Home ब्लॉग DHFL को RBI से मिला NOC: रेजोल्यूशन प्लान दाखिल करने के लिए...

DHFL को RBI से मिला NOC: रेजोल्यूशन प्लान दाखिल करने के लिए NCLT में किया गया आवेदन, पीरामल ग्रुप ने दिया है 37,250 करोड़ रु। का ऑफर


  • हिंदी समाचार
  • व्यापार
  • डीएचएफएल रिज़ॉल्यूशन: सह आरबीआई से अनापत्ति प्राप्त होती है, एनसीएलटी के साथ फाइल एप्लीकेशन

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली19 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • RBI ने बीते सप्ताह दी थी रेजोल्यूशन प्लान को मंजूरी
  • एनसीएलटी की मुंबई बेंच में चल रही दिवालिया प्रक्रिया है

दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL) की बिक्री के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (NOC) दे दिया है। दिवालिया प्रक्रिया के दौरान डीएचएफएल को खरीदने के लिए पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस 37,250 करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया है। पिछले हफ्ते ही RBI ने इस ऑफर को मंजूरी दी थी।

एनसीएलटी के पास आवेदन किया है

डीएचएफएल ने रेगुलेटरी फाइलिंग में कहा है कि आरबीआई की ओर से एनओसी मिलने के बाद कंपनी ने रेजोलुशन प्लान जमा करने के लिए नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के पास आवेदन कर दिया है। इस रेजोल्यूशन प्लान को डीएचएफएल की कमेटी ऑफ क्रेडिटर्स (सीओसी) ने मंजूरी दे दी है।

एनसीएलटी की मुंबई बेंच में चल रही दिवालिया प्रक्रिया है

नवंबर 2019 में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इंसोल्वेंसी एंड बैंकरप्सी (IBC) कोड के तहत DHFL को दिवालिया घोषित करने के लिए आवेदन किया था। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) की मुंबई बेंच में डीएचएफएल की दिवालिया प्रक्रिया चल रही है। कंपनी के बोर्ड को स्पष्ट करके आर। सुब्रमण्यकुमार को अनुबंधित नियुक्त किया गया है। DHFL पहली फाइनेंस कंपनी है जिसके खिलाफ RBI ने विशेष शक्ति का इस्तेमाल करके दिवालिया प्रक्रिया के लिए आवेदन किया है।

डीएचएफएल ने लगभग 83 हजार करोड़ रुपये का कर्ज लिया

जुलाई 2019 तक डीएचएफएल पर 83,873 करोड़ रुपये का कर्ज था। इसमें बैंक, नेशनल हाउसिंग बोर्ड, म्यूचुअल फंड और बॉन्डहोल्डर्स का पैसा शामिल है। DHFL पर सबसे ज्यादा कर्ज स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) का है। एन दृश्य रिपोर्ट के मुताबिक, मार्च 2020 तक डीएचएफएल के पास 79,800 करोड़ रुपए के असेट्स थे। इसमें से 50,227 करोड़ रुपये या कुल पोर्टफोलियो का 63% हिस्सा नॉन-परफॉर्मिंग असेट्स (एनपीए) घोषित किया गया है।

तीसरी तिमाही में 13,095 करोड़ रुपये का नेट लॉस

इस महीने की शुरुआत में जारी किए गए तिमाही नतीजों में डीएचएफएल को दिसंबर तिमाही में 13,095.38 करोड़ रुपये का नेट लॉस हुआ है। एक साल पहले समान अवधि में कंपनी को 934.31 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (सितंबर) तिमाही में डीएचएफएल को 2,122.65 करोड़ रुपये का शुद्ध लॉस हुआ था।

खबरें और भी हैं …





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments