Home देश की ख़बरें COVID-19 टीकाकरण: कोरोना वैक्सीन के लिए आपको क्या करना होगा, कौन-कौन से...

COVID-19 टीकाकरण: कोरोना वैक्सीन के लिए आपको क्या करना होगा, कौन-कौन से कागज की जरूरत होगी


देश में वैक्सीनेशन का दूसरा चरण एक मार्च से शुरू होगा (सांकेतिक चित्र)

स्वास्थ्य मंत्रालय (स्वास्थ्य मंत्रालय) से मिली जानकारी के अनुसार ‘शनिवार और रविवार (27 और 28 फरवरी) को’ को-विन ‘डिजिटल मंच को’ को-विन 1.0 ‘से’ को-विन 2.0 ‘में तब्दील किया जाएगा। इसके मद्देनजर इन दो दिनों के दौरान को विभाजित -19 टीकाकरण (कोविद टीकाकरण) सत्र का आयोजन नहीं किया जाएगा। सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पहले ही इस बदलाव के बारे में चिह्नित किया जा चुका है। ‘

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:27 फरवरी, 2021, 7:12 AM IST

नई दिल्ली। भारत में सोमवार से कोरोना वैक्सीनेशन (COVID-19 टीकाकरण) का दूसरा चरण शुरू होना है। इस चरण में 10 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाए जाने का लक्ष्य रखा गया है। 1 मार्च से 10,000 सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों और 12,000 निजी केंद्रों में वैक्सीनेशन शुरू होगा। अगले दो दिनों में स्वास्थ्य कर्मचारियों और अन्य कर्मचारियों को वैक्सीन लगाने के लिए प्रशिक्षण देने का काम करना होगा।

‘को-विन’ सॉफ्टवेयर कोरोनावायरस रोधी संपूर्णचेनीकरण अभियान को सही ढंग से अंजाम देने के लिए तैयार किया गया है। स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाने के लिए 16 जनवरी को राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुरुआत की थी।

स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक ‘इस शनिवार और रविवार (27 और 28 फरवरी) को’ को-विन ‘डिजिटल मंच को’ को-विन 1.0 ‘से’ को-विन 2.0 ‘में तब्दील किया जाएगा। इसके मद्देनजर इन दो दिनों के दौरान को विभाजित -19 टीकाकरण सत्र का आयोजन नहीं किया जाएगा। सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पहले ही इस बदलाव के बारे में चिह्नित किया जा चुका है। ‘

60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन होगा60 साल से अधिक उम्र और पहले से ही किसी बीमारी से पीड़ित 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को एक मार्च से कोविड -19 की वैक्सीन दी जाएगी। 45 वर्ष से अधिक उम्र के संक्रमण के प्रति संवेदनशील बीमारियों से ग्रसित लोगों को भी इस चरण में टीकाकरण के लिए शामिल किया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पहले ही इस बदलाव के बारे में सूचित किया जा चुका है।

वैक्सीनेशन के लिए कोविन 2.0 पोर्टल पर करना पंजीकरण होगा
-वैक्सीनेशन की चाहत रखने वाले लोगों को पहले से ही कोविन ऐप में पंजीकरण करवाना होगा। यह पंजीकरण स्वयं भी किया जा सकता है।
-कोविन -2.0 पोर्टल को अपने फोन पर सीधे ही डाउनलोड कर खुद ही पंजीकरण किया जा सकता है या फिर आरोग्य सेतु के माध्यम से भी पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा किया जा सकता है।
-पोर्टल से आपको आसपास के सभी को विभाजित केंद्र की जानकारी और वहाँ पर होने वैक्सीनेशन का समय और तारीख आपको पता चल जाएगा।
-अपनी समीक्षा के अनुसार आप चाहें तो किसी एक केंद्र को चुनेंकर वैक्सीनेशन के लिए अपवांटमेंट ले सकते हैं।
-रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया बेहद सरल रखी गई है। अपने मोबाइल पर डाउनलोड किए गए पोर्टल पर आवश्यक जानकारी देने के बाद एक ओटीपी जाएगा। ओ बफर डालते ही खाता बन जाएगा।
-ओ परिवार का सदस्य भी आपका पंजीकरण अपने मोबाइल पर कर सकता है।
-विन प्लेटफॉर्म में जीपीएस सिस्टम की सुविधा भी होगी।
-एक मोबाइल ऐप में चार व्यक्तियों का पंजीकरण किया जा सकता है। आरोग्यसेतु ऐप में पंजीकरण के लिए वन टाइम पासवर्ड का इस्तेमाल किया जाएगा।

मोबाइल नहीं तो सीधे पहुंचे केंद्र पर
-जिनके पास मोबाइल नहीं हैं उनके लिए 2.5 लाख कॉमन सर्विस सेंटर खोले गए हैं।
-अगर किसी भी व्यक्ति मोबाइल पर खुद को रजिस्टर नहीं कर पा रहे तो वह सही भी जरूरी डाक्यूमेंट्स के साथ वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंच सकता है। 60 वर्ष के व्यक्ति के लिए डाक्यूमेंट के तौर पर आधार कार्ड, पैन कार्ड, लिविंग एप्लीकेशनेंसे, पास लुक।
-45 साल के व्यक्ति को बीमारी का सर्टिफिकेट भी लाना होगा।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments