Home उत्तर प्रदेश साइबर इकोनमिक फ्रॉड केस: यूपी एटीएस की महाराष्ट्र और तेलांगाना में छापेमारी,...

साइबर इकोनमिक फ्रॉड केस: यूपी एटीएस की महाराष्ट्र और तेलांगाना में छापेमारी, चाइनीज ठगों का एक और साथी प्रशांत पोटली गिरफ्तार


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

प्रशांत से एटीएस लखनऊ में हस्तक्षेप करेगा। संभावना है कि अब इस समूह के बारे में और महत्वपूर्ण बदलाव सामने आएंगे। बता दें कि इस फ्रॉड केस का 17 जनवरी को खुलासा हुआ था।

  • महाराष्ट्र में अब्दुल रज्जाक नाम का आरोपी भागने में सफल रहा, उसके ठिकाने से महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुआ
  • प्रशांत पोटली को दलित रिमांड पर लेकर लखनऊ लाया जा रहा है, चीनी नागरिकों ने इन दोनों आरोपों के नाम कबूले थे

उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधी दस्ता (एटीएस) ने साइबर इकोनमिक फ्रॉड केस में तेलंगाना से प्रशांत पोटली नाम के आरोपी को गिरफ्तार किया है। जबकि एक अन्य आरोपी अब्दुल रज्जाक अब्दुल नबी मेमन की महाराष्ट्र में तलाश चल रही है। रज्जाक के घर पर एटीएस ने छापेमारी कर अहम दस्तावेज बरामद किए हैं। लेकिन वह फरार होने में कामयाब रहा। एक महीने पहले गिरफ्तार तीन चाइनीज आरोपियों ने पूछताछ में दोनों आरोपियों के नाम उजागर किए थे। रज्जाक व प्रशांत मिलकर गुरुग्राम में एक होटल का संचालन कर रहे थे और बालनीज ठगों को राहत दे रखी थी।

बुचनपल्ली से पकड़ा गया प्रशांत पोटली

एटीएस अफसरों के मुताबिक प्रशांत पोटली को तेजंगाना के विकाराबाद जनपद के मरपल्ली थाना क्षेत्र के बुचनपल्ली से गिरफ्तार किया गया है। उसके घर से लाखों के साइबर इकोनॉमिक फ्रॉड केस से संबंधित महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए हैं। किस टीम ने अपने कब्जे में लिया है। उसे लखनऊ में लाया जा रहा है। इससे पहले महाराष्ट्र के Thom में अब्दुल रज्जाक अब्दुल नबी मेमन के घर भी छापा मारा गया। लेकिन वह भाग रहा था। अब्दुल के घर से भी टीम ने दस्तावेज बरामद किए हैं। दोनों के खिलाफ देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के भी सबूत मिले हैं।

दोनों आरोपी बालनीज ठगों से जुड़े हुए थे। प्रशांत से एटीएस लखनऊ में हस्तक्षेप करेगा। संभावना है कि अब इस समूह के बारे में और महत्वपूर्ण बदलाव सामने आएंगे। बता दें कि इस फ्रॉड केस का 17 जनवरी को खुलासा हुआ था। इसके बाद नोएडा से चीनी नागरिक टेंगली उर्फ ​​ली टंगे ली (महिला) और जू जुंफी उर्फ ​​जुलाही (पुरुष) की गिरफ्तारी हुई।

बाएं से- अब्दुल रज्जाक और प्रशांत पोटली।

बाएं से- अब्दुल रज्जाक और प्रशांत पोटली।

ऑफ़लाइन खाता खोलने कर ठगी थे

इस साम्राज्य ने यूपी के कई जिलों में फर्जी दस्तावेजों के जरिए प्रीएक्टिवेटेड सिम हासिल किया था। चीन के नागरिक नागरिक ऐसेट सिम हरियाणा, NCR में कई होटलों के मालिकों को उपलब्ध करना था। इसके बाद कई ऑफलाइन बैंक खाते खोले गए। फिर आपराधिक गतिविधियों से प्राप्त धनराशि को उन खातों में डालकर कुछ ही समय में कार्डलेस ट्रांसजेक्शन कर लेते थे। ये पैसों का किस काम में प्रयोग हुआ है, इसकी जांच चल रही है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments