Home कैरियर BACKSTORY: एक रिफ्यूजी की कहानी जो बना भारत का सबसे मशहूर मसाला...

BACKSTORY: एक रिफ्यूजी की कहानी जो बना भारत का सबसे मशहूर मसाला किंग, पढ़ें दिलचस्प स्टोरी


2019 में भारत सरकार ने गुलाटी को भारत के तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से सम्मानित किया था

धर्मपाल गुलाटी एक ऐसा नाम है जिसे हम दिन, हर समय याद कर सकते हैं. अपने जीवन में शून्य से शुरुआत कर शिखर पर पहुंचने वाले मसाला किंग का जीवन प्रेरणा का स्रोत है.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    February 27, 2021, 10:06 AM IST

नई दिल्ली. एक ऐसा ब्रांड, जो सालों से हमारे भोजन को स्वादिष्ट बना रहा है. यह ब्रांड भारत ही नहीं दुनियाभर के कई हिस्सों में बस रहे लाखों-करोड़ों लोगों के किचन पर राज कर रहा है. आप जब भी अपने किचन में जाते होंगे एक मसाला का पैकेट नजर आता होगा, जिसपर लाल पगड़ी में एक बूढ़े व्यक्ति की तस्वीर नजर आती हैं. जी हां! हम बात कर रहे हैं एमडीएच (MDH Masala) और इसके संस्थापक महाशय धर्मपाल गुलाटी (Mahashay Dharampal Gulati)की. धर्मपाल गुलाटी एक ऐसा नाम है जिसे हम दिन, हर समय याद कर सकते हैं. अपने जीवन में शून्य से शुरुआत कर शिखर पर पहुंचने वाले मसाला किंग का जीवन प्रेरणा का स्रोत है. इन्हें याद करने के लिए कोई विशेष दिन की जरूरत नहीं है. तो चलिए आज हम आपको ‘यादों के पिटारों’ से मशहूर कारोबारी महाशय धर्मपाल गुलाटी के बारे में बताते हैं-
छोटी सी दुकान से मशहूर ब्रांड बनने की कहानी…
दिल्ली में एक छोटी सी दुकान से ‘महाशय’ धर्मपाल गुलाटी ने एमडीएच को भारत के प्रमुख मसालों को ब्रांड का रूप दिया. उन्होंने 1953 में दिल्ली के मशहूर इलाके चांदनी चौक में एक दुकान किराए पर ली, जिसका नाम महाशियां दी हट्टी (एमडीएच) रखा. इस दुकान से उन्होंने मसाले बेचने शुरू किए. फिर एक मैन्युफैक्चरिंग यूनिट स्थापित करने के लिए उन्होंने कीर्ति नगर में जमीन खरीदी. वर्तमान में एमडीएच, जो लगभग 50 विभिन्न प्रकार के मसाले बनाती है, की देश भर में 15 फैक्ट्रियां हैं और ये दुनिया भर में अपने उत्पाद बेचती हैं. आज, MDH कारखानों में मशीनें एक ही दिन में 30 टन से अधिक मसालों का उत्पादन कर सकती हैं.

ये भी पढ़ें – PPF में करें निवेश, टैक्स छूट के साथ मिलेगा ज्यादा ब्याज, जानें अन्य शानदार फायदे..सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले शख्स
बाद में पूरे देश में उनके मसाले, चावल और कपड़ा समेत कई तरह के प्रोडक्ट बेचे जाने लगे. MDH मसालों को देश ही नहीं विदेश में भी निर्यात किया जाता है. साल 2017 में मसाला किंग सबसे ज्यादा सैलरी पाने वाले कंज्यूमर गुड्स प्रोडक्ट कंपनी के सीईओ थे. महाशय धर्मपाल गुलाटी 2020 में आईआईएफएल हुरुन इंडिया रिच लिस्ट में शामिल भारत के सबसे बुजुर्ग अमीर शख्स थे. 1500 रुपये से शुरू होने वाले MDH की दौलत आज के वक्त में करीब 5400 करोड़ से भी ज्यादा है. 2019 में भारत सरकार ने गुलाटी को भारत के तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से सम्मानित किया था.

90 प्रतिशत वेतन दान में दे दिए थे
गुलाटी ने महाशय चुन्नी लाल चैरिटेबल ट्रस्ट को अपने वेतन का लगभग 90 फीसदी दान में दिया. ये ट्रस्ट दिल्ली में 250 बेड के अस्पताल के साथ-साथ झुग्गियों में रहने वालों के लिए चार स्कूलों और एक मोबाइल अस्पताल संचालित करता है. अप्रैल 2020 में उन्होंने COVID-19 से लड़ने वाले स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को 7,500 पीपीई किट दान किए. घर्मपाल गुलाटी को कुछ चीजों का खास शौक था. वे कबूतरबाजी, पहलवानी और पतंग उड़ाना पसंद था. वे पंजाबी खानों के शौकीन थे. वह दुनिया की सबसे महंगी कारों के भी शौकीन थे और उनके कार कलेक्शन कई लग्जरी गाड़ियां मौजूद हैं. उनके कलेक्शन में 7 करोड़ कीमत की रॉल्स रायस घोस्ट (Rolls-Royce Ghost) कार है. इसके अलावा क्रिसलर 300 (Chrysler 300C Limousine), मर्सडीज बेंज (Mercedes-Benz M-Class ML 500), टोयोटा इनोवा क्रिस्टा जैसी मशहूर महंगी गाड़ियां हैं. इसके अलावा हांडा और टोयोटा समेत कई ब्रांड की गाड़ियां उनके कार कलेक्शन में हैं.

ये भी पढ़ें – अच्छी खबर: अगर आप चेक-इन बैग के बिना हवाई सफर करते हैं तो मिलेगा सस्ता टिकट, जानिए DGCA ने क्या कहा?

3 दिसंबर 2020 को 97 वर्ष की आयु में हुआ निधन
पाकिस्तान में हुआ था जन्म ‘महाशय’ के नाम से मशहूर गुलाटी का जन्म 1919 में सियालकोट में हुआ था. ये शहर आज पाकिस्तान के हिस्से वाली पंजाब में है. वहां उनके पिता ने एक छोटी सी दुकान शुरू की थी. मगर 1947 में बंटवारे के बाद उनका परिवार भारत आ गया.उनके परिवार ने दिल्ली का रुख किया. हालांकि दिल्ली आने से पहले वे कुछ समय अमृतसर के रिफ्यूजी कैंप में भी रहे थे.गुलाटी यहां तांगा चलाया करते थे. धर्मपाल की मृत्यु 3 दिसंबर, 2020 को 97 वर्ष की आयु में हो गई.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments