Home देश की ख़बरें UP News: गोंडा के BSA इंद्रजीत प्रजापति सहित 4 निलंबित, अवैध वसूली...

UP News: गोंडा के BSA इंद्रजीत प्रजापति सहित 4 निलंबित, अवैध वसूली का आरोप


गोंडा के बीएसए इंद्रजीत प्रजापति सहित 4 निलंबित (फाइल फोटो)

बता दें कि बेसिक शिक्षा विभाग ने जनवरी में जिले के विभिन्न स्कूलों में 1085 शिक्षकों (शिक्षकों) का अंतरजनपदीय तबादला किया था।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:26 फरवरी, 2021, 6:32 AM IST

गोंडा। उत्तर प्रदेश (उत्तर प्रदेश) की योगी सरकार (योगी सरकार) के अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है। इसी क्रम में यूपी सरकार ने गुरुवार देर शाम गोंडा (गोंडा) के बीएसए (बीएसए) इंद्रजीत प्रजापति सहित 4 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है। बेसिक शिक्षा विभाग में हुए अंतरजनपदीय तबादले के बाद शिक्षकों को कार्य मुक्त करने के नाम पर अवैध वसूली का मामला सामने आया था। वहाँ स्वेटर खरीद के मामले में भी शिकायत के खिलाफ शिकायत हुई थी। जिसके बाद डीएम ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी की भूमिका संदिग्ध मानते हुए जांच की थी। जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद शासन ने बीएए पर कार्रवाई की है।

बता दें कि बेसिक शिक्षा विभाग ने जनवरी में जिले के विभिन्न स्कूलों में 1085 शिक्षकों का अंतरजनपदीय तबादला किया था। इन शिक्षकों को संबंधित जिलों के लिए कार्य मुक्त करने का आदेश शासन ने बीते दिनों दिया था। एक फरवरी से शिक्षकों को कार्य मुक्त करने की क्रिया शुरू हो गया। इसमें वजीरगंज बीआरसी पर शिक्षकों से वसूली का पर्चा वायरल हुआ था। इसके अलावा बीएसए कार्यालय पर रिलीविंग में अनियमितता की गई थी।

सीएम योगी बोले- तेज हो माफियाओं को नेस्तनाबूद करने की कार्रवाई, सुस्तीशील नहीं

डीएम मार्कण्डेय शाही को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डाॅ। इंद्रजीत प्रजापति के कार्यालय में तैनात अधीनस्थों के माध्यम से पैसे लेने की शिकायत इंटरनेट मीडिया के जरिए दी गई थी। इसमें बीएसए के अलावा उनके कार्यालय में तैनात कनिष्ठ लिपिक जनमेजय सिंह, आशुलिपिक दिनेश वर्मा के साथ ही कुछ शिक्षकों की भूमिका संदिग्ध मानते हुए डीएम ने एडीएम की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति को जांच सौंपी थी। इसकी रिपोर्ट शासन को भेजी गई थी। इसके बाद बीपीए को निलंबित कर दिया गया।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments