Home कैरियर IIST से पढ़कर बनें अंतरिक्ष वैज्ञानिक

IIST से पढ़कर बनें अंतरिक्ष वैज्ञानिक


इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी (आईआईएसटी) अपने बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए 22 मई से आवेदन प्रक्रिया शुरू करेगा. अंतरिक्ष विज्ञान और तकनीक की पढ़ाई के लिए प्रसिद्ध इस संस्थान में प्रवेश के इच्छुक अभ्यर्थी 7 जुलाई तक दाखिले के लिए आवेदन कर सकते हैं. यह संस्थान तीन विषयों में बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (बीटेक) पाठ्यक्रम संचालित करता है. ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि पांच जून है.

उपलब्ध पाठ्यक्रम

बीटेक (एरोस्पेस इंजीनियरिंग), सीट : 60

बीटेक (इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन), सीट : 60बीटेक (5 वर्षीय ड्यूएल डिग्री), सीट : 20

योग्यता

किसी भी मान्यता प्राप्त स्कूल शिक्षा बोर्ड से न्यूनतम 75 फीसदी अंकों और विज्ञान विषयों के साथ बारहवीं या समकक्ष परीक्षा पास होना चाहिए.

फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स में अंकों का औसत न्यूनतम 75 प्रतिशत होना चाहिए. यह औसत एससी, एसटी और शारीरिक रूप से अशक्त आवेदकों के लिए न्यूनतम 65 फीसदी है.

विद्यार्थी जेईई मेन-2019 में सफल हो और वह आईआईटी द्वारा आयोजित होने वाले जेईई (एडवांस्ड) में शामिल होने योग्य हो.

जेईई (एडवांस्ड) में इतने अंक होने चाहिए  

सामान्य वर्ग: फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स में औसत 20 प्रतिशत और प्रत्येक विषय में अलग-अलग न्यूनतम 5 फीसदी अंक होने चाहिए.

ओबीसी (नॉन क्रीमीलेयर): तीनों विषयों (पीसीएम) में कम से कम 18 फीसदी औसत अंक और हर विषय में न्यूनतम साढ़े चार प्रतिशत अंक (अलग-अलग) होना चाहिए.

एससी, एसटी और शारीरिक रूप से अशक्त: न्यूनतम 10 प्रतिशत औसत अंक तीनों विषयों (पीसीएम) में होना चाहिए और प्रत्येक विषय में अलग-अलग ढाई फीसदी अंकों का होना जरूरी है.

आयु सीमा: सामान्य और ओबीसी वर्ग के आवेदकों का जन्म 01 अक्टूबर 1994 को या उसके बाद होना चाहिए. इसी तरह एससी, एसटी और शारीरिक रूप से अशक्त आवेदकों का जन्म 01 अक्टूबर 1989 को या उसके बाद होना चाहिए.

चयन प्रक्रिया

जेईई (मेन) के लिए जारी की जाने वाली ऑल इंडिया रैंक लिस्ट के आधार पर ही आईआईएसटी भी दाखिले के लिए रैंक लिस्ट जारी करेगा. रैंक लिस्ट में जेईई (मेन) के अंकों को 60 फीसदी और बारहवीं के अंकों को 40 फीसदी वेटेज दी जाएगी.

अधिक जानकारी के लिए संस्थान की आधिकारिक वेबसाइट www.admission.iist.ac.in  पर विजिट करें.

ये भी पढ़ें – 

    • सुप्रीम कोर्ट ने हटाई रोक, झारखंड में नियुक्त किए जाएंगे 1118 सहायक प्रोफेसर





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments