Home देश की ख़बरें UP News: अखिलेश यादव का बड़ा आरोप, बोले- योगी सरकार ने चौपट...

UP News: अखिलेश यादव का बड़ा आरोप, बोले- योगी सरकार ने चौपट की स्वयं की सेवायें, भुखमरी की कगार पर यू.पी.


बीमार स्वास्थ्य सेवाओं में उत्तर प्रदेश नम्बर एक: अखिलेश यादव

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (अखिलेश यादव) ने योगी सरकार पर राज्य की स्वयंसथलीय सेवाओं को चौपट करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की आयुष्मान योजना के लाभार्थी अस्पतालों में टरका जाते हैं, गरीब की कहीं पूछ नहीं होती है। इसके अलावा प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्रों का बड़ा शोर था, अब ये जगह-जगह बंद हैं।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:28 फरवरी, 2021, 10:58 बजे IST

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अधिवक्ता और पूर्व प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (अखिलेश यादव) ने भारतीय जनता पार्टी की राज्य सरकार (भाजपा सरकार) पर स्वास्तथ सेवाओं को चौपट करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बुनियादी मुद्दों पर भटकाने में भाजपा सरकार का कोई जवाब नहीं। है। उन्हें दावा किया गया, ‘नीति आयोग की रिपोर्ट में बीमार स्वास्थ्य सेवाओं में उत्तर प्रदेश नम्बर एक है। चार साल की भाजपा सरकार में अनतर प्रदेश का स्वास्थ्य इंडेक्स स्कोर (स्वास्थ्य सूचकांक स्कोर) 5.08 प्वाइंट गिरकर 28.61 प्वाइंट पर आ गया है और भुखमरी में भी भाजपा राज में अशर प्रदेश नम्बर एक पर गिना जाने लगा है। ‘

पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि खुद केंद्र सरकार के संस्थान प्रदेश की भाजपा सरकार को हर मोर्चे पर विफल होने का तमगा दे रहे हैं, लेकिन मुख्यमंत्री हैं कि अपनी प्रशंसा खुद ही करने लगते हैं और जाने कहां से कौन प्रशस्ति पत्र ले आते हैं। वास्तविकता यह है कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार के समय स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के जो कदम उठाए गए थे, रागद्वेष से भरी भाजपा सरकार ने उन्हें भी चौपट कर दिया है।

अखिलेश यादव ने कही यह बात
इसके अलावा अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि दूसरों की नकल को अपनी अकल बताकर भाजपा नेतृत्व वाली सरकार को बरगलाने में ही अपनी सफलता का एहसास है, लेकिन जनता सब जानती है, उसे बहकाया नहीं जा सकता है। उन्हें उन्होंने कहा कि सच तो यह है कि भाजपा सरकार की आयुष्मान योजना के लाभार्थी अस्पतालों में टरकाए जाते हैं, गरीब की कहीं पूछ नहीं होती है, प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्रों का बड़ा शोर था, अब ये जगह-जगह बंद पड़े हैं। जहां दवाइयों की कमी है वहां खुले हैं। अस्पतालों में डॉक्टरों और पैरा मेडिकल स्टाफ की भारी कमी है। उनकी भर्ती रुकी हुई है। भाजपा सरकार रोजगार के झूठे आंकड़े और आश्वासन देती है। भाजपा राज में न मेडिकल कालाज खुला, नहीं एम्स बने.यादव ने कहा कि भाजपा कोरोना कांग्रेस के नियंत्रण में अपने काम का लेखा-जोखा पेश करते हुए खुद को ही शाबासी देट्स है, लेकिन यह कौन भूलेगा कि कोरोना लोगों के साथ क्या तरह का दुर्व्यवहार किया गया। पीड़ितों से मनमनी की रकम वसूली गई। आज भी भाजपा सरकार इस विपत्ति से बचाव के नाम पर टीका लगाने के लिए फीस तय कर रही है।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments