Home ब्लॉग 100% परिवारों तक पहुंची LPG कनेक्शन: 2 साल में 1 करोड़ और...

100% परिवारों तक पहुंची LPG कनेक्शन: 2 साल में 1 करोड़ और लोगों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन देने की योजना बन रही है


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली4 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

सरकार ऐसी योजना बना रही है, जिसके के तहत उपभोक्ता को अपने आसपास के तीन डीलर्स से सिलेंडर हासिल करने की सुविधा मिलेगी, फिर भी उपभोक्ता सिर्फ एक डीलर से ही सिलेंडर ले सकते हैं

  • लोगों की पहचान साबित करने के लिए न्यूनतम डॉक्यूमेंट पर ही एलपीजी कनेक्शन मिल संभव है
  • उपभोक्ता जिस पते पर गैस सिलेंडर लेना चाहते हैं, वहाँ का निवास प्रमाण पत्र जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी

सरकार अगले दो साल में एक करोड़ लोगों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन देने की योजना बना रही है। इसके साथ ही रसोई गैस सिलेंडर हासिल करना आसान बनाया जाएगा। इन कदमों के सहारे सरकार को देश में लगभग 100% परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन मिल जाने की उम्मीद है।

पेट्रोलियम सचिव तरुण कपूर ने रविवार को कहा कि योजना पर काम चल रहा है कि लोगों को पहचान साबित करने लायक न्यूनतम डॉक्यूमेंट पर ही एलपीजी कनेक्शन मिल सकेगा। उपभोक्ता जिस पते पर गैस सिलेंडर लेना चाहते हैं, वहां का निवास प्रमाण पत्र जमा करने की जरूरत न हो। इसके साथ ही योजना के तहत उपभोक्ता को अपने आसपास के तीन डीलर्स से सिलेंडर हासिल करने की सुविधा मिलेगी। अभी उपभोक्ता केवल एक डीलर से ही सिलेंडर ले सकते हैं।

इस साल बजट में उज्ज्वला योजना के तहत एक करोड़ और लोगों को एलपीजी गैस कनेक्श देने की घोषणा हुई थी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल बजट पेश करते हुए अर्ज्वला योजना के तहत एक करोड़ और लोगों को एलपीजी गैस कनेक्शनक्श देने की घोषणा की थी। गरीबी रेखा से नीचे जीवन गुजारने वाले लोगों को प्रधानमंत्रीजला योजना के तहत घरेलू रसोई गैस का कनेक्शन दिया जाता है। अब तक बड़ी संख्या में महिलाएं इस योजना से लाभान्वित हुई हैं।

सरकार का अनुमान है कि केवल लगभग 1 करोड़ लोग एलपीजी कनेक्शन के दायरे से बाहर रह गए हैं

कपूर ने कहा कि सिर्फ चार वर्षों में गरीब महिलाओं के घरों में रिकॉर्ड आठ करोड़ मुफ्त एलएमपी कनेक्शन दिए गए हैं, जिससे देश में एलो उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 29 करोड़ हो गई है। सरकार ने अनुमान लगाया है कि अब केवल लगभग 1 करोड़ लोग बचे रह गए हैं। एक करोड़ और लोगों को एलपीजी कनेक्शन मिल जाने के बाद देश में लगभग 100% परिवार तक एलपीजी गैस की सुविधा मिल जाएगी।

एलपीजी से कोयले के मुकाबले लगभग आधा ही होता है

कोयले से जितना कार्बन प्रदूषण होता है, उसके मुकाबले एलपीजी से लगभग आधा कार्बन प्रदूषण होता है। उज्ज्वला योजना से पहले सीखने में घरेलू और आसपास के प्रदूषण से होने वाली मौतों में भारत का योगदान दूसरा सबसे ज्यादा था। उन्होंने कहा कि अब ऐसी योजना बनाई जा रही है कि ग्राहक जिस पते पर सिलेंडर मंगाएंगे, वहां का निवास प्रमाणपत्र देना जरूरी नहीं है। लोग यदि कुछ समय के लिए भी किसी दूसरे शहर में जाएंगे, तो वहां भी सिलेंडर हासिल कर लेंगे।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments