने नहीं मानेंगे तो हम ख़ुद कर लेंगे। तब हम लोगों ने कहा कि ठीक है। तुम अलग रहो। हम लोगों ने कोई भी मतलब बात नहीं हैं। हम लोगों का कोई पारिवारिक विवाद नहीं था। अगर उसने ऐसा किया है। खुद पर गोली क्यों चल रही है, तो उसने ऐसा क्यों किया है। इसकी जांच होनी चाहिए।

सांसद ने कहा कि, मेरी मुलाकात भी अस्पताल में हुई थी। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद उसने बताया कि मैं घर जा रहा हूं लेकिन अभी तक घर नहीं पहुंचा है। कहां गए अभी भी नहीं बताया गया है कौशल किशोर का कहना है कि, कोई भी निर्दोष नहीं फंसना चाहिए, एक बार पुलिस अपनी तरह से जांच कर ले। फिर जो बातें सामने आईं उसका आधार पर तहरीर दी जाएगी।

कहा कि हम चाहते हैं कि कोई भी निर्दोष नहीं फंसे इसलिए तहरीर नहीं दी जाती। जैसे जांच हो जाएगी तहरीर दी जाएगी। पुलिस जांच करें जैसा चाहेगी वैसा जांच करेगी। सांसद ने कहा कि, मैंने अपने बेटे से हॉस्टल में पुलिस के सामने बात की, लेकिन उसने बताया कि किसने गोली चलाई मैं नहीं मनाता हूं। अगर उसने ऐसा किया है, उसका साला आदर्श जो कह रहा है कि वह सही है तो उसकी गलती है जो पुलिस उस पर उचित कार्यवाही करती है।

पुलिस के सामने क्या बोला आयुष का साला आदर्श
मोहनलालगंज भाजपा सांसद कौशल किशोर के बेटे आयुष के साले आदर्श ने बताया कि, वह हमें ऐसे बोले थे कि चार-पांच लोग हैं, जिनको फंसाना हैं। जिसमें चंदन गुप्ता, मनीष जायसवाल प्रदीप कुमार सिंह और कोई है उसका नाम याद नहीं हैं। उसने कहा था कि, तुम गोली चला दो, आगे मैं सब समझ लूंगा।

कौन है? सांसद कौशल किशोर
कौशल किशोर मोहनलालगंज लोकसभा से तीसरे बार 2019 में सांसद चुने गए। वह महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, और पार्टी के पूर्व एससी विंग के राज्य अध्यक्ष हैं। वह पार्टी के प्रभावशाली नेता हैं और उन्हें सामाजिक न्याय के मुद्दों से संबंधित अपनी सक्रियता के लिए राष्ट्रव्यापी मान्यता प्राप्त है। सांसद कौशल किशोर की पत्नी जया देवी मलिहाबाद विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। उनके चार बेटे में मझले बेटे आकाश किशोर की किडनी फेल होने की वजह से मौत हो गई थी, एक पुत्री भी है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments