Home ब्लॉग 71% महिला वर्ग को पसंद तैयार घर: डेवलपर में खुलासा - पुरुषों...

71% महिला वर्ग को पसंद तैयार घर: डेवलपर में खुलासा – पुरुषों की तुलना में महिलाओं को ज्यादा पसंद रियल एस्टेट प्रॉपर्टी में निवेश


  • हिंदी समाचार
  • व्यापार
  • रियल एस्टेट निवेश में महिलाएं; यहाँ नवीनतम Anarock के नवीनतम उपभोक्ता वाक्य सर्वेक्षण है

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई3 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

महिला दिवस 8 मार्च को मनाया जाता है, लेकिन प्रॉपर्टी सलाहकार कंपनी एनरॉक के मुताबिक रियल एस्टेट में यह हर रोज मनाया जाता है। कंपनी के मुताबिक मौजूदा समय में महिलाएं घर खरीद में मुख्य भूमिका में हैं। हालिया सर्वेक्षण में एनरॉक ने पाया कि लगभग 71% महिलाएं तैयार खरीदना ज्यादा पसंद करती हैं। तैयार घर के लिए रुचि रखने वाले पुरुष और महिलाओं की कुल संख्या लगभग 29% रही।

वास्तविक वस्त्र इन महिलाओं के हित में बढ़े हैं

फरवरी में किया गया यह ईमेल ग्राहकों के सेंटिमेंट पर आधारित है। इसमें 3,900 लोगों को शामिल किया गया। इसमें 39% महिलाएं रहीं। खास बात यह है कि कोरोना पूर्व डेवलपर में रियल एस्टेट में निवेश पर 57% महिलाओं ने वोट किया, जबकि ताजा सर्वे में 62% हो सकता है। डेवलपर के मुताबिक ज्यादातर महिला घर निर्माता तैयार प्रॉपर्टी को प्राथमिकता दे रहे हैं, जो दर्शाता है कि वे अधूरे प्रॉपर्टी में निवेश से निवेश कर रहे हैं।

एनरॉक प्रॉपर्टी सलाहकार के रिसर्च हेड और डायरेक्टर प्रशांत ठाकुर ने कहा कि भारतीय महिलाएं अब फाइनेंशियल सिक्योरिटी के बजाय निवेश पोर्टफोलियो को विविध बना रही हैं। लगभग 62% महिलाओं ने रियल एस्टेट को प्राथमिकता दी, जबकि सर्वे में शामिल 54% पुरुषों ने शेयर बाजार, एफडी और गोल्ड में निवेश की इच्छा जताई।

BHK फॉर्मेट में प्रॉपर्टी खरीदना ज्यादा पसंद करते हैं

खास बात यह है कि लगभग 66% महिलाएं 90 लाख रुपये तक की प्रॉपर्टी में रुचि रखती हैं, जबकि 5% महिलाएं 2.5 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी में निवेश करने को तैयार हैं। रियल एस्टेट प्रॉपर्टी में ज्यादातर महिलाएं बेडरूम, किचन और हॉल (BHK) फॉर्मेट में खरीदारी करना पसंद करती हैं। इसमें लगभग 46% महिलाएं 3BHK, केवल 30% 2BHK और 10% 4BHK के लिए इंट्रोडेड बने रहे। सर्वे में शामिल 82% महिलाएं घर की खरीदारी का इस्तेमाल करती हैं और 18% निवेश के लिहाज से करती हैं, जबकि पुरुषों में यह रेशियो 68,32 है।

सरकारी योजनाओं से भी मिल को मदद मिल रही है

सरकार भी कई नीतियों के जरिए महिलाओं को घर की ओरनरशिप देने के प्रयास में है। इसके लिए 2015 में प्रधानमंत्री आवास योजना को लॉन्च किया गया था, जिसके तहत महिला को को-ओरण बनाना अनिवार्य है। इसके अलावा खरीदारी के समय महिलाओं को स्टैंप ड्यूटी को कम देने की व्यवस्था दी गई है। कई बैंक पुरुषों की तुलना में महिलायों को कम ब्याज दर पर लोन देते हैं। दोनों के बीच लगभग 0.25% का अंतर होता है। इसमें SBI, ICICI बैंक, HDFC बैंक और अन्य शामिल हैं।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments