Home ब्लॉग स्पेक्ट्रम ऑक्शन: नीलामी में पहले दिन जियो ने सबसे ज्यादा 50000 करोड़...

स्पेक्ट्रम ऑक्शन: नीलामी में पहले दिन जियो ने सबसे ज्यादा 50000 करोड़ रुपये खर्च किए, आज सभी टेलीकॉम कंपनी के स्टॉक में तेजी है


  • हिंदी समाचार
  • व्यापार
  • Jio मई स्पेक्ट्रम स्पेक्ट्रम की 1 दिन में 42,000 से 50,000 करोड़ रु; एयरटेल, वीआई, आरआईएल ने नीलामी के दिन 2 पर शेयर किए

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली16 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • स्पेक्ट्रम नीलामी में एयरटेल और वोडाफोन आइडिया भी शामिल हुईं
  • पहले दिन के एयरटेल ने 25,000 करोड़ रुपए की बोली लगाई

स्पेक्ट्रम नीलामी के छठे दौर की बोली सोमवार, 1 मार्च से शुरू हो गई है। नीलामी के पहले दिन 77,146 करोड़ रुपए की बोली आई हैं। इसमें रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने बोलियां लगाई हैं। ब्रोकरेज के मुताबिक, रिलायंस जियो 4 जी स्पेक्ट्रम नीलामी के पहले दिन सबसे ज्यादा बोली लगाई गई है। उन्होंने 42,000 करोड़ रुपये से 50,000 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। वहीं, भारती एयरटेल ने 25,000 करोड़ रुपये की बोली लगाई।

इसमें 3.92 लाख करोड़ रुपये मूल्य के 2,251.25 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को नीलामी के लिए रखा गया है। नीलामी में मोबाइल सेवा के लिए 7 फ्रीक्वेंसी बैंड 700 मेगाहर्ट्ज, 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज, 2300 मेगाहर्ट्ज, और 2500 मेगाहर्ट्ज को शामिल किया गया।

स्पेक्ट्रम नीलामी के कारण टेलीकॉम शेयरों में तेजी आई
स्पेक्ट्रम की नीलामी आज दूसरे दिन भी जारी है। ऐसा माना जा रहा है कि आज के बाद ये ऑक्शन खत्म हो जाएगा। मंगलवार की सुबह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और रिलायंस जियो के पार्टनर रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में तेजी देखने को मिली। बीएसई पर एयरटेल के शेयर 0.6% उछाल के साथ 535.65 रुपये, वीआई के शेयर 0.5% उछाल के साथ 11.12 रुपये और आरआईएल के शेयर 0.7% उछाल के साथ 2116 रुपये पर पहुंच गए थे।

स्पेक्ट्रम नीलामी के पहले दिन ये साफ हो गया है कि टेलीकॉम कंपनियों ने बोली लगाने में ओवरस्पीड दिखाई नहीं। स्पेक्ट्रम में नीलाम किया जा रहा है लगभग एक तिहाई स्पेक्ट्रम 700 मेगाहर्ट्ज बैंड में है, जो 2016 की नीलामी के दौरान पूरी तरह अनसोचे जा रहा था।

2016 में 7 कंपनियों में शामिल हुए थे
2016 में हुई स्पेक्ट्रम नीलामी में 7 कंपनियों ने बोली लगाई थी। तब कुल क्वांटिटी के 41% स्पेक्ट्रम ही ब्लूम हुए थे। ये स्पेक्ट्रम की कुल वेल्यू का 12% ही था। 2016 में वोडाफोन और आईडिया अलग-अलग कंपनी थी। अब ये वि बन चुके हैं। वहीं, 2021 में सिर्फ 3 कपंनियां बोली लगा रही हैं। इसमें कुल क्वांटिटी के 37% स्पेक्ट्रम ब्लूम किए जाएंगे। ये स्पेक्ट्रम की कुल वेल्यू का 19% है।

टेलीकॉम मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बताया कि यह स्पेक्ट्रम नीलामी मुख्य रूप से 4 जी सेवा के विस्तार को ध्यान में रखकर किया जा रहा है। इस स्पेक्ट्रम नीलामी से ग्राहकों को पहले के मुकाबले बेहतर सेवाएं मिल पाएंगी।

700 और 2500 मेगाहर्ट्ज बैंड के लिए बोली शुरू नहीं हुई
टेलिकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पहले दिन 77,146 करोड़ रुपये के स्पेक्ट्रम की बोली शुरू हुई, लेकिन प्रीमियम 700 और 2500 मेगाहर्ट्ज बैंड में एयर इंडिया के लिए कोई लेने वाले नहीं मिले। उन्होंने कहा कि नीलामी मंगलवार को जारी रहेगी। बोलियां 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज और 2300 मेगाहर्ट्ज में मिलीं। किसी भी कंपनी ने 700 मेगाहर्ट्ज और 2500 मेगाहर्ट्ज बैंड के लिए कोई बोली नहीं लगाई है।

स्पेक्ट्रम की वेलिडिटी 20 साल
इस नीलामी में हासिल स्पेक्ट्रम की वेलिडिटी 20 साल की होगी। सेंट्रल सेक्टर की टेलीकॉम कंपनियों रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए 13,475 करोड़ रुपये की पूंजी अर्नेस्ट मनी डिपोजिट (EMD) जमा कराई है। इसमें जियो ने 10,000 करोड़ रुपये, एयरटेल ने 3,000 करोड़ रुपये और वोडाफोन आईडिया ने 475 करोड़ रुपये का EMD पास किया है।

विश्लेषकों का मानना ​​है कि इस बार की नीलामी कम महत्वपूर्ण है। रेडियो फीड्स के लिए बोली की रेंज 30,000 करोड़ रुपए से 50,000 करोड़ रुपए तक है, जो इसकी डिजिट 3.92 लाख करोड़ रुपए के करीब है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments