Home मध्य प्रदेश 5 अवैध कॉलोनाइजर पर एफआईआर: रेरा का पंजीकरण और न टाउन और...

5 अवैध कॉलोनाइजर पर एफआईआर: रेरा का पंजीकरण और न टाउन और कंट्री प्लानिंग से ली अनुमति, नपा का विकास शुल्क भी नहीं भरा और बासा दी अवैध कॉलोनी


विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सागरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

भू-माफिया मुक्त अभियान के तहत बीना में 5 कॉलोनाइजर पर एफआईआर दर्ज की गई है। इन पर लोगों को सर्व अस्वीकार्य कॉलोनी बसाने के सपने अवैध रूप से प्लॉट बेचने के आरोप लगे हैं। पांचों कॉलोनाइजर ने नगर पालिका की अनुमति के बिना कॉलोनी बसाई और सड़क, पानी, बिजली, पार्क की सुविधा के बिना लोगों के साथ फैंसी कर प्लॉट बेच दिया। सुविधाएं न मिलने से अब कॉलोनी में रहने वाले लोग परेशान हो रहे हैं। नगर पालिका की जांच प्रतिवेदन के आधार पर बीना पुलिस ने कॉलोनाइजर के खिलाफ धारा 420 व नगर पालिक एक्ट की धारा 399 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

इन पर दर्ज हुआ मामला

  • विनोद कुमार पिता कोमल चंद सिंघई निवासी पाठक वार्ड बीना
  • देवेंद्र सिंह पिता गुलाब सिंह ठाकुर निवासी बीना
  • मोहम्मद असगर पिता आसिफ कुरैशी निवासी शास्त्री वार्ड, बीना
  • अशोक पिता आसनदास मेठवानी निवासी गांधी वार्ड, बीना
  • एसआर सिंह पिता बीआर सिंह निवासी सागर

रेरा का पंजीयन व मूलभूत सुविधाएं तक नहीं मिलीं

नगर पालिका इंजीनियर विवेक ठाकुर ने बताया, इन कॉलोनाइजर के पास टाउन और कंट्री प्लानिंग की एनओसी नहीं मिली है। नगर पालिका से कॉलोनी बसाने की अनुमति नहीं ली और विकास शुल्क भी जमा नहीं किया। कॉलोनी बचाने के लिए उनके पास रेरा का पंजीयन भी नहीं था। कॉलोनी में पक्की सड़कें, नालियां, स्ट्रीट लाइट, पानी, पार्क और अन्य मूलभूत सुविधाएं भी नहीं मिलीं। कहीं भी प्लॉट काटकर लोगों को बिना सुविधाओं के ही बेच दिया जाए।

नगर पालिका आरआई प्रताप सिंह ने बताया कि सीएमओ रामधन राजौरिया से निर्देश मिलने के बाद अवैध कॉलोनियों की जांच की गई थी। पिछले एक महीने से जांच के बाद इंजीनियर द्वारा रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। फिर प्रतिवेदन बनाकर थाने में एफआईआर कराई गई है।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments