Home कैरियर Economic Survey 21: अंतरिक्ष में निजी कंपनियों की एंट्री से पहली बार...

Economic Survey 21: अंतरिक्ष में निजी कंपनियों की एंट्री से पहली बार भारत टॉप 50 इनोवेटिव देशों में शामिल


सरकार द्वारा फंडेड 40 से अधिक स्टार्टअप्स (Startups) स्पेस सेक्टर में काम कर रहे हैं.

आर्थिक सर्वे की रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में स्पेस सेक्टर में प्राइवेट कंपनियों को इनोवेशन के लिए प्रेरित करने के लिए वित्तीय सहायता की जरूरत है.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 29, 2021, 7:53 PM IST

नई दिल्ली. संसद में शुक्रवार को पेश किए गए आर्थिक सर्वे में पहली बार अंतरिक्ष (Space) में निजी कंपनियों की वजह से आए सुधार की तस्वीर रखी गई है. सर्वे के मुताबिक केंद्र सरकार ने स्पेस सेक्टर के लिए बहुत से रिफॉर्म किए. खासकर इस सेक्टर में निजी एजेंसियों को एंट्री देने से भारत दुनिया के टॉप 50 इनोवेटिव देशों की सूची में शामिल हाे गया है.
इकोनॉमिक सर्वे में कहा गया है कि प्राइवेट कंपनियों को स्पेस सेक्टर में एंट्री देने के फैसले के कारण देश में स्पेस टेक्नोलॉजी को लेकर एक इको-सिस्सटम तैयार हुआ है. प्राइवेट कंपनियां भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो (ISRO) की अगुवाई और देखरेख में काम कर रही हैं. अभी देश में 40 से अधिक स्पेस गवर्मेंट फंडेड Startups हैं और आने वाले वर्षों में इनकी संख्या और बढ़ने की उम्मीद है. आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने जून 2020 में स्पेस सेक्टर को प्राइवेट कंपनियों के लिए खोल दिया था और इंडियन नेशनल स्पेस प्रमोशन एंड अथॉराइजेशन सेंटर (IN-SPACe) की स्थापना की थी. इसका काम स्पेस सेक्टर में निवेश और एंट्री के लिए कंपनियों के प्रोत्साहित करना है.

सेंट्रल और साउथ एशिया में इनोवेशन के मामले में पहले पायदान पर पहुंच गया

भारत ने 2007 में ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्‍स की शुरुआत के बाद से 2020 में पहली बार टॉप 50 इनोवेटिव कंट्री (Innovating Country) के क्लब में प्रवेश किया. जबकि, सेंट्रल और साउथ एशिया में इनोवेशन के मामले में भारत पहले पायदान पर पहुंच गया. मिडिल इनकम वाले देशों में भारत का तीसरा स्थान है. इसमें कहा गया है कि भारत को दुनिया के टॉप-10 देशों में शामिल होने की महत्वाकांक्षा रखनी चाहिए. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में प्राइवेट कंपनियों को इनोवेशन के लिए प्रेरित करने के लिए वित्तीय सहायता की जरूरत है. दो साल बाद देश में चलेंगी प्राइवेट ट्रेन

सर्वे में बताया गया है कि देश में प्राइवेट ट्रेनें वर्ष 2023-24 से चलनी शुरू हो जाएंगी। इसके लिए बोली प्रक्रिया इसी साल मई 2021 में पूरी होने की संभावना है. सर्वे में देश की हवाई सेवाओं की जल्द बहाली की उम्मीद भी जताई है. इसके मुताबिक वर्ष 2021 की शुरूआत मेें हवाई सेवाओं का स्तर कोविड-19 महामारी के पहले के बराबर पहुंच जाएगा.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments