27 बांदा -17


dowery, banda news, हत्या, फेंकी गई महिला, पुलिस थाने पहुंची
– फोटो: बांदा

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* केवल ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनना

बांदा। जिसे ससुराल में मारकर नदी में शव फेंक दिया जाना बताया गया था, वह महिला तीन दिन बाद शनिवार को थाने पहुंच गई। पुलिस ने मायके वालों की तरफ से पति सहित ससुराल के छह लोगों पर दहेज हत्या की रिपोर्ट भी दर्ज कर ली थी। अब पुलिस के सामने पेंच फंस गया कि नदी में मिला शव किसका था।
जसपुरा थाना क्षेत्र के नांदादेव गांव के मथुरापुरी स्थित ससुराल से लालजी निषाद की पत्नी जय देवी (26) 19 फरवरी को लापता हो गई थी। अगले दिन बिड़ोला डेरा निवासी पिता रमेश निषाद ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
24 फरवरी को अमारा गांव के पास केन नदी में एक महिला का शव मिला। यह कुछ क्षत-विक्षत स्थिति में था। पुलिस ने शिनाख्त कराई तो पिता रमेश निषाद ने शव अपनी पुत्री जय देवी का बताया। अगले ही दिन पिता ने पति सहित सास, ससुर, जेठ, जेठानी, देवर इत्यादि छह लोगों को नामजद और दो अज्ञात के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई दी।
पोस्टमार्टम में मृत्यु की वजह गला घोटना को बताया गया। दुष्कर्म की आशंका के मद्देनजर स्लाइड भी बनाई गई। पुलिस दहेज हत्या की तफ्तीश कर ही रही थी कि 27 फरवरी को सुबह जय देवी सही सलामत गांव आ गई।
परिजन उसे थाने लेकर आए थे। पुलिस भी हैरत में पड़ गई है। जय देवी और उसके माता-पिता को लेकर मुख्यालय स्थित महिला थाने लाया गया है। यहाँ उससे पूछताछ की जा रही है। पूर्व में दर्ज हुई दहेज हत्या की रिपोर्ट की विवेचना क्षेत्राधिकारी सदर सत्य प्रकाश शर्मा कर रहे हैं, वही जय देवी पूछताछ करेंगे।
संलग्नी गुत्थी, आखिर नदी में मिला शव किसका था
जय देवी के जीवित अवस्था में वापस लौटने पर पुलिस अब इसमें उलझ गई है कि नदी में मिला शव आखिरकार व्हका था। जसपुरा थाना इंस्पेक्टर पंकज कुमार ने बताया कि अब नए सिरे से इसकी जांच की जाएगी।
जय देवी की पिता द्वारा दर्ज दहेज हत्या का मामला फिलहाल बंद रहेगा। बताया कि नदी से बरामद युवती के शव के बारे में पड़ोसी जनपदों की पुलिस से संपर्क किया गया है। गुमशुदा युवतियों की जानकारी मांगी गई है। यह भी बताया कि जय देवी कानपुर की तरफ से कहीं गई थी। वहाँ से लौटी है। उससे इंटर कर पूरा ब्योरा जुटाया जा रहा है।

बांदा। जिसे ससुराल में मारकर नदी में शव फेंक दिया जाना बताया गया था, वह महिला तीन दिन बाद शनिवार को थाने पहुंच गई। पुलिस ने मायके वालों की तरफ से पति सहित ससुराल के छह लोगों पर दहेज हत्या की रिपोर्ट भी दर्ज कर ली थी। अब पुलिस के सामने पेंच फंस गया कि नदी में मिला शव किसका था।

जसपुरा थाना क्षेत्र के नांदादेव गांव के मथुरापुरी स्थित ससुराल से लालजी निषाद की पत्नी जय देवी (26) 19 फरवरी को लापता हो गई थी। अगले दिन बिड़ोला डेरा निवासी पिता रमेश निषाद ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

24 फरवरी को अमारा गांव के पास केन नदी में एक महिला का शव मिला। यह कुछ क्षत-विक्षत स्थिति में था। पुलिस ने शिनाख्त कराई तो पिता रमेश निषाद ने शव अपनी पुत्री जय देवी का बताया। अगले ही दिन पिता ने पति सहित सास, ससुर, जेठ, जेठानी, देवर इत्यादि छह लोगों को नामजद और दो अज्ञात के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई दी।

पोस्टमार्टम में मृत्यु की वजह गला घोटना को बताया गया। दुष्कर्म की आशंका के मद्देनजर स्लाइड भी बनाई गई। पुलिस दहेज हत्या की तफ्तीश कर ही रही थी कि 27 फरवरी को सुबह जय देवी सही सलामत गांव आ गई।

परिजन उसे थाने लेकर आए थे। पुलिस भी हैरत में पड़ गई है। जय देवी और उसके माता-पिता को लेकर मुख्यालय स्थित महिला थाने लाया गया है। यहाँ उससे पूछताछ की जा रही है। पूर्व में दर्ज हुई दहेज हत्या की रिपोर्ट की विवेचना क्षेत्राधिकारी सदर प्रकाश प्रकाश शर्मा कर रहे हैं, वही जय देवी पूछताछ करेंगे।

संलग्नी गुत्थी, आखिर नदी में मिला शव किसका था

जय देवी के जीवित अवस्था में वापस लौटने पर पुलिस अब इसमें उलझ गई है कि नदी में मिला शव आखिरकार व्हका था। जसपुरा थाना इंस्पेक्टर पंकज कुमार ने बताया कि अब नए सिरे से इसकी जांच की जाएगी।

जय देवी की पिता द्वारा दर्ज दहेज हत्या का मामला फिलहाल बंद रहेगा। बताया कि नदी से बरामद युवती के शव के बारे में पड़ोसी जनपदों की पुलिस से संपर्क किया गया है। गुमशुदा युवतियों की जानकारी मांगी गई है। यह भी बताया कि जय देवी कानपुर की ओर से कहीं गई थी। वहाँ से लौटी है। उससे इंटर कर पूरा ब्योरा जुटाया जा रहा है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments