Home देश की ख़बरें 2021 का पहला मिशन, इसरो ने अमेजन -1 को सफलतापूर्वक लॉन्च किया...

2021 का पहला मिशन, इसरो ने अमेजन -1 को सफलतापूर्वक लॉन्च किया जिसमें 18 उपग्रह शामिल थे


पीएसएलवी-सी 51 ने सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के पहले लॉन्च पैड से लगभग 10 बजकर 24 मिनट पर उड़ान भरी।

इन उपग्रहों में चेन्नई की स्पेस किड्ज़ इंडिया (एसकेआई) का उपग्रह भी शामिल है, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर उकेरी गई है।

श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश)। भारत के पीएसएलवी (ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपक) सी -51 के माध्यम से जेन के अमेजोनिया -1 (अमोनिया -1) और 18 अन्य उपग्रहों का रविवार को यहां श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से सफल प्रक्षेपण किया गया। यह इसरो का इस साल का पहला मिशन है।

पीएसएलवी-सी 51 ने सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के पहले लॉन्च पैड से लगभग 10 बजकर 24 मिनट पर उड़ान भरी और सबसे पहले लगभग 17 मिनट बाद प्राथमिक पेलोड अमेजोनिया -1 को कक्षा में स्थापित किया गया। लगभग डेढ़ घंटे के अंतराल के बाद अन्य उपग्रहों को 10 मिनट में एक के बाद एक द्वारा अंकित किया गया।

उपग्रह पर उकेरी गया है पीएम मोदी की तस्वीर
इन उपग्रहों में चेन्नई की स्पेस किड्ज़ इंडिया (एसकेआई) का उपग्रह भी शामिल है, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर उकेरी गई है। एसकेआई का सतीश धवन उपग्रह (एसडी-सैट) सुरक्षित डिजिटल कार्ड प्रारूप में भगवद्गीता को भी अपने साथ लेकर गया है।सकेआई ने कहा कि प्रधानमंत्री की आत्मनिर्भरता और अंतरिक्ष क्षेत्र के निजीकरण के लिए एकजुटता और आभार व्यक्त करने के लिए अंतरिक्ष यात्री के शीर्ष पैनल पर मोदी की तस्वीर उकेरी गई है।

19 उपसमूह को किया गया था

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के। सिवन ने मिशन के सफल होने की घोषणा की और बताया कि सभी 19 उपग्रहों को उनकी श्रेणियों में स्थापित किया गया है। उन्होंने कहा, ” आज का दिन पूरी तरह से इसरो टीम के लिए एक बड़ा दिन है और पीएसएलवी-सी 51 भारत के लिए एक बड़ा मिशन है। मैं अमेजोनिया -1 और 18 अन्य उपग्रहों को खरीदने से उनकी कक्षा में स्थापित करने को लेकर इसरो टीम को बधाई देना चाहता हूं और उनकी प्रशंसा करता हूं। ‘

इसरो की वाणिज्यिक इकाई न्यूडे इंडिया लिमिटिड (NSIL) के लिए भी यह विशेष दिन है। पीएसएलवी सी 51 / अमेजोनिया -1 एनएसआईएल का पहला समर्पित वाणिज्यिक मिशन है। इस मिशन को यहां स्थित नियंत्रण केंद्र से जेसन सरकार के अधिकारियों सहित अन्य लोगों ने देखा था।
37 किलोग्राम वजनी अमेजोनिया -1 जिम का पहला उपग्रह जिसे भारत से प्रक्षेपित किया गया है। यह राष्ट्रीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (आईएनपीईई) का निष्कर्षण पृथ्वी अवलोकन उपग्रह है। जिन अन्य 18 उपग्रहों को कक्षा में स्थापित किया गया है, उनमें से चार उपग्रह इसरो के भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र और 14 उपग्रह एनएसआईएल के हैं।

पीएम मोदी ने दी जेन के राष्ट्रपति को बधाई दी
जेन के अमाज़ोनिया -1 एयरलाइंस की सफल लॉन्चिंग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेस के राष्ट्रपति जेडर बोल्सनारो को जीत दी है।

पीएम मोदी ने कहा, ‘NSIL और इसरो को PSLV-C51 / Amazonia-1 मिशन के पहले कमर्शियल लॉन्च की सफलता पर ढेर कर दिया। यह मिशन देश में अंतरिक्ष सुधारों के एक नए युग की शुरुआत करेगा। 18 को -जेंजर्स में चार छोटे इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल थे, जो हमारे युवाओं की गतिशीलता और इनोवेशन का प्रदर्शन करते हैं ‘।

(डिस्क्लेमर: यह खबर सही सिंडीकेट ट्वीट से पब्लिश हुई है। इसे News18Hindi की टीम ने साझा नहीं किया है।)







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments