Home कैरियर NEET 2020 J&K टॉपर बिलाल: स्लो इंटरनेट स्पीड के कारण नहीं चल...

NEET 2020 J&K टॉपर बिलाल: स्लो इंटरनेट स्पीड के कारण नहीं चल पा रहा था वीडियो ट्यूटोरियल्स, इसलिए डेवलप करवाया 2जी स्पीड पर चलने वाला ऐप, ऑनलाइन पढ़ाई कर परीक्षा में हासिल किए 99.98%


  • Hindi News
  • Career
  • Meet Basit Bilal Khan Of Pulwama Who Became The Topper In Jammu Kashmir Despite Of Slow Internet Speed, Score 99.98 Percent By Studying Online In 2G Speed

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

3 महीने पहले

  • कॉपी लिंक

पुलवामा के रत्नीपोरा गांव के रहने वाले 18 वर्षीय बासित बिलाल खान ने शुक्रवार को जारी हुए नीट 2020 के रिजल्ट में 99.98 प्रतिशत हासिल कर जम्मू- कश्मीर से टॉप किया है। घाटी में लंबे समय से इंटरनेट कनेक्टिविटी की दिक्कतों के बावजूद बिलाल ने परीक्षा में 720 में से 695 अंक हासिल किए। बिलाल बताते हैं कि इस परीक्षा के लिए उन्होंने काफी मेहनत की। लगातार इंटरनेट आउटेज और स्लो नेटवर्क स्पीड की वजह से कई बार परेशानी भी हुई। उन्होंने इस सफलता के लिए भगवान का शुक्रिया भी अदा किया।

प्राइवेट स्टडी सेंटर से की तैयारी

अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता और टीचर को देते हुए बिलाल ने कहा कि सभी ने मुझे काफी सपोर्ट किया। मुझे एक ट्रैक दिखाते हुए मेरा मार्गदर्शन किया, जिससे मैं इस कामयाबी को हासिल कर पाया। पुलवामा जिले में आतंकवादी विरोधी अभियानों की वजह से अक्सर मोबाइल इंटरनेट सुविधा निलंबित रहती है। वहीं, केंद्र की तरफ से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से ही यहां इंटरनेट स्पीड 2G तक ही सीमित है। ऐसे में बिलाल ने एक प्राइवेट स्टडी सेंटर में अपनी परीक्षा की तैयारी की।

स्लो नेटवर्क स्पीड के लिए बनवाया ऐप

बिलाल ने बताया की उनके टीचर ने पढ़ाई के लिए वीडियो ट्यूटोरियल्स तैयार किए थे। लेकिन स्लो इंटरनेट स्पीड पर उन्हें एक्सेस करना काफी मुश्किल था। ऐसे में उन्होंने एक ऐप डेवलपर से संपर्क किया, जिसने एक ऐसा ऐप विकसित किया जो स्लो नेटवर्क स्पीड पर भी काम करता है। इस ऐप की मदद से टीचर्स ने सभी स्टूडेंट्स से नियमित रूप से संवाद कर उनके साथ स्टडी मैटेरियल शेयर किया।

सुविधाएं मिलने पर मिल सकते थे फुल मार्क्स

बिलाल की कामयाबी पर उनके टीचर ने कहा की ऑल इंडिया टॉपर शोएब आफताब और बिलाल के मार्क्स में बहुत ही छोटा सा अंतर है। यदि बिलाल को भी अनुकूल परिस्थितियां और सुविधाएं मिलती तो वह भी यकीनन फुल मार्क्स हासिल करता। परीक्षा में भाग लेने के इच्छुक कैंडिडेट को समय बर्बाद ना करने की सलाह देते हुए बिलाल ने ज्यादा से ज्यादा अभ्यास करने को कहा, ताकि बाद में कोई पछतावा ना हो।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments