Home फ़िल्मी दुनिया सुप्रीम कोर्ट की शरण में कंगना रनोट: मुंबई में दर्ज 3 क्रिमिनल...

सुप्रीम कोर्ट की शरण में कंगना रनोट: मुंबई में दर्ज 3 क्रिमिनल केस शिमला ट्रांसफर की वादियों, कहा- मुंबई में शिवसेना नेताओं से जान का खतरा।


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

8 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

एक अन्य मामले में कर्नाटक हाईकोर्ट ने कंगना रनोट के खिलाफ जांच पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है।

मुंबई में दर्ज 3 आपराधिक मामलों को लेकर कंगना रनोट और उनकी बहन रंगोली चंदेल ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। उन्होंने गुजराती की है कि इन तीनों मामलों को मुंबई, महाराष्ट्र से शिमला, हिमाचल प्रदेश ट्रांसफर कर दिया जाए। कंगना के वकील नीरज शेखर ने हवाला दिया है कि मुंबई में केस चल रहा है तो शिवसेना के नेता बदले की भावना से रनोट बहनों का कटल करवा सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट से उनकी याचिका पर सुनवाई की तारीख वर्तमान में मुकर्रर नहीं की गई है।

पहला केस संगीतकारकार जावेद अख्तर की मानहानि का

कंगना ने सुप्रीम कोर्ट जाने का कदम तब उठाया जब जावेद अख्तर के मानहानि केस में मुंबई की अंधेरी मेट्रोपॉलिटिन मजिस्ट्रेट कोर्ट ने सोमवार को उनके खिलाफ जमानती वारंट जारी किया। यह वारंट इसलिए जारी किया गया, क्योंकि कंगना बार-बार बुलाने के बावजूद पुलिस स्टेशन में इंटर नहीं हो रही हैं। कोर्ट ने अब कंगना को पुलिस के सामने नई होने के लिए 22 मार्च तक का समय दिया है।

जावेद अख्तर ने नवंबर 2020 में कंगना के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। जावेद अख्तर का आरोप है कि कंगना ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद उनका नाम बॉलीवुड की गुटबाजी में घसीटा। साथ ही ऋतिक रोशन के मामले में जो आरोप लगाए गए उनकी (जावेद अख्तर) छवि खराब हुई है।

दिसंबर 2020 में अंधेरी मेट्रोपॉलिटिन मजिस्ट्रेट कोर्ट ने जुहू पुलिस से कहा था कि जावेद अख्तर की शिकायत की जांच होगी। इसके बाद पुलिस ने 1 फरवरी 2020 को अदालत में रिपोर्ट दे दी। कहा गया कि शिकायतकर्ता (जावेद अख्तर) के आरोप की और जांच की आवश्यकता है।

दूसरा केस वकील अली काशिफ खान ने दर्ज कराया था

कंगना ने राजद्रोह के उस मुकदमे को भी शिमला ट्रांसफर करने की मांग की है, जो उनके और उनकी बहन के खिलाफ मुंबई के वकील अली काशिफ खान देशमुख ने दर्ज कराई है। 4 महीने पहले अंधेरी मजिस्ट्रेट कोर्ट में अपनी शिकायत में देशमुख ने एक्ट्रेस पर दो धार्मिक समुदायों के बीच विद्रोह और मनमुटाव पैदा करने का आरोप भी लगाया था।

देशमुख ने अपनी शिकायत में लिखा था कि एक्ट्रेस के अंदर देश की विविधता और कानून का सम्मान नहीं है। यहां तक ​​कि वे न्यायपालिका का भी मजाक उड़ाती हैं। बांद्रा कोर्ट ने एफआईआर के आदेश दिए तो कंगना रनोट ने ‘पप्पू सेना’ टर्म का इस्तेमाल करते हुए न्यायपालिका के खिलाफ दुर्भावनापूर्ण और अपमानजनक ट्वीट किया।

तीसरे केस फिटनेश ट्रेनर ने दर्ज कराया था

चार महीने पहले ही तीसरी केस कास्टिंग डायरेक्टर और फिट ट्रेनर साहिल अशरफ अली सैयद ने दर्ज कराई थी। उनकी याचिका पर सुनवाई के बाद बांद्रा कोर्ट ने एक्ट्रेस के खिलाफ एफआईआर का आदेश दिया था। साहिल अशरफ अली सैयद ने एक्ट्रेस और उनकी बहन रंगोली चंदेल पर बॉलीवुड में धर्म के नाम पर फूट डालने का आरोप लगाया था।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments