Home वूमेन ख़बरें 2020 में ये 5 शादियां बनीं मिसल: शादी का खाना जरूरतमंदों में...

2020 में ये 5 शादियां बनीं मिसल: शादी का खाना जरूरतमंदों में बांटा, जीरो वेस्ट शादी किया और ब्राइडल ड्रेस के तौर पर पैंटसूट पहनकर दिया पॉवरफुल होने का संदेश


  • हिंदी समाचार
  • महिलाओं
  • बॉलीवुड
  • शादी के रद्द होने के बाद, खाद्य जरूरतमंदों के बीच वितरित किया गया था, शून्य पश्चिम विवाह और पर्यावरण के अनुकूल कार्ड मुद्रित किए गए थे।

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

9 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • संजना डिफरेंट ब्राइडल ड्रेस से चर्चा में बनी रही और अपने पावरफुल होने का संदेश दिया
  • केरल के मुहम्मद जेजम और अलमास अहमद ने अपनी शादी में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन का संदेश दिया

महामारी के बीच जहां कई लोग मिसाल बने, वहीं कई ऐसे विवाह समारोह का आयोजन भी हुआ जिससे सीखने को मिला। देश-विदेश में संपन्न इन शादियों ने हमें बहुत कुछ सीखा। कहीं जीरो वेस्ट थीम का आयोजन लोगों को पर्यावरण बचाने का संदेश दे गया तो कहीं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन शादी के दौरान भी बखूबी हुआ।

शादी का खाना ज़रूरतमंदों को बांटा
महामारी के बीच अमेरिका के इलिनॉइस में रहने वाले एक कपल ने अपनी शादी कैंसिल कर दी। इस कपल ने शादी के लिए आलीशान अरेंजम पहले ही कर रखे थे। उन्होंने अपनी कैटरिंग के लिए दिए गए पैसों को वापिस लेने के बजाय इसके लिए 200 जरूरतमंदों को खाना खिलाया। उन्होंने जो फ़ूडपैक बांटे, उसमें टर्की, मैशड पोटैटोज, स्टफिंग, ग्रीन बीन्स, क्रेनबेरी सॉस, फ्रिज और कुकीज को रखा।

इंदौर के कपल का जीरो वेस्ट विवाह
वर्तमान में जो शादी चर्चा में है, वह इंदौर में आयोजित जीरो वेस्ट विवाह है। इंदौर आईआईटी से जालंधर के इंजीनियर रोहित अग्रवाल और इंटीरियर डिजाइनर पूजा गुप्ता ने जीरो वेस्ट विवाह किया। यहां कागज के बजाय ई-कार्ड बांटे गए। दो दिन चलने वाले इस विवाह समारोह में 40 किलो गीता निकली जिसे विवाह समारोह स्थल पर ही खाद में बदल दिया गया। इस शादी के डेकोरेशन में ऐसी कोई सामग्री नहीं लगाई गई जिससे उसमें निकले।

ईको फ्रेंडली कार्ड से पर्यावरण बचाने का प्रयास
2018 बार के भारतीय ट्रैफिक सेवा के अधिकारी शशिकांत कोरावथ ने अपनी शादी में मेहमानों को आमंत्रित करने के लिए ग्रीन वेडिंग कार्ड छपवाए। उन्हें सीड पेपर से बनाया गया। अगर इस कार्ड के टुकड़ों को जमीन में बो दिया जाए तो इससे तीन अलग-अलग तरह की वैरायटी वाले फूल और पौधे उगाए सकते हैं। शशिकांत ने बताया कि शादी के कार्ड को देखने के बाद लोग इसे फेंक देते हैं। इससे प्रदूषण बढ़ता है और पर्यावरण को नुकसान होता है। इसलिए हमें अपने प्रयास से पर्यावरण से बचना चाहिए।

सिखाई सोशल डिस्टेंसिंग
केरल के मुहम्मद जेजम और अलमास अहमद ने पहले निकाह किया और फिर वे अपने घर के बाहर फूलों के आर्च के नीचे खड़े हो गए। ऐसे परिजन और दोस्त जो निकाह का हिस्सा नहीं बन पाए थे, उनके लिए घर के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग वाला रिसेप्शन रखा गया था। इसके तहत उनके दोस्त और करीबी घर के बाहर दो मिनट के लिए अपनी कार रोकते हैं, उन्हें जीत देते हैं और कुछ फोटो क्लिक करके चले जाते हैं। दूल्हा-दुल्हन ने मेहमानों से कहा कि वे कार से न उतरें, इसलिए ट्रैफिक न रुके। उन्हें इस बात की खुशी है कि शादी में आए सभी मेहमानों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन किया।

दिया पॉवरफुल होने का सबूत
29 साल की एक इंटरप्रेन्योर संजना ऋषि ने दिल्ली के बिजनेसमैन ध्रुव महाजन से शादी की। वे दोनों अमेरिका में एक साल से साथ रह रहे थे। में उसने 20 सितंबर को दिल्ली में शादी की। संजना ने अपनी शादी में लहंगा या साड़ी के बजाय पाउडर ब्लू कलर का पैंटसूट पहना था। इसके साथ दुपट्ठटा ओढ़कर ने अपने लुक को कंप्लीट किया। वे इस डिफरेंट ब्राइडल ड्रेस से चर्चा में बने रहे और अपने पॉवरफुल होने का संदेश दिया।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments